Covid-19 Vaccination

Vaccination

Overview

Coronavirus disease (COVID-19) is a newly found coronavirus that causes an infectious disease. Coronaviruses (CoV) are a broad family of viruses that can cause illnesses ranging from the common cold to more serious illnesses like Middle East Respiratory Syndrome (MERS-CoV) and Severe Acute Respiratory Syndrome (SARS) (SARS-CoV). A novel coronavirus (nCoV) is a new strain of coronavirus that has never been seen in humans before.

Coronaviruses are zoonotic, meaning they can spread from animals to humans. SARS-CoV was transmitted from civet cats to humans, and MERS-CoV was transmitted from dromedary camels to people, according to detailed examinations. Several coronaviruses that have not yet infected people are circulating in animals.

Respiratory symptoms, fever, cough, shortness of breath, and breathing difficulties are all common markers of infection. Infection can lead to pneumonia, severe acute respiratory syndrome, kidney failure, and even death in the most severe cases.

The majority of patients infected with the COVID-19 virus will have mild to moderate respiratory symptoms and will recover without needing any specific therapy. People over the age of 65, as well as those with underlying medical conditions such as cardiovascular disease, diabetes, chronic respiratory disease, and cancer, are at a higher risk of developing serious illness.

Regular hand washing, covering mouth and nose while coughing or sneezing, and properly cooking meat and eggs are all standard suggestions for preventing infection spread. Avoid close contact with anyone who is coughing or sneezing and has respiratory symptoms.
Being thoroughly informed on the COVID-19 virus, the disease it produces, and how it transmits is the greatest strategy to avoid and slow down transmission. Wash your hands frequently or use an alcohol-based rub to protect yourself and others from infection, and avoid touching your face.

When an infected individual coughs or sneezes, the COVID-19 virus transmits predominantly through droplets of saliva or discharge from the nose, therefore respiratory etiquette is particularly vital (for example, by coughing into a flexed elbow).

What is Vaccination?

Vaccination is a straightforward, safe, and efficient technique to protect people from dangerous diseases before they become infected. It strengthens your immune system by utilising your body's own defences to create resistance to specific pathogens.

Vaccines teach your immune system to make antibodies in the same way that it does when you're exposed to a disease. Vaccines, on the other hand, do not cause disease or put you at danger of complications because they only include killed or weakened forms of pathogens like viruses or bacteria.

The majority of vaccines are administered via injection, however others are administered orally (by mouth) or via nasal spray.

Importance of vaccination

Covid Vaccination Awareness

Vaccination, more than ever, is a safe and efficient strategy to prevent disease and save lives. At least 20 illnesses, including diphtheria, tetanus, pertussis, influenza, and measles, are now protected by immunizations. Every year, these vaccines help to save the lives of up to 3 million people.

We aren't simply protecting ourselves when we get vaccinated; we are also protecting people around us. Some patients, such as the terminally sick, are advised not to obtain certain vaccines, so they rely on the rest of us to get vaccinated and help prevent disease from spreading.

Vaccination is still extremely crucial during the COVID-19 epidemic. Because of the pandemic, fewer children are getting routine vaccines, which could lead to an increase in illness and mortality from preventable diseases. Despite the obstacles created by COVID-19, WHO has advised nations to continue providing important vaccinations and health services.

How does vaccine work?

How Covid Vaccination works

Vaccines interact with your body's natural defences to create protection, lowering your risk of contracting a disease. Your immune system reacts when you receive a vaccine. It:
The invading germ, such as a virus or bacteria, is recognised.
Antibodies are produced. Antibodies are proteins that the immune system produces spontaneously to fight disease.

Recalls the illness and how to combat it. If you are later exposed to the germ, your immune system will quickly destroy it, preventing you from becoming ill.

As a result, the vaccination is a creative and safe technique to induce an immune response in the body without producing illness.

Our immune systems are programmed to recall information. We are usually protected against a disease for years, decades, or even a lifetime after receiving one or more doses of a vaccination. Vaccines are extremely effective because of this. Vaccines, rather than treating a disease after it has developed, prevent us from being sick in the first place.

How does vaccine protect individual and community as a whole?
Vaccines work by teaching and preparing the immune system, the body's natural defences, to recognise and fight viruses and germs. If the body is later exposed to those disease-causing microorganisms, it will be able to promptly eradicate them, preventing illness.
When a person is immunised against a disease, their risk of infection is reduced, making them less likely to spread the virus or bacteria to others. As more people in a community are vaccinated, fewer people are left exposed, and the risk of an infected individual spreading the virus to others is reduced. Lowering the risk of a pathogen spreading in the population protects those who are unable to be vaccinated (due to health issues such as allergies or advanced age) from the disease targeted by the vaccine.

'Herd immunity,' also known as 'population immunity,' is the indirect protection from an infectious disease that occurs when a population gains immunity through vaccination or previous infection. Herd immunity does not imply that people who have not been vaccinated or who have never been sick are immune. Individuals who are not immune but live in a community with a high number of immune persons have a lower risk of disease than non-immune individuals living in a community with a low proportion of immune individuals.
Non-immune people in communities with high immunity have a lower risk of disease than they would otherwise, but this is due to the immunity of people in the community in which they live (herd immunity), not because they are personally immune. If vaccination coverage continues to rise, even after herd immunity is achieved and a reduced risk of disease among unimmunized people is recognised, the risk of disease will continue to diminish. When vaccine coverage is high, the risk of disease among non-immune people can become comparable to that of those who are truly immune.

Many vaccines are in development and several are in the early stages of deployment for COVID-19, a new illness that is causing a global pandemic, after demonstrating safety and efficacy against disease. It is unknown what percentage of the population needs be vaccinated against COVID-19 in order to begin establishing herd immunity. This is an important field of study, and the results will likely differ depending on the community, the vaccine, the populations targeted for immunisation, and other factors.

What type of Covid 19 vaccines are there?

Many possible COVID-19 vaccines are being developed by scientists all around the world. These vaccines are all designed to train the body's immune system how to recognise and block the virus that causes COVID-19 in a safe and effective manner.
Several types of possible COVID-19 vaccines are being developed, including:
1. Virus vaccines that use a form of the virus that has been inactivated or weakened so that it does not cause disease but still triggers an immune response.
2. Protein-based vaccines, which safely produce an immune response by using innocuous protein fragments or protein shells that resemble the COVID-19 virus.
3. Vaccines based on viral vectors, which use a non-pathogenic virus as a platform for producing coronavirus proteins and eliciting an immune response.
4. RNA and DNA vaccines are a cutting-edge method that generates a protein from genetically modified RNA or DNA, which then safely triggers an immune response.

Benefits of taking Covid-19 vaccine

Vaccination

COVID vaccines have become the need of the hour, and there is no way forward without them, given the fact that COVID cases continue to climb in and throughout the world, and while the young and elderly are trying to keep themselves safe from the fatal virus.
The second wave of coronavirus has not only affected the most vulnerable, but it has also had an impact on the health of the younger generation. While you may not feel compelled to get vaccinated since you're young and healthy, the group of people most vulnerable to the virus can only be protected through mass immunisation.
As a result of building an immune response to the SARS-Cov-2 virus, the COVID-19 vaccinations provide protection against the sickness.
1. Immunity can be developed through vaccination, which reduces the likelihood of getting the illness and its repercussions.
2. If you are exposed to the virus, this immunity will aid you in fighting it.
3. Getting vaccinated may help safeguard those around you, as you are less likely to infect others if you are protected from infection and disease.
4. This is especially critical for persons who are at a higher risk of COVID-19-related severe illness, such as healthcare practitioners, the elderly, and persons with other medical issues.

The procedure for registering for vaccinations

Vaccine availability in India is the ray of hope at the end of the tunnel. You might be interested in learning more about the various vaccines available. As you prepare to register for the vaccine, here are a few things to keep in mind.
Learn the following facts: Two pharmaceutical companies have entered the Indian market with vaccinations. ‘Covishield' was introduced by the Serum Institute of India, and ‘Covaxin' was introduced by Bharat Biotech. Sputnik V, a foreign brand, was just approved for use in India. For further information consult your family doctor about vaccinations.
Eligibility for the vaccine: Anyone over the age of 18 can get vaccinated starting May 1, 2021, according to India's existing immunisation status.
Vaccination registration: It is necessary to register for the vaccine. You can register online at https://www.cowin.gov.in/home or through the Arogya Setu app. Here are the basic steps to get started:
1. Enter your information using your mobile number and a valid photo ID, such as your Aadhar card.
2. To be vaccinated, choose a vaccine centre.
3. Schedule your immunisation appointment and confirm your time slot.
The date, time, and name of the immunisation centre will be sent to your registered mobile phone.

Before getting vaccinated, keep these tips in mind

Here are some basic and helpful hints once you've enrolled and received your immunisation appointment:
1. The vaccine should not be taken on an empty stomach. As you prepare for your immunisation, eat healthily. Include leafy greens, which are high in antioxidants and can aid to increase immunity.
2. Stay hydrated by drinking plenty of water.
3. At night, have a decent, restful night's sleep. A good night's sleep has been scientifically demonstrated to help increase immunity.
4. You may continue to take over-the-counter aspirin or pain relievers if you do so consistently. If you wish to avoid vaccine adverse effects, don't take these medications before getting the vaccine.
5. Excessive alcohol consumption can dehydrate you.
6. Inform your coworkers of your absence and schedule your responsibilities accordingly so that you are not distracted from your work when visiting the immunisation centre.
7. Prepare to receive any vaccine that is available at the moment at the centre. Keep in mind that all vaccines have been shown to be safe and effective.
8. To make getting the injection on your arm easier, wear a sleeveless or short-sleeved blouse or dress.
9. If you experience any Covid-like symptoms, you should cancel your visit. After 14 days of suffering such symptoms, you can rebook. This is something you should discuss with your doctor.
Coming up is precautions after vaccination

Can one stop taking precautions after vaccination?

COVID-19 vaccination protects you from becoming extremely ill and dying. You do not have significant amounts of protection for the first fourteen days after receiving a vaccination, but this steadily improves. Immunity to a single dose vaccine usually develops two weeks following inoculation. Both doses of a two-dose vaccine are required to get the highest level of protection.
While the COVID-19 vaccine protects you against major disease and death, we don't know how well it prevents you from becoming infected and spreading the virus to others. Maintain a 1-metre distance from others, cover a cough or sneeze in your elbow, wash your hands frequently, and wear a mask, especially in confined, busy, or poorly ventilated environments, to help keep people safe. Always follow local authorities' advice based on the situation and risk in your area.
Precautions after vaccination and before vaccination
1. Before taking the COVID-19 vaccine, what should you eat?
Eat a full, healthful meal the day before your immunisation appointment that isn't too oily or spicy. The night before your immunisation, the doctor recommends eating a full meal such as a wrap, veggies and paratha, quinoa and curry, vegetable and rice, or warm zoodles. Eat a light dinner and get plenty of rest. Eat a healthy breakfast such as a dosa, upma, or poha that is rich with vegetables. Include milk and fruits in your diet, and avoid caffeine if at all possible.

2. Maintain a high level of hydration
A minimum of three litres of water per day is required prior to and on the day of the immunisation. Fresh coconut water, dal, wheat porridge, soup, and even water-rich fruits like watermelon and muskmelon can provide this. Muscles shrink after a jab, but keeping a healthy water intake will counteract this impact.

3. Your first meal after becoming vaccinated
Avoid eating food that hasn't been prepared using authentic ingredients. Instant meals, such as noodles, package pasta, and processed cheeses, as well as raw foods, are off-limits. Make certain that all of your food is completely cooked. Protein (dal, meat, or paneer), iron and vitamins (cooked veggies), and carbohydrates make up a good first meal (roti and rice). Cooked food is preferable to raw food since raw food might awaken dormant diseases, which should be avoided during this period of immune building.

4. For the following few days, start your day off right
In the coming days, it will be critical to take care of your body through diet. Start your day with a high-fiber breakfast. Oats, muesli with milk, peanut butter-banana milkshake, vegetarian paratha, upma with loads of veggies, chillas, millet dosa, steamed dhokla, or kothambir vadi are all good satisfying breakfast alternatives, according to the doctor. Fresh fruit juices are also good sources of natural Vitamin C.

5. Make Indian superfoods your go-to
If you're looking to boost your immunity at this period, turmeric is the way to go.
A kadha can also be made by boiling cloves, cinnamon sticks, whole pepper, and turmeric in water. Strain it and consume it in little amounts two to three times a day. Onions and garlic, as well as spinach, are proven immune enhancers. Aside from that, consume a lot of whole grains, such as dalia, or millets, such as sanwa, ragi, or rajgira, which can assist you overcome any weakness you may have.

7. Stay away from spicy foods
After the initial dose, some people have reported experiencing reflux, and spicy foods are known to increase acidity. Drinking kadha prepared with entire spices, on the other hand, is acceptable. When too many masalas or spices are combined with oil, digestion becomes difficult and nausea increases. So stay away from that.

8. Other health precautions to take
Because your immune system isn't at its best for two weeks, it's critical to be extra cautious during this period. Maintain an eight-hour sleep cycle, take afternoon naps if possible, eat every two hours, limit screen time, and practise breathing exercises. Aside from that, if your doctor recommends it, take zinc and vitamin C pills. Avoid carrying heavy weights with the same hand that was vaccinated, and drink plenty of warm water.

Steps to take after vaccination

Vaccination

Precautions after vaccination
Many people believe that getting vaccinated will protect them against Covid and that they are immune to the virus. As a result, people go about their business without donning a mask or taking additional Covid precautions. There are two vaccination doses, and after two injections, one is entirely immune. As a result, there are several measures you should take after receiving the injection.
Getting vaccinated does not guarantee that you will not contract Coronavirus. It basically means that even if a person acquires the virus, he or she will not become dangerously ill. Furthermore, there's a chance you'll pass the infection on to people who haven't been vaccinated. Masking is necessary in public spaces and elsewhere. While the COVID vaccine may provide some protection against the virus, it is still possible to get it, which is why health professionals and authorities have urged the public to continue taking steps that will keep everyone safe. Having said that, there are a few things you should do and follow even after you've received the vaccine.
1. Stay for the purpose of observation. To ensure you don't have any immediate responses, the health care practitioner should monitor you for around 15 minutes after the vaccine is given. You'll be monitored for immediate allergies at the immunisation clinic once you get the shot. Only when you've been fully monitored will you be permitted to depart. Severe health reactions, on the other hand, are quite rare.
2. Even after vaccination, you must avoid crowded areas and keep a 6-foot space from other people. Also, remember to keep excellent hand hygiene and wash your hands on a regular basis. Frequently touched objects, such as doorknobs, kitchen countertops, and handles, should be disinfected. Cough and sneeze etiquette must also be observed.
3. If you have Covid symptoms after getting vaccinated, see a doctor right away rather than rejecting them.
4. For a few days following the immunisation, you may have headaches, fever, chills, weariness, hand pain, or Covid arm as side effects. Take your medicines as directed by your doctor and get some rest. To relieve pain, keep a clean moist towel over the affected region. Stay hydrated by drinking plenty of water. If the hand's redness, soreness, or swelling worsens, see a doctor.
5. You'll also need to keep in touch with your family doctor and update him on your health on a daily basis.
6. After having the jab, don't do anything rigorous for at least 3-4 days. It is preferable to abstain from drinking and smoking for a few days. This isn't to say that you shouldn't get vaccinated.

Do not take a photo with your immunisation card and share it on social media.
Although you should be pleased of your COVID-19 vaccination, flaunting your vaccine card may entice criminals to steal your personal information.
Save your vaccine card - either online or on paper.
You may need to show your provider the timestamp on your immunisation card when you require the second shot. Additionally, at some point in the future, public locations and modes of transportation (including aircraft) may begin to require COVID-19 immunisation documentation.
Other vaccines should not be administered at the same time as this one.
Wait 14 days before obtaining your COVID-19 vaccine if you have another routine immunisation scheduled. Because we don't yet know how COVID-1 operates, these recommendations are in place.

Local precautions at the injection location
1. After the injection, wipe the region and cover it with a clean, cool, moist washcloth.
2. Move your arm and exercise it.
3. Those on blood thinners should apply mild pressure to reduce bruising.
4. If you have prolonged pain, you can take paracetamol or ibuprofen unless your doctor advises otherwise.
5. The discomfort and swelling will go gone in a few days, but if you're concerned, consult your doctor.
6. Mild generalised reactions may feel like the flu and may interfere with everyday activities, but they will pass in a few days.
7. The inflammation that is occurring in your body is causing these negative effects. The vaccine causes your body to react and fight the mimicked infection. These signs indicate that your body is developing a strong immunological response. Before getting the vaccine, don't take any medications for the vaccination's side effects, and only take them if you have symptoms (you may keep aspirin, paracetamol, ibuprofen or antihistamines at home if you want).
8. Be sure to stay hydrated.
9. Immunity-boosting meals are suggested to help with a quick recovery. Foods with a high water content and anti-inflammatory effects are recommended.

Along with the immunisation, there are precautions for drinking
1. While there is no evidence that alcohol inhibits antibody development, abstaining from alcohol for at least 48 hours before and after the immunisation is advised. This is a general warning that applies to all vaccines. However, it's for a different reason that you should limit your alcohol intake in the days following your vaccination. It has the potential to worsen your underlying morbidity.
2. After receiving the vaccine, some people may suffer flu-like symptoms, which may be made worse by alcohol. It's also conceivable that hangover symptoms be mistaken for vaccine side effects.

While you wait for your second shot, take precautions
1. It takes time for your body to develop immunity following a vaccination. COVID-19 vaccinations that require two doses may not provide protection until a week or two after the second dose.
2. Make sure your current medical condition is under control.
3. Use all distancing, hygiene, and masking methods until real-life data is analysed.

The second dose is given in a separate town or city
Confirm that the change of address and the type of vaccine delivered as the first dose have been registered. Check to see if the vaccine you're getting is the same as the one you got the first time.

After your second dose of vaccination, take these precautions
You are able to associate with other fully vaccinated friends if you have been vaccinated. If you haven't been vaccinated, though, you should continue to wear masks. Make a vaccination bubble.
After vaccination, take precautions against exposure. If you come into contact with a family member who has confirmed or suspected COVID-19, you do not need to isolate yourself if you:
1. are fully vaccinated (i.e., two weeks after receiving the second dose in a two-dose regimen).
2. are within 3 months of the series' final dose.
3. Individuals have shown no signs or symptoms since being exposed to COVID-19.
4. These requirements may vary from state to state and over time.

Conclusion

Keep in mind that the vaccine is just a poke. While getting injected, try to overcome your worry and anxiousness. Collect your immunisation certificate or obtain it from the Co-Win website. Do your part as responsible citizens and get vaccinated when the time comes.

Even if you've had both doses of the Covid-19 vaccination, it's still a good idea to remain cautious, especially in public areas. It's important to remember that vaccination does not guarantee complete immunity. So, for self-protection and to avoid viral transmission, keep wearing masks and following basic hygiene measures. Follow the instructions for both doses and encourage others to get vaccinated. Keep yourself safe and powerful!

Related topics:

1.What is self-care & importance of self-care

Self-care means doing activities that makes us feel good and releases stress. Along with other day to day activites, self-care is also important for the body as well as the soul. To know more visit: What is self-care & importance of self-care

2. Yoga for self-care

Yoga is one of the most essential componet of self-care. It makes you feel good about yourself and has a positive impact on your physical as well as mental health. To know more visit: Yoga for self-care

3. Benefits of self-care

There are several benefits of self care such as improved productivity, improved immune system, enhanced self-knowledge and self- compassion.The main benefit is that it brings happiness to your life. To know more visit: Benefits of self-care

4. How to start a self-care routine

As many people face difficulty in starting a self-care routine, it is better to start including small self-care practices such as meditaion, yoga or excercise in your daily routine. To know more visit: How to start a self-care routine

5. How to manage stress

Self-care is an important tool that helps us to feel healthy and happy and reduces stress even in the most stressful conditions. Self-care relaxes out body and soul as it reduces the negative feelings and anxeity.To know more visit: How to manage stress




The above essentials are available with AFD SHIELD.
AFD Shield capsule is a combination of 12 natural ingredients among which are Algal DHA, Ashwagandha, Curcumin and Spirullina. AFD Shield reduces TG, increases HDL and improves age related cognitive decline. It also reduces stress and anxiety and performs anti-aging activity.Moreover, it also enhances the immunomodulatory activity, improves immunity and reduces inflammation and oxidative stress. Nutralogicx: AFD SHIELD

कोविड टीकाकरण के बाद देखभाल

Vaccination

अवलोकन

कोरोनावायरस रोग (COVID-19) एक नए पाया कोरोनावायरस है कि एक संक्रामक रोग का कारण बनता है । कोरोनावायरस(CoV)वायरस का एक व्यापक परिवार है जो आम सर्दी से लेकर मध्य पूर्व श्वसन सिंड्रोम (मर्स-सीओवी) और गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम (सार्स-सीओवी)जैसी अधिकगंभीर बीमारियों के लिए बीमारियों का कारण बन सकता है। एक नॉवल कोरोनावायरस(nCoV)कोरोनावायरस का एक नया तनाव है जो मनुष्यों में पहले कभी नहीं देखा गया है।
कोरोनावायरस ज़ूनोटिक हैं, जिसका अर्थ है कि वे जानवरों से मनुष्यों में फैल सकते हैं। सार्स-CoV सिवेट बिल्लियों से मनुष्यों के लिए प्रेषित किया गया था, और मर्स-CoV dromedary ऊंटों से लोगों को प्रेषित किया गया था, विस्तृत परीक्षाओं के अनुसार । कई कोरोनावायरस जो अभी तक संक्रमित लोगों को नहीं किया है जानवरों में घूम रहे हैं ।
श्वसन के लक्षण, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ, और सांस लेने में दिक्कतें संक्रमण के सभी सामान्य मार्कर हैं। संक्रमण निमोनिया, गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम, गुर्दे की विफलता, और यहां तक कि सबसे गंभीर मामलों में मौत का कारण बन सकता है।
COVID-19 वायरस से संक्रमित रोगियों के बहुमत हल्के से मध्यम श्वसन लक्षण होगा और किसी भी विशिष्ट चिकित्सा की जरूरत के बिना ठीक हो जाएगा । ६५ की उम्र से अधिक लोगों के साथ-साथ हृदय रोग, मधुमेह, पुरानी श्वसन रोग और कैंसर जैसी अंतर्निहित चिकित्सा स्थितियों वाले लोगों को गंभीर बीमारी विकसित होने का खतरा अधिक होता है ।
नियमित रूप से हाथ धोने, खांसने या छींकने के दौरान मुंह और नाक को कवर करना, और मांस और अंडे को ठीक से पकाना संक्रमण फैलने से रोकने के लिए सभी मानक सुझाव हैं। खांसने या छींकने वाले किसी भी व्यक्ति के साथ निकट संपर्क से बचें और श्वसन लक्षण हैं।
COVID-19 वायरस पर अच्छी तरह से सूचित किया जा रहा है, यह रोग पैदा करता है, और यह कैसे पहुंचाता है सबसे बड़ी रणनीति से बचने के लिए और नीचे संचरण धीमा है । अपने हाथों को बार-बार धोएं या अपने और दूसरों को संक्रमण से बचाने के लिए अल्कोहल आधारित रगड़ का उपयोग करें, और अपने चेहरे को छूने से बचें।
जब एक संक्रमित व्यक्तिगत खांसी या छींक, COVID-19 वायरस मुख्य रूप से लार की बूंदों या नाक से निर्वहन के माध्यम से पहुंचाता है, इसलिए श्वसन शिष्टाचार विशेष रूप से महत्वपूर्ण है (उदाहरण के लिए, एक फ्लेक्स कोहनी में खांसी से) ।

टीकाकरण क्या है?

टीकाकरण लोगों को संक्रमित होने से पहले खतरनाक बीमारियों से बचाने के लिए एक सीधी, सुरक्षित और कुशल तकनीक है। यह विशिष्ट रोगजनकों के लिए प्रतिरोध बनाने के लिए अपने शरीर की अपनी सुरक्षा का उपयोग करके आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है।
टीके अपने प्रतिरक्षा प्रणाली सिखाने के लिए एक ही रास्ता है कि यह करता है जब आप एक बीमारी के संपर्क में है में एंटीबॉडी बनाने के लिए । टीके, दूसरी ओर, रोग पैदा नहीं करते हैं या आपको जटिलताओं के खतरे में डाल देते हैं क्योंकि उनमें केवल वायरस या बैक्टीरिया जैसे रोगजनकों के मारे गए या कमजोर रूप शामिल हैं।

टीकों के बहुमत इंजेक्शन के माध्यम से प्रशासित कर रहे हैं, लेकिन दूसरों को मौखिक रूप से प्रशासित कर रहे है (मुंह से) या नाक स्प्रे के माध्यम से ।

टीकाकरण का महत्व
टीकाकरण, पहले से कहीं ज्यादा, बीमारी को रोकने और जान बचाने के लिए एक सुरक्षित और कुशल रणनीति है । डिप्थीरिया, टिटनेस, पर्टुसिस, इन्फ्लूएंजा और खसरा सहित कम से कम 20 बीमारियों को अब टीकाकरण द्वारा संरक्षित किया जाता है। हर साल ये टीके 3 लाख लोगों की जान बचाने में मदद करते हैं।
जब हम टीका लगवाते हैं तो हम केवल अपनी रक्षा नहीं कर रहे हैं; हम अपने आस-पास के लोगों की भी रक्षा कर रहे हैं । कुछ रोगियों, जैसे मरणासन्न बीमार, कुछ टीके प्राप्त नहीं करने की सलाह दी जाती है, तो वे हम में से बाकी पर भरोसा करने के लिए टीका लगाया और रोग को फैलने से रोकने में मदद ।
COVID-19 महामारी के दौरान टीकाकरण अभी भी बेहद महत्वपूर्ण है । महामारी के कारण, कम बच्चों को नियमित टीके मिल रहे हैं, जिससे रोके जा सकने वाली बीमारियों से बीमारी और मृत्यु दर में वृद्धि हो सकती है । COVID-19 द्वारा बनाई गई बाधाओं के बावजूद, डब्ल्यूएचओ ने राष्ट्रों को महत्वपूर्ण टीकाकरण और स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना जारी रखने की सलाह दी है ।

Vaccination

टीका कैसे काम करता है?
टीके सुरक्षा बनाने के लिए अपने शरीर की प्राकृतिक सुरक्षा के साथ बातचीत करते हैं, जिससे किसी बीमारी के अनुबंध के आपके जोखिम को कम किया जा सकता है। जब आपको टीका मिलता है तो आपका प्रतिरक्षा प्रणाली प्रतिक्रिया करती है। यह:
हमलावर रोगाणु, जैसे वायरस या बैक्टीरिया, मान्यता प्राप्त है।
एंटीबॉडी का उत्पादन किया जाता है। एंटीबॉडी प्रोटीन हैं जो प्रतिरक्षा प्रणाली रोग से लड़ने के लिए अनायास पैदा करती है।
बीमारी को याद करते हैं और इसका मुकाबला कैसे करें। यदि आप बाद में रोगाणु के संपर्क में आते हैं, तो आपका प्रतिरक्षा प्रणाली इसे जल्दी नष्ट कर देगी, जिससे आपको बीमार होने से रोका जा सकेगा।
नतीजतन, टीकाकरण बीमारी का उत्पादन किए बिना शरीर में प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को प्रेरित करने के लिए एक रचनात्मक और सुरक्षित तकनीक है।
हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली जानकारी को याद करने के लिए प्रोग्राम कर रहे हैं । हम आम तौर पर एक टीकाकरण की एक या अधिक खुराक प्राप्त करने के बाद साल, दशकों, या यहां तक कि एक जीवन भर के लिए एक बीमारी के खिलाफ संरक्षित कर रहे हैं । इस वजह से टीके बेहद प्रभावी होते हैं। टीके, बजाय एक बीमारी के इलाज के बाद यह विकसित किया है, हमें पहली जगह में बीमार होने से रोकने के ।

Vaccination

टीका एक पूरे के रूप में व्यक्तिगत और समुदाय की रक्षा कैसे करता है?
टीके वायरस और कीटाणुओं को पहचानने और लड़ने के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली, शरीर की प्राकृतिक सुरक्षा को पढ़ाने और तैयार करके काम करते हैं । अगर बाद में शरीर उन बीमारी पैदा करने वाले सूक्ष्मजीवों के संपर्क में आ जाए तो वह बीमारी से बचाव करते हुए उन्हें तुरंत खत्म कर सकेगा।
जब किसी व्यक्ति को किसी बीमारी के खिलाफ प्रतिरक्षित किया जाता है, तो उनके संक्रमण का खतरा कम हो जाता है, जिससे उन्हें वायरस या बैक्टीरिया दूसरों में फैलने की संभावना कम हो जाती है। के रूप में एक समुदाय में अधिक लोगों को टीका लगाया जाता है, कम लोगों को उजागर छोड़ दिया जाता है, और एक संक्रमित व्यक्ति दूसरों को वायरस फैलने का खतरा कम हो जाता है । जनसंख्या में फैलने वाले रोगजनक के जोखिम को कम करना उन लोगों की रक्षा करता है जो टीका लगाने में असमर्थ हैं (एलर्जी या उन्नत आयु जैसे स्वास्थ्य मुद्दों के कारण) वैक्सीन द्वारा लक्षित बीमारी से।
' झुंड प्रतिरक्षा, ' भी ' जनसंख्या प्रतिरक्षा के रूप में जाना जाता है, ' एक संक्रामक रोग है कि जब एक जनसंख्या टीकाकरण या पिछले संक्रमण के माध्यम से प्रतिरक्षा लाभ से अप्रत्यक्ष संरक्षण है । झुंड प्रतिरक्षा का मतलब यह नहीं है कि जिन लोगों को टीका नहीं लगाया गया है या जो कभी बीमार नहीं हुए हैं, वे प्रतिरक्षा हैं। जो व्यक्ति प्रतिरक्षा नहीं हैं, लेकिन प्रतिरक्षा व्यक्तियों की एक उच्च संख्या के साथ एक समुदाय में रहते हैं, उनमें प्रतिरक्षा व्यक्तियों के कम अनुपात वाले समुदाय में रहने वाले गैर-प्रतिरक्षा व्यक्तियों की तुलना में बीमारी का खतरा कम होता है।
उच्च प्रतिरक्षा वाले समुदायों में गैर-प्रतिरक्षा लोगों को अन्यथा की तुलना में रोग का कम जोखिम होता है, लेकिन यह उस समुदाय में लोगों की प्रतिरक्षा के कारण होता है जिसमें वे रहते हैं (झुंड प्रतिरक्षा), इसलिए नहीं कि वे व्यक्तिगत रूप से प्रतिरक्षा हैं। यदि टीकाकरण कवरेज में वृद्धि जारी रहती है, तो झुंड प्रतिरक्षा प्राप्त होने के बाद भी और असमुरक्षित लोगों के बीच बीमारी के कम जोखिम को पहचाना जाता है, तो बीमारी का खतरा कम होता रहेगा । जब वैक्सीन कवरेज अधिक है, गैर प्रतिरक्षा लोगों के बीच रोग का खतरा है कि जो लोग वास्तव में प्रतिरक्षा कर रहे है की तुलना में हो सकता है ।
कई टीके विकास में हैं और कई COVID-19, एक नई बीमारी है कि एक वैश्विक महामारी पैदा कर रहा है के लिए तैनाती के प्रारंभिक दौर में हैं, सुरक्षा और रोग के खिलाफ प्रभावकारिता का प्रदर्शन करने के बाद । यह अज्ञात है कि झुंड प्रतिरक्षा की स्थापना शुरू करने के लिए COVID-19 के खिलाफ जनसंख्या का कितना प्रतिशत टीका लगाया जाना चाहिए । यह अध्ययन का एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है, और परिणाम की संभावना समुदाय, टीका, प्रतिरक्षण के लिए लक्षित आबादी, और अंय कारकों के आधार पर अलग होगा ।

किस प्रकार के कोविद 19 टीके हैं?

दुनिया भर के वैज्ञानिकों द्वारा कई संभावित COVID-19 टीके विकसित किए जा रहे हैं । ये सभी टीके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रशिक्षित करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं कि कोविड-19 को सुरक्षित और प्रभावी तरीके से उत्पन्न करने वाले वायरस को कैसे पहचाना और अवरुद्ध किया जाए।
कई प्रकार के संभावित COVID-19 टीके विकसित किए जा रहे हैं, जिनमें शामिल हैं:
1. वायरस टीके जो वायरस के एक रूप का उपयोग करते हैं जो निष्क्रिय या कमजोर हो गए हैं ताकि यह बीमारी का कारण न बन जाए लेकिन फिर भी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को ट्रिगर करता है।
2. प्रोटीन आधारित टीके, जो सुरक्षित रूप से अहानिकर प्रोटीन के टुकड़े या प्रोटीन के गोले का उपयोग करके प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का उत्पादन करते हैं जो COVID-19 वायरस के समान होते हैं।
3. वायरल वैक्टर पर आधारित टीके, जो कोरोनावायरस प्रोटीन के उत्पादन और प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए एक मंच के रूप में एक गैर-रोगजनक वायरस का उपयोग करते हैं।
4. आरएनए और डीएनए टीके एक अत्याधुनिक विधि है जो आनुवंशिक रूप से संशोधित आरएनए या डीएनए से प्रोटीन उत्पन्न करती है, जो तब सुरक्षित रूप से प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को ट्रिगर करती है।

कोविद-19 टीके लेने के लाभ

Vaccination

COVID टीके समय की जरूरत बन गए हैं, और उनके बिना कोई रास्ता नहीं है, तथ्य यह है कि COVID मामलों में और दुनिया भर में चढ़ाई जारी है, और जबकि युवा और बुजुर्ग खुद को घातक वायरस से सुरक्षित रखने की कोशिश कर रहे हैं ।

कोरोनावायरस की दूसरी लहर ने न केवल सबसे कमजोर को प्रभावित किया है, बल्कि इसका असर युवा पीढ़ी के स्वास्थ्य पर भी पड़ा है । जब आप युवा और स्वस्थ होने के बाद से टीका लगवाने के लिए मजबूर महसूस नहीं कर सकते हैं, तो वायरस के प्रति सबसे अधिक असुरक्षित लोगों के समूह को केवल बड़े पैमाने पर प्रतिरक्षण के माध्यम से संरक्षित किया जा सकता है ।
br>सार्स-Cov-2 वायरस के लिए एक प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया के निर्माण का एक परिणाम के रूप में, COVID-19 टीकाकरण बीमारी के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करते हैं ।
1. टीकाकरण के माध्यम से प्रतिरक्षा विकसित की जा सकती है, जिससे बीमारी और उसके दुष्परिणामों की संभावना कम हो जाता है।
2. यदि आप वायरस के संपर्क में हैं, तो यह प्रतिरक्षा आपको इससे लड़ने में सहायता करेगी।
3. टीका लगवाने से आपके आस-पास के लोगों की सुरक्षा में मदद मिल सकती है, क्योंकि यदि आप संक्रमण और बीमारी से सुरक्षित हैं तो आप दूसरों को संक्रमित करने की संभावना कम कर सकते हैं।
4. यह उन व्यक्तियों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है जो COVID-19 से संबंधित गंभीर बीमारी के उच्च जोखिम में हैं, जैसे स्वास्थ्य चिकित्सकों, बुजुर्गों, और अन्य चिकित्सा मुद्दों वाले व्यक्तियों।

टीकाकरण के लिए पंजीकरण के लिए प्रक्रिया

भारत में वैक्सीन की उपलब्धता सुरंग के अंत में आशा की किरण है । आप उपलब्ध विभिन्न टीकों के बारे में अधिक सीखने में रुचि हो सकती है। जैसा कि आप वैक्सीन के लिए पंजीकरण करने के लिए तैयार करते हैं, यहां कुछ बातों को ध्यान में रखने के लिए कर रहे हैं ।
निम्नलिखित तथ्य जानें: दो दवा कंपनियों ने टीकाकरण के साथ भारतीय बाजार में प्रवेश किया है। 'कॉवाइल्ड'की शुरुआत सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने की थी और 'कॉवेक्सिन'की शुरुआतभारत बायोटेक ने की थी। स्पुतनिक वी, एक विदेशी ब्रांड, सिर्फ भारत में उपयोग के लिए मंजूरी दे दी थी । अधिक जानकारी के लिए टीकाकरण के बारे में अपने परिवार के डॉक्टर से परामर्श करें।
टीके के लिए पात्रता: भारत की मौजूदा प्रतिरक्षण स्थिति के अनुसार, 18 से अधिक आयु के किसी भी व्यक्ति को 1 मई, २०२१ से टीका लगाया जा सकता है ।
टीकाकरण पंजीकरण: वैक्सीन के लिए पंजीकरण करना आवश्यक है। आप https://www.cowin.gov.in/home पर या आरोग्य सेतु एप के माध्यम से ऑनलाइन पंजीकरण करा सकते हैं। यहां शुरू करने के लिए बुनियादी कदम हैं:
1. अपने मोबाइल नंबर और एक वैध फोटो आईडी, जैसे अपने आधार कार्ड का उपयोग करके अपनी जानकारी दर्ज करें।
2. टीका लगवाने के लिए टीका केंद्र का चयन करें।
3. अपनी प्रतिरक्षण अपॉइंटमेंट शेड्यूल करें और अपने टाइम स्लॉट की पुष्टि करें।
प्रतिरक्षण केंद्र की तारीख, समय और नाम आपके पंजीकृत मोबाइल फोन पर भेजा जाएगा।

टीका लगवाने से पहले इन टिप्स का ध्यान रखें।

एक बार नामांकित होने और अपनी प्रतिरक्षण नियुक्ति प्राप्त करने के बाद यहां कुछ बुनियादी और उपयोगी संकेत दिए गए हैं:
1. टीका खाली पेट नहीं लेना चाहिए। जैसे ही आप अपने प्रतिरक्षण की तैयारी करते हैं, स्वस्थ भोजन करें। पत्तेदार साग शामिल करें, जो एंटीऑक्सीडेंट में उच्च हैं और प्रतिरक्षा बढ़ाने में सहायता कर सकते हैं।
2. खूब पानी पीने से हाइड्रेटेड रहें।
3. रात में, एक सभ्य, आरामदायक रात की नींद है। एक अच्छी रात की नींद वैज्ञानिक रूप से प्रतिरक्षा बढ़ाने में मदद करने के लिए प्रदर्शन किया गया है ।
4. यदि आप लगातार ऐसा करते हैं तो आप ओवर-द-काउंटर एस्पिरिन या दर्द रिलीवर लेना जारी रख सकते हैं। अगर आप वैक्सीन प्रतिकूल प्रभावों से बचना चाहते हैं तो वैक्सीन मिलने से पहले ये दवाएं न लें।
5. अत्यधिक शराब का सेवन आपको निर्जलित कर सकता है।
6. अपने सहकर्मियों को अपनी अनुपस्थिति के बारे में सूचित करें और तदनुसार अपनी जिम्मेदारियों को निर्धारित करें ताकि प्रतिरक्षण केंद्र पर जाते समय आप अपने काम से विचलित न हों।
7. केंद्र में फिलहाल उपलब्ध कोई भी टीका प्राप्त करने की तैयारी करें। ध्यान रखें कि सभी टीकों को सुरक्षित और प्रभावी दिखाया गया है।
8. अपने हाथ पर इंजेक्शन आसान हो रही बनाने के लिए, एक आस्तीन या छोटी बाजू ब्लाउज या पोशाक पहनते हैं ।
9. यदि आप किसी भी Covid जैसे लक्षणों का अनुभव करते हैं, तो आपको अपनी यात्रा रद्द कर नी चाहिए। इस तरह के लक्षणों को पीड़ित करने के 14 दिनों के बाद, आप फिर से बुक कर सकते हैं। यह कुछ ऐसा है जिस पर आपको अपने डॉक्टर से चर्चा करनी चाहिए।

क्या टीका लगाने के बाद कोई सावधानी बरतना बंद करसकता है?

COVID-19 टीकाकरण आपको बेहद बीमार बनने और मरने से बचाता है। टीकाकरण प्राप्त करने के बाद आपके पास पहले चौदह दिनों तक सुरक्षा की महत्वपूर्ण मात्रा नहीं है, लेकिन यह तेजी से सुधार करता है। एक खुराक वैक्सीन के लिए प्रतिरक्षा आमतौर पर टीका के बाद दो सप्ताह विकसित करता है। एक दो खुराक वैक्सीन की दोनों खुराक सुरक्षा के उच्चतम स्तर प्राप्त करने के लिए आवश्यक हैं ।
जबकि COVID-19 टीका आपको बड़ी बीमारी और मौत से बचाता है, हम नहीं जानते कि यह आपको कितनी अच्छी तरह संक्रमित होने और दूसरों को वायरस फैलाने से रोकता है । दूसरों से 1 मीटर की दूरी बनाए रखें, अपनी कोहनी में खांसी या छींक को ढकें, अपने हाथों को अक्सर धोएं, और लोगों को सुरक्षित रखने में मदद करने के लिए विशेष रूप से सीमित, व्यस्त या खराब हवादार वातावरण में एक मुखौटा पहनें। हमेशा अपने क्षेत्र में स्थिति और जोखिम के आधार पर स्थानीय अधिकारियों की सलाह का पालन करें ।
1 कोविड-19 वैक्सीन लेने से पहले आपको क्या खाना चाहिए?
अपनी प्रतिरक्षण नियुक्ति से पहले एक पूर्ण, स्वस्थ भोजन खाएं जो बहुत तेल या मसालेदार नहीं है। आपके प्रतिरक्षण से पहले की रात, डॉक्टर एक पूर्ण भोजन जैसे रैप, सब्जियां और पराठा, क्विनोआ और करी, सब्जी और चावल, या गर्म जूडल्स खाने की सिफारिश करता है। हल्का डिनर खाएं और खूब आराम करें। सब्जियों से भरपूर डोसा,उपमा या पोहा जैसे हेल्दी ब्रेकफास्टखाएं। दूध और फलों को अपने आहार में शामिल करें, और यदि संभव हो तो कैफीन से बचें।

2. जलयोजन का एक उच्च स्तर बनाए रखें
प्रतिरक्षण से पहले और दिन में प्रतिदिन न्यूनतम तीन लीटर पानी की आवश्यकता होती है। ताजा नारियल पानी, दाल, गेहूं का दलिया, सूप, और यहां तक कि तरबूज और खरबूजे जैसे पानी से भरपूर फल भी यह प्रदान कर सकते हैं। मांसपेशियों को एक प्रहार के बाद हटना, लेकिन एक स्वस्थ पानी का सेवन रखने से इस प्रभाव का प्रतिकार होगा ।

3. टीका बनने के बाद आपका पहला भोजन
प्रामाणिक अवयवों का उपयोग करके तैयार नहीं किया गया है कि खाना खाने से बचें। नूडल्स, पैकेज पास्ता, और प्रसंस्कृत चीज, साथ ही कच्चे खाद्य पदार्थों के रूप में तत्काल भोजन, बंद सीमा हैं । निश्चित करें कि आपका सारा खाना पूरी तरह से पच जाता है। प्रोटीन (दाल, मांस, या पनीर), लोहा और विटामिन (पकी हुई सब्जियां), और कार्बोहाइड्रेट एक अच्छा पहला भोजन (रोटी और चावल) बनाते हैं। पका हुआ भोजन कच्चे भोजन के लिए बेहतर है क्योंकि कच्चा भोजन निष्क्रिय रोगों को जगा सकता है, जिसे प्रतिरक्षा निर्माण की इस अवधि के दौरान बचा जाना चाहिए।

4. अगले कुछ दिनों के लिए, अपने दिन की शुरुआत सही से करें।
आने वाले दिनों में डाइट के जरिए अपने शरीर का ध्यान रखना अहम होगा। अपने दिन की शुरुआत एक उच्चफाइबर नाश्ते के साथ करें। ओट्स, दूध के साथ मूसली, मूंगफली का मक्खन-केले का मिल्कशेक, शाकाहारी पराठा, सब्जियों के भार के साथ उपमा, चिलियां,बाजरा डोसा,उबले हुए ढोकला, या कोठमबीर वेदी सभी अच्छे संतोषजनक नाश्ते के विकल्प हैं, डॉक्टर के अनुसार । ताजे फलों के रस प्राकृतिक विटामिन सी के अच्छे स्रोत भी हैं।

5. भारतीय सुपरफूड्स को अपना जाना।
यदि आप इस अवधि में अपनी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के लिए देख रहे हैं, हल्दी जाने का रास्ता है ।
पानी में लौंग, दालचीनी की छड़ें, साबुत काली मिर्च और हल्दी उबालकर भी कढ़ियां बनाई जा सकती हैं। इसे छान लें और दिन में दो से तीन बार कम मात्रा में इसका सेवन करें। प्याज और लहसुन, साथ ही पालक, प्रतिरक्षा बढ़ाने साबित कर रहे हैं । इसके अलावा, बहुत सारे साबुत अनाज का उपभोग करें, जैसे कि डालिया,या बाजरा, जैसे सांवा,रागी, या राजगीरा,जो आपकी किसी भी कमजोरी को दूर करने में आपकी सहायता कर सकते हैं।

7 मसालेदार खाद्य पदार्थों से दूर रहें।
प्रारंभिक खुराक के बाद, कुछ लोगों ने भाटा का अनुभव करने की सूचना दी है, और मसालेदार खाद्य पदार्थ अम्लता बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। दूसरी ओर, पूरे मसालों के साथ तैयार काधा पीना स्वीकार्य है। जब बहुत सारे मसालों या मसालों को तेल के साथ मिलाया जाता है, तो पाचन मुश्किल हो जाता है और मतली बढ़ जाती है। इसलिए उससे दूर रहें।

8. अन्य स्वास्थ्य सावधानियां बरतने के लिए
क्योंकि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली दो सप्ताह के लिए अपने सबसे अच्छे रूप में नहीं है, इस अवधि के दौरान अतिरिक्त सतर्क रहना महत्वपूर्ण है। आठ घंटे का नींद चक्र बनाए रखें, यदि संभव हो तो दोपहर की झपकी लें, हर दो घंटे खाएं, स्क्रीन समय को सीमित करें, और श्वास अभ्यास का अभ्यास करें। इसके अलावा, यदि आपका डॉक्टर इसकी सिफारिश करता है, तो जिंक और विटामिन सी की गोलियां लें। टीका लगाए गए एक ही हाथ से भारी वजन ले जाने से बचें, और खूब गर्म पानी पीएं।

टीकाकरण के बाद उठाने के लिए कदम

Vaccination


कई लोगों का मानना है कि टीका लगवाना उन्हें कोविड से बचाएगा और वे वायरस से अछूते हैं । नतीजतन, लोग मास्क धारण किए बिना या अतिरिक्त कोविड सावधानियां लिए बिना अपने व्यवसाय के बारे में जाते हैं। दो टीकाकरण खुराक हैं, और दो इंजेक्शन के बाद, एक पूरी तरह से प्रतिरक्षा है। नतीजतन, इंजेक्शन प्राप्त करने के बाद आपको कई उपाय करने चाहिए।
टीका लगवाना इस बात की गारंटी नहीं देता कि आप कोरोनावायरस का अनुबंध नहीं करेंगे। इसका मूल रूप से मतलब है कि भले ही कोई व्यक्ति वायरस प्राप्त करे, वह खतरनाक रूप से बीमार नहीं होगा। इसके अलावा, एक मौका है कि आप उन लोगों पर संक्रमण पारित करेंगे जिन्हें टीका नहीं लगाया गया है। सार्वजनिक स्थलों और अन्य जगहों पर मास्किंग आवश्यक है। जबकि COVID वैक्सीन वायरस के खिलाफ कुछ सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं, यह अभी भी इसे प्राप्त करने के लिए संभव है, यही वजह है कि स्वास्थ्य पेशेवरों और अधिकारियों ने जनता से आग्रह किया है कि कदम है कि हर किसी को सुरक्षित रखना होगा लेने जारी रखने के लिए । यह कहने के बाद, टीका प्राप्त करने के बाद भी आपको कुछ चीजें करनी चाहिए और पालन करना चाहिए।
1. अवलोकन के उद्देश्य के लिए रहें। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके पास कोई तत्काल प्रतिक्रिया नहीं है, स्वास्थ्य देखभाल व्यवसायी को टीका दिए जाने के बाद लगभग 15 मिनट तक आपकी निगरानी करनी चाहिए। शॉट मिलने के बाद आपको प्रतिरक्षण क्लिनिक में तत्काल एलर्जी के लिए निगरानी की जाएगी। केवल जब आप पूरी तरह से निगरानी की गई है आप को विदा करने की अनुमति दी जाएगी । दूसरी ओर, गंभीर स्वास्थ्य प्रतिक्रियाएं काफी दुर्लभ हैं।
2. टीकाकरण के बाद भी भीड़ भाड़ वाले इलाकों से जरूर बचें और दूसरे लोगों से 6 फुट की जगह जरूर रखें। इसके अलावा, उत्कृष्ट हाथ स्वच्छता रखने के लिए और एक नियमित आधार पर अपने हाथ धोने के लिए याद रखें । अक्सर छुआ वस्तुओं, जैसे doorknobs, रसोई काउंटरटॉप, और संभालती है, कीटाणुरहित किया जाना चाहिए । खांसी और छींक शिष्टाचार भी मनाया जाना चाहिए।
3. यदि टीका लगने के बाद आपके पास कोविड लक्षण हैं, तो उन्हें अस्वीकार करने के बजाय तुरंत डॉक्टर देखें।
4. प्रतिरक्षण के बाद कुछ दिनों के लिए, आपको सिर दर्द, बुखार, ठंड लगना, थकावट, हाथ दर्द, या साइड इफेक्ट के रूप में कोविड हाथ हो सकता है। अपने डॉक्टर के निर्देशानुसार अपनी दवाएं लें और कुछ आराम करें। दर्द से राहत पाने के लिए, प्रभावित क्षेत्र के ऊपर एक साफ नम तौलिया रखें। खूब पानी पीने से हाइड्रेटेड रहें। अगर हाथ की लालिमा, दर्द या सूजन बिगड़ जाए तो डॉक्टर से मिलें।
5. आपको अपने पारिवारिक डॉक्टर के संपर्क में रहने और दैनिक आधार पर उसे अपने स्वास्थ्य पर अपडेट करने की भी आवश्यकता होगी।
6. जैब होने के बाद कम से कम 3-4 दिनों तक कुछ भी कठोर न करें। कुछ दिनों तक पीने और धूम्रपान से बचना बेहतर होता है। यह कहना है कि आप टीका नहीं मिलना चाहिए नहीं है ।
अपने इम्यूनिटी कार्ड के साथ फोटो न लें और उसे सोशल मीडिया पर शेयर करें।
यद्यपि आपको अपने COVID-19 टीकाकरण की कृपा होनी चाहिए, लेकिन आपके वैक्सीन कार्ड को दिखावा करने से अपराधियों को आपकी व्यक्तिगत जानकारी चुराने के लिए लुभाया जा सकता है।
अपने वैक्सीन कार्ड को सहेजें - या तो ऑनलाइन या कागज पर।
जब आपको दूसरे शॉट की आवश्यकता होती है तो आपको अपने प्रदाता को अपने प्रतिरक्षण कार्ड पर टाइमस्टैंप दिखाने की आवश्यकता हो सकती है। इसके अतिरिक्त, भविष्य में कुछ बिंदु पर, सार्वजनिक स्थानों और परिवहन के साधनों (विमान सहित) कोविड-19 प्रतिरक्षण दस्तावेज की आवश्यकता शुरू हो सकती है।
अन्य टीकों को एक ही समय में प्रशासित नहीं किया जाना चाहिए।
यदि आपके पास एक और नियमित प्रतिरक्षण निर्धारित है तो अपने COVID-19 वैक्सीन प्राप्त करने से पहले 14 दिन प्रतीक्षा करें । क्योंकि हम अभी तक नहीं जानते कि COVID-1 कैसे संचालित होता है, ये सिफारिशें लागू हैं।

इंजेक्शन स्थान पर स्थानीय सावधानियां
1. इंजेक्शन के बाद, क्षेत्र को पोंछें और इसे एक साफ, शांत, नम वॉशक्लॉथ से ढक दें।
2. अपनी बांह को ले जाएं और इसका प्रयोग करें।
3. रक्त पतला करने वालों पर चोट को कम करने के लिए हल्का दबाव लागू करना चाहिए।
4. यदि आपको लंबे समय तक दर्द होता है, तो आप पैरासिटामोल या आईबुप्रोफेन ले सकते हैं जब तक कि आपका डॉक्टर अन्यथा सलाह न दें।
5. बेचैनी और सूजन कुछ दिनों में चली जाएगी, लेकिन अगर आप चिंतित हैं, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें।
6. हल्के सामान्यीकृत प्रतिक्रियाएं फ्लू की तरह महसूस हो सकती हैं और रोजमर्रा की गतिविधियों में हस्तक्षेप कर सकती हैं, लेकिन वे कुछ दिनों में गुजर जाएंगी।
7. आपके शरीर में होने वाली सूजन इन नकारात्मक प्रभावों का कारण बन रही है। टीका आपके शरीर को प्रतिक्रिया देने और नकल संक्रमण से लड़ने का कारण बनता है। इन संकेतों से संकेत मिलता है कि आपका शरीर एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया विकसित कर रहा है। टीका लगवाने से पहले, टीकाकरण के दुष्प्रभावों के लिए कोई दवा न लें, और केवल उन्हें लें यदि आपके लक्षण हैं (यदि आप चाहें तो एस्पिरिन, पैरासिटामोल, इबुप्रोफेन या एंटीहिस्टामाइंस को घर पर रख सकते हैं)।
8. हाइड्रेटेड रहना सुनिश्चित करें।
9. प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले भोजन को त्वरित वसूली में मदद करने का सुझाव दिया जाता है। उच्च पानी की सामग्री और विरोधी भड़काऊ प्रभाव वाले खाद्य पदार्थों की सिफारिश की जाती है।

टीकाकरण के साथ-साथ पीने के लिए सावधानियां भी बरतने पड़ते हैं।
1. हालांकि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि शराब एंटीबॉडी विकास को रोकती है, प्रतिरक्षण से पहले और बाद में कम से ४८ घंटे तक शराब से परहेज करती है । यह एक सामान्य चेतावनी है जो सभी टीकों पर लागू होती है। हालांकि, यह एक अलग कारण है कि आप अपने टीकाकरण के बाद के दिनों में अपने शराब के सेवन को सीमित करना चाहिए के लिए है । यह आपके अंतर्निहित रुग्णता को खराब करने की क्षमता रखता है।
2. टीका मिलने के बाद कुछ लोगों को फ्लू जैसे लक्षण भुगतने पड़ सकते हैं, जिन्हें शराब से बुरा बनाया जा सकता है। यह भी बोधगम्य है कि हैंगओवर लक्षण वैक्सीन साइड इफेक्ट के लिए गलत हो ।

जब आप अपने दूसरे शॉट का इंतजार करते हैं, तो सावधानी बरतें।
1. टीकाकरण के बाद आपके शरीर को प्रतिरक्षा विकसित करने में समय लगता है। COVID-19 टीकाकरण है कि दो खुराक की आवश्यकता होती है दूसरी खुराक के बाद एक या दो सप्ताह तक सुरक्षा प्रदान नहीं कर सकते हैं ।
2. सुनिश्चित करें कि आपकी वर्तमान चिकित्सा स्थिति नियंत्रण में है।
3. वास्तविक जीवन डेटा का विश्लेषण किए जाने तक सभी दूर करने, स्वच्छता और मास्किंग विधियों का उपयोग करें।

दूसरी खुराक एक अलग शहर या शहर में दी जाती है।
पुष्टि करें कि पते के परिवर्तन और पहली खुराक के रूप में वितरित वैक्सीन के प्रकार पंजीकृत किया गया है । यह देखने के लिए जांच करें कि आपको जो टीका मिल रहा है वह वही है जो आपको पहली बार मिला है।

टीकाकरण की अपनी दूसरी खुराक के बाद, ये सावधानियां बरतें।
यदि आपको टीका लगाया गया है तो आप अन्य पूरी तरह से टीका लगाए गए दोस्तों के साथ संबद्ध करने में सक्षम हैं। यदि आप टीका नहीं लगाया गया है, हालांकि, आप मास्क पहनना जारी रखना चाहिए । टीकाकरण बुलबुला बनाएं।

टीकाकरण के बाद, एक्सपोजर के खिलाफ सावधानी बरतें। यदि आप किसी परिवार के सदस्य के संपर्क में आते हैं, जिसने COVID-19 की पुष्टि या संदिग्ध है, तो आपको खुद को अलग करने की आवश्यकता नहीं है यदि आप:
1. पूरी तरह से टीका लगाया जाता है (यानी, दो सप्ताह एक दो खुराक आहार में दूसरी खुराक प्राप्त करने के बाद)।
2. श्रृंखला की अंतिम खुराक के 3 महीने के भीतर हैं।
3. व्यक्तियों को COVID-19 के संपर्क में आने के बाद से कोई संकेत या लक्षण नहीं दिखाया गया है ।
4. ये आवश्यकताएं राज्य से राज्य और समय के साथ भिन्न हो सकती हैं।

समाप्ति

ध्यान रखें कि टीका सिर्फ एक प्रहार है। इंजेक्शन लगाते समय, अपनी चिंता और उत्सुकता को दूर करने की कोशिश करें। अपना प्रतिरक्षण प्रमाण पत्र एकत्र करें या सह-विन वेबसाइट से प्राप्त करें। जिम्मेदार नागरिकों के रूप में अपना हिस्सा करें और समय आने पर टीका लगवाएं।

यहां तक कि अगर आप Covid-19 टीकाकरण के दोनों खुराक लिया है, यह अभी भी एक अच्छा विचार के लिए सतर्क रहना है, विशेष रूप से सार्वजनिक क्षेत्रों में । यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि टीकाकरण पूर्ण प्रतिरक्षा की गारंटी नहीं देता है। इसलिए, आत्म-सुरक्षा के लिए और वायरल संचरण से बचने के लिए, मास्क पहने रहें और बुनियादी स्वच्छता उपायों का पालन करें। दोनों खुराक के लिए निर्देशों का पालन करें और दूसरों को टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं । अपने आप को सुरक्षित और शक्तिशाली रखें!

संबंधित विषय:

1. स्व-देखभाल और स्व-देखभाल का महत्व क्या है

सेल्फ-केयर का मतलब है ऐसी गतिविधियाँ करना जो हमें अच्छा महसूस कराती हैं और तनाव मुक्त करती हैं। अन्य दिन-प्रतिदिन के क्रियाकलापों के साथ-साथ आत्म-देखभाल शरीर के साथ-साथ आत्मा के लिए भी महत्वपूर्ण है। अधिक यात्रा जानने के लिए: आत्म-देखभाल का आत्म-देखभाल और महत्व क्या है।

2. स्वयं की देखभाल के लिए योग

योग आत्म-देखभाल के सबसे आवश्यक डेटासेट में से एक है। यह आपको अपने बारे में अच्छा महसूस कराता है और आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। अधिक यात्रा जानने के लिए: स्वयं की देखभाल के लिए योग

3. स्व-देखभाल के लाभ

आत्म देखभाल के कई लाभ हैं जैसे कि बेहतर उत्पादकता, बेहतर प्रतिरक्षा प्रणाली, बढ़ा हुआ आत्म-ज्ञान और आत्म-करुणा। मुख्य लाभ यह है कि यह आपके जीवन में खुशी लाता है। अधिक यात्रा जानने के लिए: स्व-देखभाल के लाभ

4. सेल्फ-केयर रूटीन कैसे शुरू करें

चूंकि कई लोगों को एक स्व-देखभाल दिनचर्या शुरू करने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है, इसलिए बेहतर होगा कि आप अपनी दिनचर्या में ध्यान, योग या एक्सर्साइज़ जैसी छोटी आत्म-देखभाल प्रथाओं को शामिल करें। अधिक यात्रा जानने के लिए: Hसेल्फ-केयर रूटीन कैसे शुरू करें

5. तनाव को कैसे प्रबंधित करें

स्व-देखभाल एक महत्वपूर्ण उपकरण है जो हमें स्वस्थ और खुश महसूस करने में मदद करता है और सबसे तनावपूर्ण परिस्थितियों में भी तनाव को कम करता है। स्व-देखभाल से शरीर और आत्मा को आराम मिलता है क्योंकि यह नकारात्मक भावनाओं और चिंता को कम करता है। अधिक जानकारी के लिए देखें: तनाव को कैसे प्रबंधित करें




उपर ब्लॉग में बताई गई उपलब्धिया AFD-SHIELD के साथ उपलब्ध हैं
एएफडी शील्ड कैप्सूल 12 प्राकृतिक अवयवों का एक संयोजन है जिनमें से अलगल डीएचए, अश्वगंधा, करक्यूमिन और स्पिरुलिना हैं। एएफडी शील्ड टीजी को कम करता है, एचडीएल बढ़ाता है और उम्र से संबंधित संज्ञानात्मक गिरावट में सुधार करता है। यह तनाव और चिंता को भी कम करता है और एंटी-एजिंग गतिविधि करता है। इसके अलावा, यह इम्युनोमॉड्यूलेटरी गतिविधि को बढ़ाता है, प्रतिरक्षा में सुधार करता है और सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है। न्यूट्रोग्लिग्क्स: एएफडी-शील्ड

AFDIL Ltd.
+91 9920121021

order@afdil.com

Read Also:


Disclaimer
Home