Role Of Digestive Enzymes In Indigestion


role of Digestive Enzymes In Indigestion-01

Dyspepsia (also called indigestion) is the condition where discomfort occurs in the upper digestive tract and abdomen, usually after consumption of food.
With the changing lifestyle, people often suffer from indigestion due to busy work, irregular diet, or unhealthy food. Indigestion occurs through the upper digestive tract. Digestive enzymes role is essential in such conditions and importance of Digestive Enzymes In Indigestion is undeniable.
In most incidents, indigestion is a sudden and short-lived condition. But some people may experience chronic dyspepsia/indigestion. Medical examination and laboratory should be performed to rule out a variety of severe upper gastrointestinal tract diseases that may occur in a similar way.

role of Digestive Enzymes In Indigestion-04

How to decrease indigestion and improve overall health?

Digestive enzymes role is very important in digestion process. Conditions of indigestion can be treated with the use of digestive enzymes, which helps digestion of food. They not only help to improve digestion but also help in improving overall health. This shows the importance of Digestive Enzymes In Indigestion.

Digestive problems

Food and beverages, when consumed, are first converted into small molecules and then are absorbed into the intestine ultimately getting distrusted to the entire body through bloodstream. Digestion is simply the process of breaking down consumed food in order to build cells and produce energy.

Digestive problems are very common type of condition around the world. Dyspepsia or indigestion is one of those problems and thus digestive enzymes role is essential in such conditions. Importance of Digestive Enzymes In Indigestion here is improving digestion process.
When the food consumed, the saliva in the mouth begins to break it down. Further, it is decomposed by the stomach acid. After that, the pancreas then receives a hormone signal to releases the pancreatic juice into the small intestine. The pancreas helps the breakdown of food in the small intestine, through the enzymes:

• Amylase: decomposes starch and complex carbohydrates

• Lipase: break down fat

• Proteases and peptidases: decomposing proteins

Sometimes these very important digestive enzymes are not formed by the body due to a number of reasons (like pancreatic cancer, pancreatitis, tumor, etc.), this causes a deficiency of digestive enzymes in the body leading to inefficient digestion or indigestion (dyspepsia).

role of Digestive Enzymes In Indigestion-02

Dyspepsia Symptoms

There are many signs and symptoms of dyspepsia/indigestion, which include:

• pain relating to the digestive system
• burning sensation in the upper abdomen or digestive tract
• bloating
• nausea
• sometimes vomiting
• reflux or feeling too full after eating
• feeling full too quickly during eating

These symptoms can occur even when the person has not eaten large amounts.

Lifestyle Treatments

Sometimes when the condition of indigestion (dyspepsia) is mild, some lifestyle changes can help to treat it, including:

• avoid or limit the consumption of trigger foods (like fried foods, chocolate, onion, garlic)
• avoid soda and prefer water
• limit the intake of caffeine and alcohol
• eat small portion of meals more often
• eat slowly
• maintain a moderate weight
• avoid tight-fitting clothes
• wait for minimum 3 hours before going to bed
• raise the head of the bed
• avoid or quit smoking

Digestive enzymes

Digestive enzymes role is better absorption of food and they are released once chewing begins. Digestive enzymes cause digestion, detoxification, immunity and metabolic and other processes.

The digestive enzymes are proteins in nature and digest food molecules by breaking them down into small molecules that can pass through the wall of intestinal tract.

Digestive enzyme supplements may be an effective way to ease the symptoms of functional dyspepsia.

Dyspepsia has many possible causes, but one of the important causes is impaired pancreatic enzyme secretion. Pancreatic helps in the break down food, but if these are not secreted in adequate amounts it can impair digestion and result in symptoms like bloating, discomfort, and pain.

In a study conducted, patients with functional dyspepsia were assigned to treatment with digestive enzymes or placebo for 60 days. In comparison to placebo, people who were supplemented with digestive enzymes significantly showed reduced symptoms of dyspepsia. This digestive enzyme supplement was also found to be extremely safe and well tolerated.

The results of this trial prove the effectiveness of complex digestive enzyme supplements in relieving the symptoms associated with indigestion/dyspepsia. This study emphasizes the importance of Digestive Enzymes In Indigestion.

Digestive enzyme supplements are effective and safe alternative to antacids as antacids block acid production which can cause side effects while these supplements would target the underlying.

role of Digestive Enzymes In Indigestion-03

Medications used for indigestion

There are many types of medicines that could be used for the treatment of indigestion/dyspepsia depending on the causes and severity of the condition. Some of these include:

• Domperidon (morphine) containing medicines helps to increase gastrointestinal smooth muscle tone and peristalsis, improve gastric emptying, digest and promote food, intestinal gas excretion, ultimately eliminating indigestion.

• Laccase is composed of a dry preparation of live cocci. It facilitate the breakdown of sugars in the intestines, make lactic acid, increase the acidity in the intestines, restrain growth spoilage bacteria, prevent intestinal fermentation, reduce hernia, and promote digestion and diarrhea.

• Trypsin (Pancreatin) containing medication promotes digestion of protein, starch and fat in a neutral or weakly acidic environment.

• Pepsin containing products can decompose the coagulated protein with the participation of gastric acid, and is used for indigestion caused by digestive function.

• Multi-enzyme tablets consisting of trypsin and pepsin are also used for treatment of indigestion.

• Antacids counter the effects of stomach acid in the body. These are OTC drugs is used as the first treatment for dyspepsia.

• H-2-receptor antagonists are medications that reduce stomach acid levels and are more effective and strong than antacids. These are available as OTC or prescription drugs and some of them may carry a risk of adverse effects.

• Proton pump inhibitors (PPIs) are medicines that reduce stomach acid and are even stronger than H-2-receptor antagonists.

• Prokinetics helps to improve the movement of food through stomach. They can cause side effects like tiredness, depression, anxiety, and muscle spasms.

• Antibiotics are used when peptic ulcers are causes due to bacterial infection resulting in indigestion. They can cause side effects like upset stomach, diarrhea, and fungal infections.

• Antidepressants are given for indigestion caused due to problems with the central nervous system.

Conclusion

Dyspepsia/indigestion is a very common condition in people. Importance of Digestive Enzymes In Indigestion is that they help in relieving the symptoms of dyspepsia/indigestion by fulfilling the enzyme requirement of the body for digestion of food. With that many other medication treatments are also available for treating dyspepsia. Any kind of treatment should be administered only after proper consultation from the doctor.

Related topics:

1. What Are Digestive enzymes?

Naturally occurring digestive enzymes helps in the breakdown of food, if not produced in adequate amounts, digestive enzymes supplements can be used. To know more visit: What Are Digestive enzymes

2. Digestive Enzymes Secreted Where?

The function of the digestive system is digestion and absorption. Digestion is the breakdown of food into small molecules, which are then absorbed into the body. The digestive system is divided into two major parts: The digestive tract (alimentary canal) is a continuous tube with two openings: the mouth and the anus. To know more visit: Digestive Enzymes Secreted Where?

3. Can We Take Digestive Enzymes In Indigestion?

Digestive enzymes or supplements are effective in indigestion. Digestive enzyme boosts the aforementioned processes and helps relieve symptoms of indigestion. To know more visit: Can We Take Digestive Enzymes In Indigestion

4. What Is The Dose Of Digestive Enzymes?

Digestive enzymes are natural sources which help to break down food and digest it. But is it harmful to take supplements or does it have any side effects? In Adults Dose of digestive enzyme should not exceed 2,500 lipase units/kg per meal. To know more visit: What Is The Dose Of Digestive Enzymes?




The above essentials are available with AFD SHIELD

AFD Shield capsule is a combination of 12 natural ingredients among which are Algal DHA, Ashwagandha, Curcumin and Spirullina. AFD Shield reduces TG, increases HDL and improves age related cognitive decline. It also reduces stress and anxiety and performs anti-aging activity.Moreover, it also enhances the immunomodulatory activity, improves immunity and reduces inflammation and oxidative stress.

Nutralogicx: AFD SHIELD



अपच में पाचन एंजाइमों की भूमिका


अपच में पाचन एंजाइम की भूमिका-01

अपच (जिसे अपच भी कहा जाता है) वह स्थिति है जहां आमतौर पर भोजन के सेवन के बाद ऊपरी पाचन तंत्र और पेट में असुविधा होती है। ‎
बदलती जीवनशैली के साथ अक्सर लोग व्यस्त काम, अनियमित आहार या अस्वस्थ भोजन के कारण अपच का शिकार होते हैं। अपच ऊपरी पाचन तंत्र के माध्यम से होता है। पाचन एंजाइमों की भूमिका ऐसी स्थितियों में आवश्यक है और अपच में पाचन एंजाइमों के महत्व को नकारा नहीं जा सकता है। ‎
ज्यादातर घटनाओं में अपच अचानक और अल्पायु की स्थिति होती है। लेकिन कुछ लोगों को पुरानी अपच/अपच का अनुभव हो सकता है । चिकित्सा परीक्षा और प्रयोगशाला को विभिन्न प्रकार के गंभीर ऊपरी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट बीमारियों से इंकार करने के लिए किया जाना चाहिए जो इसी तरह से हो सकते हैं।‎

अपच में पाचन एंजाइम की भूमिका-04

अपच को कम करने और समग्र स्वास्थ्य में सुधार कैसे करें?‎

पाचन क्रिया में पाचन एंजाइमों की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है। पाचन एंजाइमों के उपयोग के साथ अपच की स्थिति का इलाज किया जा सकता है, जो भोजन के पाचन में मदद करता है। ये न केवल पाचन में सुधार करने में मदद करते हैं बल्कि समग्र स्वास्थ्य में सुधार करने में भी मदद करते हैं। इससे अपच में पाचन एंजाइमों का महत्व पता चलता है।‎

पाचन संबंधी समस्याएं

खाद्य और पेय पदार्थ, जब सेवन किया जाता है, पहले छोटे अणुओं में परिवर्तित हो जाते हैं और फिर आंत में अवशोषित हो जाते हैं अंततः खून के माध्यम से पूरे शरीर में अविश्वास हो रहा है। पाचन कोशिकाओं के निर्माण और ऊर्जा का उत्पादन करने के लिए उपभोग किए गए भोजन को तोड़ने की प्रक्रिया है। ‎

पाचन संबंधी समस्याएं दुनिया भर में बहुत ही सामान्य प्रकार की स्थिति हैं। अपच या अपच उन समस्याओं में से एक है और इस प्रकार ऐसी स्थितियों में पाचन एंजाइमों की भूमिका आवश्यक है। यहां अपच में पाचन एंजाइमों का महत्व पाचन प्रक्रिया में सुधार हो रहा है। ‎
जब भोजन का सेवन किया जाता है तो मुंह में लार टूटने लगती है। इसके अलावा, यह पेट एसिड से विघटित होता है। उसके बाद, अग्न्याशय तो छोटी आंत में अग्नाशय का रस जारी करने के लिए एक हार्मोन संकेत प्राप्त करता है। अग्न्याशय एंजाइमों के माध्यम से छोटी आंत में भोजन के टूटने में मदद करता है:‎

• एमीलेस:‎‎ स्टार्च और जटिल कार्बोहाइड्रेट विघटित करता है‎

• लिपेज़: वसा को तोड़ें‎

• प्रोटीज़ और पेप्टिडास:‎‎ प्रोटीन को विघटित करना‎

कभी-कभी ये अति महत्वपूर्ण पाचन एंजाइम शरीर द्वारा कई कारणों (जैसे अग्नाशय के कैंसर, अग्नाशयशोथ, ट्यूमर आदि) के कारण नहीं बनते हैं, इससे शरीर में पाचन एंजाइमों की कमी हो जाती है जिससे अकथनीय पाचन या अपच (अपच) होता है। ‎

अपच में पाचन एंजाइम की भूमिका-02

अपच के लक्षण‎

अपच/अपच के कई संकेत और लक्षण हैं, जिनमें शामिल हैं:‎

• पाचन तंत्र से संबंधित दर्द
• पेट‎ के ऊपरी हिस्से या पाचन तंत्र में जलन बर्निंग‎
• सूजन
• मतली‎
• कभी-कभी उल्टी‎ करना
• खाने‎ के बाद बहुत अधिक धूप या बहुत भरा हुआ महसूस करना
• खाने के दौरान बहुत जल्दी पूर्ण महसूस करना

ये लक्षण तब भी हो सकते हैं जब व्यक्ति ने बड़ी मात्रा में नहीं खाया हो।‎

लाइफस्टाइल उपचार‎

कभी-कभी जब अपच (अपच) की स्थिति हल्की होती है, तो जीवनशैली में कुछ परिवर्तन इसका इलाज करने में मदद कर सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:‎

• ट्रिगर फूड्स (जैसे तला हुआ खाद्य पदार्थ, चॉकलेट,‎ प्याज, लहसुन) के सेवन से बचें या सीमित करें
• सोडा से बचें और पानी पसंद करें
• कैफीन और शराब का सेवन सीमित करें
• भोजन के छोटे हिस्से को अधिक बार‎ खाएं
• धीरे-धीरे खाएं
• मध्यम वजन‎ बनाए रखें
• तंग-फिटिंग कपड़ों‎ से बचें
• बिस्तर‎ पर जाने से पहले न्यूनतम 3 घंटे तक प्रतीक्षा करें
• बिस्तर‎ के सिर को उठाएं
• धूम्रपान से बचें या छोड़ें‎

पाचन एंजाइम‎

पाचन एंजाइमों की भूमिका भोजन का बेहतर अवशोषण है और वे एक बार चबाने शुरू होता है जारी कर रहे हैं । पाचन एंजाइम पाचन, विषहरण, प्रतिरक्षा और मेटाबोलिक और अन्य प्रक्रियाओं का कारण बनते हैं।‎

पाचन एंजाइम प्रकृति में प्रोटीन होते हैं और खाद्य अणुओं को छोटे अणुओं में तोड़कर पचाते हैं जो आंतों के पथ की दीवार से गुजर सकते हैं। ‎

पाचन एंजाइम की खुराक कार्यात्मक अपच के लक्षणों को कम करने के लिए एक प्रभावी तरीका हो सकता है।‎

अपच के कई संभावित कारण हैं, लेकिन महत्वपूर्ण कारणों में से एक बिगड़ा अग्नाशय एंजाइम स्राव है। अग्नाशय भोजन को तोड़ने में मदद करता है, लेकिन अगर ये पर्याप्त मात्रा में स्रावित नहीं किए जाते हैं तो यह पाचन को ख़राब कर सकता है और परिणामस्वरूप सूजन, असुविधा और दर्द जैसे लक्षण हो सकते हैं। ‎

किए गए एक अध्ययन में, कार्यात्मक अपच वाले रोगियों को 60 दिनों के लिए पाचन एंजाइमों या प्लेसबो के साथ उपचार के लिए सौंपा गया था। प्लेसबो की तुलना में, जो लोग पाचन एंजाइमों के साथ पूरक थे, उन्होंने काफी अपच के लक्षणों को कम दिखाया। यह पाचन एंजाइम पूरक भी बेहद सुरक्षित और अच्छी तरह से सहन पाया गया।‎

इस परीक्षण के परिणाम अपच/अपच से जुड़े लक्षणों से राहत में जटिल पाचन एंजाइम की खुराक की प्रभावशीलता साबित करते हैं। यह अध्ययन अपच में पाचन एंजाइमों के महत्व पर जोर देता है।‎

पाचन एंजाइम की खुराक एंटासिड के लिए प्रभावी और सुरक्षित विकल्प हैं क्योंकि एंटासिड एसिड उत्पादन को अवरुद्ध करते हैं जो दुष्प्रभाव पैदा कर सकते हैं जबकि ये पूरक अंतर्निहित को लक्षित करेंगे।‎

अपच में पाचन एंजाइम की भूमिका-03

अपच के लिए इस्तेमाल की जाने जानेवाली दवाएं

कई प्रकार की दवाइयां हैं जिनका उपयोग स्थिति के कारणों और गंभीरता के आधार पर अपच/अपच के उपचार के लिए किया जा सकता है । इनमें से कुछ में शामिल हैं:‎

• डॉम्पेरिटन (मॉर्फिन) गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल चिकनी मांसपेशी टोन और पेरिस्टलसिस को बढ़ाने, गैस्ट्रिक खाली करने में सुधार करने, भोजन को पचाने और बढ़ावा देने, आंतों के गैस उत्सर्जन, अंततः अपच को नष्ट करने में मदद करता है।‎

• लैक्केस‎‎ लाइव कोसीसीआई की सूखी तैयारी से बना है। यह आंतों में शर्करा के टूटने की सुविधा, लैक्टिक एसिड बनाने, आंतों में अम्लता बढ़ाने, विकास खराब बैक्टीरिया को नियंत्रित करने, आंतों के किण्वन को रोकने, हर्निया को कम करने और पाचन और दस्त को बढ़ावा देने की सुविधा देता है। ‎

• ट्राइप्सिन (पैंक्रियाज)‎‎ युक्त दवा तटस्थ या कमजोर अम्लीय वातावरण में प्रोटीन, स्टार्च और वसा के पाचन को बढ़ावा देती है। ‎

• पेप्सिन‎‎ युक्त उत्पाद गैस्ट्रिक एसिड की भागीदारी के साथ जमावित प्रोटीन को विघटित कर सकते हैं, और पाचन क्रिया के कारण अपच के लिए उपयोग किया जाता है।‎

• मल्टी-एंजाइम गोलियां ट्रिप्सिन और पेप्सिन से युक्त, अपच के उपचार के लिए उपयोग की जाती हैं।

• एंटासिड‎‎ शरीर में पेट के एसिड के प्रभाव का मुकाबला करते हैं। ये हैं ओटीसी दवाओं का उपयोग अपच के लिए प्रथम उपचार के रूप में किया जाता है।‎

• एच-2-रिसेप्टर विरोधी ऐसी दवाएं हैं जो पेट के एसिड के स्तर को कम करती हैं और एंटासिड की तुलना में अधिक प्रभावी और मजबूत होती हैं। ये ओटीसी या प्रिस्क्रिप्शन दवाओं के रूप में उपलब्ध हैं और उनमें से कुछ प्रतिकूल प्रभावों का जोखिम उठा सकते हैं।

• प्रोटोन पंप अवरोधक (पीपीआई)‎‎ ऐसी दवाएं हैं जो पेट के एसिड को कम करती हैं और एच-2-रिसेप्टर विरोधी से भी मजबूत होती हैं।

• प्रोकाइनेटिक्स‎‎ पेट के माध्यम से भोजन की गति को बेहतर बनाने में मदद करता है। वे थकान, अवसाद, चिंता और मांसपेशियों में ऐंठन जैसे दुष्प्रभाव पैदा कर सकते हैं।

• एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग तब किया जाता है जब पेप्टिक अल्सर बैक्टीरियल संक्रमण के कारण होता है जिसके परिणामस्वरूप अपच होती है। वे पेट, दस्त, और कवक संक्रमण जैसे दुष्प्रभाव पैदा कर सकते हैं।‎

• अवसादरोधी दवाएं‎‎ केंद्रीय तंत्रिका तंत्र के साथ समस्याओं के कारण अपच के लिए दिया जाता है।

समाप्ति‎

अपच लोगों में एक बहुत ही आम स्थिति है। अपच में पाचन एंजाइमों का महत्व यह है कि ये भोजन के पाचन के लिए शरीर की एंजाइम आवश्यकता को पूरा करके अपच/अपच के लक्षणों से राहत दिलाने में मदद करते हैं। इसके साथ कई अन्य दवा उपचार भी अपच के इलाज के लिए उपलब्ध हैं। डॉक्टर से उचित परामर्श के बाद ही किसी भी प्रकार का उपचार दिलाया जाना चाहिए।‎

संबंधित विषय:‎

1. पाचन एंजाइम क्या हैं?‎

स्वाभाविक रूप से होने वाले पाचन एंजाइम भोजन के टूटने में मदद करते हैं, यदि पर्याप्त मात्रा में उत्पादित नहीं होते हैं, तो पाचन एंजाइमों की खुराक का उपयोग किया जा सकता है। अधिक यात्रा जानने के लिए: पाचन एंजाइम क्या हैं

2. पाचन एंजाइमों स्रावित कहां?‎

पाचन तंत्र का कार्य पाचन और अवशोषण है। पाचन छोटे अणुओं में भोजन का टूटना है, जो तब शरीर में अवशोषित हो जाते हैं। पाचन तंत्र को दो प्रमुख भागों में विभाजित किया गया है: पाचन तंत्र (आहार नहर) दो उद्घाटन के साथ एक निरंतर ट्यूब है: मुंह और गुदा। अधिक यात्रा जानने के लिए: पाचन एंजाइमों स्रावित कहां?‎

3. क्या हम अपच में पाचन एंजाइम ले सकते हैं?‎

पाचन एंजाइम या सप्लीमेंट अपच में कारगर होते हैं। पाचन एंजाइम उपरोक्त प्रक्रियाओं को बढ़ा देता है और अपच के लक्षणों को दूर करने में मदद करता है। अधिक यात्रा जानने के लिए: क्या हम अपच में पाचन एंजाइम ले सकते हैं

4. पाचन एंजाइमों की खुराक क्या है?

पाचन एंजाइम प्राकृतिक स्रोत होते हैं जो भोजन को तोड़ने और इसे पचाने में मदद करते हैं। लेकिन क्या सप्लीमेंट लेना नुकसानदेह है या इसका कोई साइड इफेक्ट होता है? वयस्कों में पाचन एंजाइम की खुराक 2,500 लिपेज इकाइयों/किलो प्रति भोजन से अधिक नहीं होनी चाहिए। अधिक यात्रा जानने के लिए: पाचन एंजाइमों की खुराक क्या है?




उपर ब्लॉग में बताई गई उपलब्धियाक एएफडी-शील्ड के साथ उपलब्ध हैं‎

एएफडी शील्ड कैप्सूल 12 प्राकृतिक अवयवों का संयोजन है जिनमें शैवाल डीएचए, अश्वगंधा, करक्यूमिन और स्पाइरुलिना हैं। एएफडी शील्ड टीजी को कम करता है, एचडीएल को बढ़ाता है और उम्र से संबंधित संज्ञानात्मक गिरावट में सुधार करता है। यह तनाव और चिंता को भी कम करता है और एंटी एजिंग एक्टिविटी करता है। इसके अलावा, यह इम्यूनोमोडुलेटरी गतिविधि को भी बढ़ाता है, प्रतिरक्षा में सुधार करता है और सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है।‎

न्यूट्रालॉजिक्स: एएफडी-शील्ड


AFDIL Ltd.
+91 9920121021

order@afdil.com

Read Also:


Disclaimer
Home