Is Eating Fast Food Harmful For Liver



Fast food and Liver

In current fast and digital life, where with just a click we are able to get things done instantly, our health is taking a backseat. With sedentary lifestyle and not mindful of what we are eating, safe, unsafe, organic, inorganic our health is going for a toss. It has been known that the combination of fast food and lack of physical activity can cause substantial liver damage. Foods which are high in fat and sugar content like fried/fast food are harmful for your health, especially liver health. In addition to fat and sugar when food with high salt or sodium content is consumed it leads to fluid build-up and swelling in Liver.
Unsafe and unhealthy food can cause a variety of diseases, not only resulting in deaths but also affecting individual’s well-being.

What is junk food?

The term 'junk' connotes something that is useless, unwanted, and unnecessary. Foods like pizzas, burgers, french fries, rolls, wraps, chaat, vada pav, bhujias, samosas, are referred to as 'junk food'. All of these fast-food products, which have infiltrated every nook and cranny of our nation, are referred to as junk because they perfectly exemplify this definition. Quick food consumption is not only harmful for your waistline, but it can also damage your liver in ways that are eerily close to hepatitis.


Why fast foods are categorised as junk food?

There is no doubt that junk food is deliciously addictive. Wafers, masala snacks, toffees, and candies can make you happy, but do not be fooled by their deliciousness. They are full of empty calories and can be harmful to your wellbeing. Pizzas and burgers do contain vegetables, meat, and other nutritious ingredients, but they are often made with refined flour, processed cheese, sauces, and dressings, all of which are high in calories. Fact is that fast food is laced with artificial flavours, colours, preservatives, and other additives, making it impossible to know exactly what you are eating. Hence, fast foods are considered as junk food.


Problems associated with junk food/fast food

Although children enjoy these foods, it is important that they realize the negative effects of eating fast food on a regular basis. Junk food can cause problems such as:
1. Obesity
2. chronic disease,
3. low self-esteem,
4. Depression, as well as affecting students' academic and extracurricular performance.

In addition to this, a new study discovered that children who eat junk foods are more likely to develop liver problems.


How does fast food affects the liver?

Your liver "tells" you that you're doing a good job if you eat a balanced diet. You get the message that your liver is able to function well, and you feel in excellent physical condition as long as your overall health is healthy.

On the other hand, your liver is defenceless if you don't watch what you eat. When you eat fatty or fried foods and a lot of salt, your liver is actually attacked. Your liver cannot help you if you don't help it. The end result is liver disease, as well as possible diseases affecting other organs. The liver is our body's engine, helping us to absorb food and eliminate harmful toxins, among other things. Non-Alcoholic Fatty Liver Disease (NAFLD) can affect people who have never consumed alcohol. Factors such as diabetes, obesity, and high triglycerides do the same harm to the liver as alcohol does. People who are overweight or obese are more likely to develop NAFLD.

Functions of the liver

The liver is the human body's main internal organ. It also performs one of the most essential roles in digestion and detoxification.

The liver also serves a variety of important functions like:
1. It removes oestrogen and aldosterone from the bloodstream.
2. It is involved in the metabolization of fats, carbohydrates, and proteins, in addition to detoxification.
3. Bile is a substance formed by the liver that aids in the digestion and absorption of fats and certain vitamins.
4. The liver also stores other vitamins, minerals, and glycogen reserves.

The significance of a healthy liver cannot be overstated. As a result, it is important that we maintain our liver's health in order for it to perform its functions properly.

What is NAFLD (Non-Alcoholic Fatty Liver Disease)?


Healthy Liver and Fatty Liver

Non-alcoholic fatty liver disease (NAFLD) is a term given for a variety of liver diseases that affect non-alcoholic people or people who don't drink much alcohol. NAFLD is characterised by an excess of fat accumulated in liver cells.

1. In NAFLD, excess fat accumulates in the liver as excessive triglycerides, occupying more than 5% of the liver cells called hepatocytes. Comparison to natural conditions, this means the excess fat makes up 5% weight of the liver (under normal condition there is hardly any fat present in the liver).


Non-Alcoholic Fatty Liver


2. Fat causes damage to liver cells, which leads to inflammation and fibrosis. This inflammation and fibrosis are characterised as Non-alcoholic steatohepatitis (NASH) an aggressive type of fatty liver disease that can lead to advanced scarring (cirrhosis) and liver failure. In addition to the risk of liver failure, there is a higher chance of developing liver cancer or total liver dysfunction.


NAFLD Spectrum


The damage caused by NASH is close to damage caused by heavy alcohol consumption.

Is NAFLD reversible?

NAFLD detected at an early stage is reversible and further complications can be avoided before Cirrhosis develops.


Reversible and irreversible liver disease

How to prevent NAFLD?

The best way to prevent NAFLD is to live a routine that includes daily exercise, monitoring eating patterns, and keeping track of your weight, remembering the adage "health is wealth."
Improved regulation of pre-existing medical conditions, such as blood glucose levels in diabetics, can also help prevent NAFLD from developing and progressing.


How to protect the liver from NAFLD?

Changes in liver cells

1. No more than one fast-food meal per week is allowed. That will be a significant downshift for some people. A visit to a fast-food restaurant, on the other hand, should be treated as a special occasion rather than a daily occurrence for the sake of your wellbeing.

2. When eating fast food, try to eat as healthily as possible. Stop fries and sugary soft drinks, order burger without mayo and cheese. Better if you will order a grilled chicken sandwich with a low-fat salad and bottled water or diet soda.

3. Get moving. Start exercising at least three days a week if you haven't already. Regular exercise helps you maintain a healthy weight and allows the body to properly metabolise and digest the food you consume.

4. Request a blood test from your doctor to determine your level of liver enzymes, which is an important indicator of your liver's health. For adults, several doctors now order this test as a routine, but kids who eat a lot of fast food particularly need to get their liver enzymes tested.


How is unhealthy lifestyle related to the liver disease?

Fatty liver disease is becoming more common as a result of urbanisation. Changes linked to sedentary lifestyles, fatty foods, uncontrolled blood sugar, obesity, smoking, and excessive alcohol consumption is making people prone to liver diseases. Being overweight or obese has health consequences that can affect your physical, social, and emotional well-being. The easiest way to avoid NAFLD is to maintain a healthy weight by maintaining a well-balanced diet and staying active. Hope this segment was able to relate fast food and liver health. And what are its consequences.


How well-balanced diet benefits the liver health?

Diet is undeniably important for human health. A balanced diet with the right amounts of carbohydrates, proteins, and fats (the macronutrients), as well as vitamins and minerals, is considered safe and nutritious (the micronutrients). Experts agree that an unhealthy and unbalanced diet will lead to the creation of a fatty liver, giving up unhealthy eating habits can help reverse the disease.
Hope this segment was able to make you understand the imporatnce of healthy food for healthy liver. Also the relation between fast food and liver damage.

Healthy food for Healthy liver

The cells in our bodies need energy to work properly, and this energy comes from the glucose in our food. The carbohydrates in our diet are the primary source of this metabolic fuel, glucose. A high-carbohydrate diet causes it to be converted into glycogen, which is then stored as visceral fat.
Proteins are the components that make up our bones and muscles. Proteins are converted to glucose instead of being used in muscle building when you live a sedentary lifestyle. This ensures that glucose is produced in the body even when there are no carbohydrates in the diet. Aside from that, when a person's diet is low in carbohydrates, the body begins to use the glycogen reserves contained in the body, automatically reversing obesity, and melting away visceral fat. To reverse a fatty liver disease, cut back on carbohydrates and eliminate all sugars so the diet cannot be protein deficient (may result muscle breakdown).

Dieticians and nutritionists have provided the green light to high protein foods like beef, eggs, pulses, soybeans, and cottage cheese. Raw vegetables and fruits have vitamins and minerals in the diet. As a result, a balanced diet must include plenty of salads, vegetables, and juices. The bulk of the food, on the other hand, must come from fibre. Fibre deficiency harms the intestinal lining, which in turn harms the liver.

Finally, a healthy food for healthy liver should be low in carbohydrates, moderate in fats, and high in protein, with plenty of fruits and vegetables. It will not only maintain a healthy liver, but it will also keep a person in excellent health.

Through blog We hope that we could make you understand how fast food and liver health is connected. Therefore it is necessary that one should consume healthy food for healthy liver.

Healthy Diet healthy life

Conclusion

When a person changes their lifestyle, the benefits can sometimes be felt right away: increased energy, better sleep, and the ability to focus. In the second stage, we can see positive changes in sugar levels, cholesterol levels, blood pressure, weight, waist circumference, and micronutrient blood supply. When you don't eat well, it's also difficult to see the internal harm because the effects are subtle. However, we know that we are made of what we consume because of the various functions of each organ. So make sure you fuel your body properly, as it is your most useful tool for completing all of the tasks that motivate you.


Related Topics

1 Vitamin B12, one of eight B vitamins is a cofactor in DNA synthesis, and in both fatty acid and amino acid metabolism. Its deficiency can lead to Anaemia. Read more: How much Vitamin B12 is required daily?

2 Turmeric is a medicinal herb, which has many scientifically proven health benefits. Curcumin its most active ingredient, is used in certain medicine. Read more: Can we take Turmeric daily?

3 Yes indeed we can take Probiotics daily. Probiotics are beneficial bacteria that help keep the body healthy and functioning properly.
Read more: Can we take Probiotics daily?

Need more such information on health and well-being, Visit our Blog: nutralogicx.com/blogs/




The above essentials are available with Livocumin

Nutralogicx: Livocumin Livocumin is the combination of natural ingredients like Curcumin, Ardraka (Ginger), Katuka, Yavakshara, Chitraka, March (Black pepper), Sarjikakshara, Amlakai (Amla), Chuna, Haritaki
It helps in the management of NAFLD (Non Alcoholic Fatty Liver Disease), Infective Hepatitis, Gall Stones, Jaundice & Indigestion.

कैसे फास्ट फूड अपने जिगर को नुकसान पहुंचा सकता है?



फास्ट फूड और जिगर

वर्तमान तेज और डिजिटल जीवन में, जहां सिर्फ एक क्लिक के साथ हम तुरंत काम करने में सक्षम हैं, हमारा स्वास्थ्य एक गौण ले रहा है। आसीन जीवन शैली के साथ और हम क्या खा रहे हैं, सुरक्षित, असुरक्षित, कार्बनिक, अकार्बनिक हमारे स्वास्थ्य एक टॉस के लिए जा रहा है के प्रति जागरूक नहीं है । यह ज्ञात किया गया है कि फास्ट फूड के संयोजन और शारीरिक गतिविधि की कमी पर्याप्त जिगर की क्षति का कारण बन सकती है। जिन खाद्य पदार्थों में वसा और चीनी की मात्रा अधिक होती है जैसे तला हुआ/फास्ट फूड आपके स्वास्थ्य, विशेष रूप से यकृत स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। उच्च नमक या सोडियम सामग्री के साथ भोजन का सेवन करने पर वसा और चीनी के अलावा यह तरल पदार्थ का निर्माण और यकृत में सूजन की ओर जाता है।
असुरक्षित और अस्वस्थ भोजन कई प्रकार की बीमारियों का कारण बन सकता है, जिसके परिणामस्वरूप न केवल मौतें होती हैं बल्कि व्यक्तिकी भलाई भी प्रभावित होती है ।

जंक फूड क्या है?

'जंक' शब्द कुछ ऐसा है जो बेकार, संयुक्त राष्ट्रचाहता था, और अनावश्यक है। पिज्जा, बर्गर, फ्रेंच फ्राइज़, रोल, रैप, चाट, वड़ा पाव, भुजियास, समोसे जैसे खाद्य पदार्थों को 'जंक फूड' कहा जाता है। इन सभी फास्टफूडउत्पादों, जो हमारे देश के हर नुक्कड़ और cranny घुसपैठ की है, कबाड़ के रूप में संदर्भित कर रहे है क्योंकि वे पूरी तरह से इस परिभाषा उदाहरण । त्वरित भोजन की खपत न केवल आपकी कमर के लिए हानिकारक है, बल्कि यह आपके जिगर को उन तरीकों से भी नुकसान पहुंचा सकता है जो हेपेटाइटिसके करीबहैं।

फास्ट फूड को जंक फूड के रूप में क्यों वर्गीकृत किया जाता है ?

इसमें कोई संदेह नहीं है कि जंक फूड स्वादिष्ट रूप से नशे की लत है। वेफर्स, मसाला स्नैक्स, टॉफी और कैंडीज आपको खुश कर सकते हैं, लेकिन क्या एनओटीको उनकी स्वादिष्टता से बेवकूफ बनाया जाए । वे एकखाली कैलोरी से भरा फिर सेऔर अपनी भलाई के लिए हानिकारक हो सकता है । पिज्जा और बर्गर में सब्जियां, मांस और अन्य पौष्टिक तत्व होते हैं, लेकिन वे अक्सर परिष्कृत आटा, प्रसंस्कृत पनीर, सॉस और ड्रेसिंग के साथ बनाए जाते हैं, जिनमें से सभी कैलोरी में उच्च होते हैं। तथ्य यह है कि फास्ट फूड कृत्रिम स्वाद, रंगों, संरक्षकों और अन्य योजकों से सजी है, जिससे यह जानना असंभव है कि आप क्या खारहे हैं।


जंक फूड/फास्ट फूड से जुड़ी समस्याएं?

हालांकि बच्चे इन खाद्य पदार्थों का आनंद लेते हैं, लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि उन्हें नियमित आधार पर फास्ट फूड खाने के नकारात्मक प्रभावों का एहसास हो। जंक फूड इस तरह की समस्या पैदा कर सकता है
1. मोटापा
2. पुरानी बीमारी,
3. कम आत्मसम्मान,
4. अवसाद, साथ ही छात्रों के शैक्षणिक और पाठ्येतर प्रदर्शन को प्रभावित करता है।

इसके अलावा एक नए अध्ययन में पता चला कि जो बच्चे जंक फूड खाते हैं, उनके लिवर की समस्याएं बढ़ने की संभावना ज्यादा होती है।


फास्ट फूड लिवर को कैसे प्रभावित करता है ?

आपका जिगर आपको बताता है कि यदि आप संतुलित आहार खाते हैं तो आप एक अच्छा काम कर रहे हैं। आपको संदेश मिलता है कि आपका जिगर अच्छी तरह से कार्य करने में सक्षम है, और जब तक आपका समग्र स्वास्थ्य स्वस्थ है, तब तक आप उत्कृष्ट शारीरिक स्थिति में महसूस करते हैं।

दूसरी ओर, यदि आप क्या खाते हैं, यह न देखें तो आपका लीवर बेकार है। जब आप वसायुक्त या तले हुए खाद्य पदार्थ और बहुत अधिक नमक खाते हैं, तो वास्तव में आपके जिगर पर हमला होता है। अगर आप इसकी मदद नहीं करते हैं तो आपका लिवर आपकी मदद नहीं कर सकता । अंतिम परिणाम यकृत रोग है, साथ ही अन्य अंगों को प्रभावित करने वाली संभावित बीमारियांभी हैं। जिगर हमारे शरीर का इंजन है, जो हमें भोजन को अवशोषित करने और हानिकारक विषाक्त पदार्थों को खत्म करने में मदद करता है, अन्य बातों के अलावा। एनऑन-एएलसीओोलिक एफएटी एलइवर डीआइसीईज (एनएएफएलडी) उन लोगों को प्रभावित कर सकता है जिन्होंने कभी शराब का सेवन नहीं किया है। मधुमेह, मोटापा और उच्च ट्राइग्लिसराइड्स जैसे कारक यकृत को उतना ही नुकसान पहुंचाते हैं जितना शराब करता है। जो लोग अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त हैं, उनके NAFLD विकसित होने की संभावना अधिक होती है।


जिगर के कार्य

जिगर मानव शरीर का मुख्य आंतरिक अंग है। मैंभी पाचन और विषहरण में सबसे आवश्यक भूमिकाओं में से एक करता है ।

जिगर, वास्तव में, महत्वपूर्ण कार्यों की एक किस्म में कार्य करता है।
1. यह खून से एस्ट्रोजन और एल्डोस्टेरोन को बाहर निकालता है।
2. यह विषहरण के अलावा वसा, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के मेटाबोलाइजेशन में शामिल है।
3. पित्त यकृत द्वारा गठित पदार्थ है जो वसा और कुछ विटामिन के पाचन और अवशोषण में सहायक होता है।
4. जिगर अन्य विटामिन, खनिज और ग्लाइकोजन भंडार भी संग्रहित करता है।

एक स्वस्थ जिगर के महत्व को अतिरंजित नहीं किया जा सकता है। नतीजतन, यह महत्वपूर्ण है कि हम अपने जिगर के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए यह अपने कार्यों को ठीक से प्रदर्शन करने के लिए ।


गैर शराबी फैटी जिगर की बीमारी क्या है ?


स्वस्थ जिगर और वसा लीवर

गैर-अल्कोहलफैटी लिवर डिजीज (NAFLD) एक ऐसा शब्द है जो विभिन्न प्रकार के यकृत रोगों के लिए दिया जाता है जो गैर-शराबी लोगों या उन लोगों को प्रभावित करते हैं जो ज्यादा शराब नहीं पीते हैं। एनएएफएफडी की विशेषता है कि यकृत कोशिकाओं में वसा की अधिकता होती है।

1. एनएएफएफडी में ईएक्ससेस फैट लिवर में अत्यधिक ट्राइग्लिसराइड्स के रूप में जमा होता है, जो हेपेटोसाइट्स नामक लिवर कोशिकाओं के 5% से अधिक पर कब्जाकरता है। सी ओमपेरिसन प्राकृतिक परिस्थितियों के लिए, इसका मतलब है कि वेंईअतिरिक्त वसा जिगर का 5% वजन बनाताहै(सामान्य स्थिति में यकृत में शायद ही कोई वसा मौजूद होता है)।


गैर-अल्कोहलफैटी लिवर डिजीज


2. फैट लिवर सेल्स को नुकसान पहुंचाता है, जिससे सूजन और फाइब्रोसिस होता है। इस सूजन और फाइब्रोसिस कोगैर-अल्कोहलिकस्टीटोहेपेटाइटिस (नैश) केरूप में एक आक्रामक प्रकार की फैटी लिवर रोग के रूप में चित्रित किया जाता है जो उन्नत जख्म (सिरोसिस) और यकृत विफलता का कारण बन सकताहै। जिगर की विफलता के जोखिम के अलावा, जिगर के कैंसर या कुल जिगर की शिथिलता के विकास की संभावना अधिक है।


NAFLD स्पेक्ट्रम

क्या NAFLD प्रतिवर्ती है?

प्रारंभिक चरण में पता लगाया गया NAFLD प्रतिवर्ती है और सिरोसिस विकसित होने से पहले आगे की जटिलताओं से बचा जा सकता है।


प्रतिवर्ती और अपरिवर्तनीय यकृत रोग

एनएएफएलडी को कैसे रोका जाए?

NAFLD को रोकने का सबसे अच्छा तरीका एक दिनचर्या है जिसमें दैनिक व्यायाम, खाने के पैटर्न की निगरानी, और अपने वजन का ट्रैक रखना, कहावत को याद रखना है "स्वास्थ्य धन है।
मधुमेह रोगियों में रक्त शर्करा के स्तर के रूप में पहले से मौजूद चिकित्सा शर्तों के बेहतर विनियमन, एकlso विकास और प्रगति से NAFLD को रोकने में मदद कर सकते हैं ।


एनएएफएलडी से अपने जिगर की रक्षा कैसे करें ?

यकृत कोशिकाओं में परिवर्तन

1. प्रति सप्ताह एक से अधिक फास्ट फूड भोजन की अनुमति नहीं है । यह कुछ लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण डाउनशिफ्ट होगा । एक फास्ट फूड रेस्तरां के लिए एक यात्रा, दूसरी ओर, अपनी भलाई के लिए एक दैनिक घटना के बजाय एक विशेष अवसर के रूप में माना जाना चाहिए ।

2. फास्ट फूड खाते समय, जितना संभव हो उतना स्वस्थ खाने की कोशिश करें। फ्राइज़ और मीठा शीतल पेय बंदकरो, मेयो और पनीर के बिना बर्गर आदेश। बेहतर होगा अगर आप कम वसा वाले सलाद और बोतलबंद पानी या डाइट सोडा के साथ ग्रील्ड चिकन सैंडविच ऑर्डर करेंगे।

3. आगे बढ़ जाओ। यदि आप पहले से ही नहीं हैं तो सप्ताह में कम से कम तीन दिन व्यायाम करना शुरू करें। नियमित व्यायाम आपको स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद करता है और शरीर को आपके द्वारा उपभोग किए जाने वाले भोजन को ठीक से मेटाबोलाइज करने और पचाने की अनुमति देता है।

4. अपने डॉक्टर से रक्त परीक्षण का अनुरोध करें ताकि आपके जिगर एंजाइमों का स्तर निर्धारित किया जा सके, जो आपके जिगर के स्वास्थ्य का एक महत्वपूर्ण संकेतक है। वयस्कों के लिए, कई डॉक्टरों अब एक दिनचर्या के रूप में इस परीक्षण के आदेश, लेकिन बच्चों को जो फास्ट फूड का एक बहुत खाने के लिए विशेष रूप से अपने जिगर एंजाइमों परीक्षण प्राप्त करने की जरूरत है ।


जिगर की बीमारी से संबंधित अस्वस्थ जीवन शैली कैसे है ?

शहरीकरण के परिणामस्वरूप फैटी लिवर रोग अधिक आम होता जा रहाहै । सीगतिहीन जीवन शैली, वसायुक्त खाद्य पदार्थ, अनियंत्रित रक्त शर्करा, मोटापा, धूम्रपान, और अत्यधिक शराब के सेवन से जुड़े हैंंग लोगों को जिगर की बीमारियों का खतरा बना रहे हैं। अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त होने के कारण स्वास्थ्य परिणाम होते हैं जो आपके शारीरिक, सामाजिक और भावनात्मक कल्याण को प्रभावित कर सकते हैं। NAFLD से बचने का सबसे आसान तरीका यह है कि एक अच्छी तरह से संतुलित आहार बनाए रखकर और सक्रिय रहने के द्वारा एक स्वस्थ वजन बनाए रखें।


कितनी अच्छी तरह से संतुलित आहार लीवर के स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है?

आहार निर्विवाद रूप से मानव स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा (मैक्रोन्यूट्रिएंट्स), साथ ही विटामिन और खनिजों की सही मात्रा के साथ एक संतुलित आहार, सुरक्षित और पौष्टिक (सूक्ष्म पोषक तत्व) माना जाता है। विशेषज्ञों का मानना हैकि एक अस्वस्थ और असंतुलित आहार एक फैटी जिगर के निर्माण के लिए नेतृत्व करेंगे, अस्वस्थ खाने की आदतों को देने से रोग रिवर्स मदद कर सकते हैं ।


स्वस्थ आहार, स्वस्थ जिगर

हमारे शरीर में कोशिकाओं को ठीक से काम करने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती है और यह ऊर्जा हमारे भोजन में ग्लूकोज से आती है। हमारे आहार में कार्बोहाइड्रेट इस मेटाबॉलिक ईंधन, ग्लूकोज का प्राथमिक स्रोत हैं। एक उच्च कार्बोहाइड्रेट आहार के कारण इसे ग्लाइकोजन में परिवर्तित किया जाता है, जिसे फिर आंत वसा के रूप में संग्रहीत किया जाता है।
प्रोटीन वे घटक हैं जो हमारी हड्डियों और मांसपेशियों को बनाते हैं। प्रोटीन को मांसपेशियों के निर्माण में उपयोग करने के बजाय ग्लूकोज में परिवर्तित किया जाता है जब आप एक गतिहीन जीवन शैली जीते हैं। यह सुनिश्चित करता है कि आहार में कार्बोहाइड्रेट न होने पर भी शरीर में ग्लूकोज का उत्पादन होता है। इसके अलावा, जब किसी व्यक्ति का आहार कार्बोहाइड्रेट में कम होता है, तो शरीर शरीर में निहित ग्लाइकोजन भंडार का उपयोग करना शुरू कर देता है, स्वचालित रूप से मोटापे को पीछे कर देता है, और आंत की चर्बी को पिघलाता है। एक फैटी जिगर की बीमारी रिवर्स करने के लिए, कार्बोहाइड्रेट पर वापस कटौती और सभी शर्करा को खत्म तो आहार प्रोटीन की कमी नहीं हो सकता है (मांसपेशियों के टूटने का परिणाम हो सकता है) ।

आहार विशेषज्ञों और पोषण विशेषज्ञों ने बीफ, अंडे, दालें, सोयाबीन और पनीर जैसे उच्च प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थों को हरी बत्ती प्रदान की है। कच्ची सब्जियों और फलों की डाइट में विटामिन और मिनरल्स होते हैं। नतीजतन, एक संतुलित आहार में सलाद, सब्जियां और रस बहुत शामिल होने चाहिए। दूसरी ओर, भोजन का थोक फाइबर से आना चाहिए। फाइबर की कमी आंतों की परत को नुकसान पहुंचाती है, जो बदले में लिवर को नुकसान पहुंचाती है।

अंत में, एक जिगर-स्वस्थ आहार कार्बोहाइड्रेट में कम होना चाहिए, वसा में मध्यम, और प्रोटीन में उच्च, फल और सब्जियों के बहुत सारे के साथ। इससे न केवल स्वस्थ लिवर बरकरार रहेगा, बल्कि यह व्यक्ति को बेहतरीन स्वास्थ्य में भी रखेगा।


स्वस्थ आहार,  स्वस्थ जिगर

निष्कर्ष

जब कोई व्यक्ति अपनी जीवनशैली में परिवर्तन करता है, तो लाभ कभी-कभी तुरंत महसूस किए जा सकते हैं: ऊर्जा में वृद्धि, बेहतर नींद, और ध्यान केंद्रित करने की क्षमता। दूसरे चरण में, हम शर्करा के स्तर, कोलेस्ट्रॉल के स्तर, रक्तचाप, वजन, कमर परिधि, और सूक्ष्म पोषक रक्त की आपूर्ति में सकारात्मक परिवर्तन देख सकते हैं। जब आप अच्छी तरह से नहीं खाते हैं, तो आंतरिक नुकसान देखना भी मुश्किल होता है क्योंकि प्रभाव सूक्ष्म होते हैं। हालांकि, हम जानते हैं कि हम प्रत्येक अंग के विभिन्न कार्यों के कारण जो उपभोग करते हैं, उससे बने होते हैं। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप अपने शरीर को ठीक से ईंधन देते हैं, क्योंकि यह उन सभी कार्यों को पूरा करने के लिए आपका सबसे उपयोगी उपकरण है जो आपको प्रेरित करते हैं।


संबंधित विषय :

1 विटामिन बी 12, आठ बी विटामिनों में से एक डीएनए संश्लेषण में एक कॉफ़ेक्टर है, और फैटी एसिड और एमिनो एसिड चयापचय दोनों में। इसकी कमी से एनीमिया हो सकता है। अधिक पढ़ें: प्रतिदिन विटामिन बी 12 की कितनी आवश्यकता होती है?

2 हल्दी एक औषधीय जड़ी बूटी है, जिसके कई वैज्ञानिक रूप से सिद्ध स्वास्थ्य लाभ हैं। करक्यूमिन इसका सबसे सक्रिय घटक है, जिसका उपयोग कुछ दवाओं में किया जाता है। अधिक पढ़ें: क्या हम प्रतिदिन हल्दी ले सकते हैं?

3 हाँ वास्तव में हम प्रोबायोटिक्स दैनिक ले सकते हैं। प्रोबायोटिक्स फायदेमंद बैक्टीरिया होते हैं जो शरीर को स्वस्थ और ठीक से काम करने में मदद करते हैं ।
अधिक पढ़ें: क्या हम प्रतिदिन प्रोबायोटिक्स ले सकते हैं?

स्वास्थ्य और कल्याण के बारे में अधिक जानकारी के लिए, हमारे ब्लॉग पर जाएँ: न्यूट्रालॉजिक्स.कॉम/ब्लॉग/




उपर ब्लॉग में बताई गई उपलब्धियाएं लिवोक्युमिन (Livocumin) के साथ उपलब्ध हैं
लिवोक्युमिन (Livocumin) कुरक्युमिन, अर्द्राका (अदरक), कतुका, यवक्षरा, चित्रका, मार्च (काली मिर्च), सर्जिक्कशारा, अमलकाई (आंवला), चूना, हरिताकी जैसे प्राकृतिक अवयवों का संयोजन है।
यह NAFLD (नॉन अल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज), इंफेक्टिव हेपेटाइटिस, पित्त की पथरी, पीलिया और अपच के प्रबंधन में मदद करता है।
Nutralogicx: Livocumin



AFDIL Ltd.
Ajit: +91 9920121021

order@afdil.com

Read Also:


Disclaimer
Home