COVID-19 Test

COVID-19 test

Introduction

The COVID-19 pandemic is still ongoing. It presents major challenges to seafarers and shipowners due to the lockdown of countries, travel restrictions, changes in local regulations, problems accessing healthcare ashore when needed, and worries if crewmembers develop COVID-19-like symptoms while at sea. In some countries and regions, the infection numbers are still rising while in others, the infection rate is declining with many countries and regions slowly opening to greater human interaction. One of the critical features in addressing the pandemic as well as easing lockdown has been testing for the disease. Gard receives many questions about the use of tests, and has sought the assistance and expertise of doctors at the Norwegian Centre for Maritime and Diving Medicine to help answer some of the questions.
Although the Coronavirus that causes COVID-19 is relatively new to us, the virus behaves like other viruses in the same family. Other Coronaviruses include SARS and MERS as well as the more innocent, common cold producing Coronaviruses that regularly go around in society. Our bodies respond to the virus that produces COVID-19 in a similar fashion as to other viruses. When the body is infected, the immune system recognizes the virus as something alien and starts combatting it. Because the efficiency of our immune systems varies between individuals, the strength, speed, and effectiveness of the response to the virus will vary between people.
When testing for the virus, one can either test for the presence of the virus or the presence of an immune response to the virus. The testing methods that look for an active virus in the body, are called PCR-tests and antigen tests. For a virus to be active, it must have started spreading in the body. This means that if the test is taken too early after a person has been exposed to the virus, the virus might not be detected. Furthermore, the virus can sometimes be found in the body long after a person has recovered from the disease. The PCR-tests and antigen tests therefore say nothing about how ill or infectious the person is. PCR-tests are in general costly, labor intensive, and are mostly performed at hospitals and in other health care settings. In the future antigen tests might be developed into point-of-care tests that can be used locally.
The testing method that looks for the immune response to the virus is called an antibody test. Whenever a person has been infected by a virus, the individual’s immune system forms several different types of antibodies. However, the rate at which they form, varies between people. This means that an antibody test can be used to confirm that a person has had the Coronavirus, but it is unreliable during the first 8-10 days of the disease. Furthermore, some antibody tests will react to antibodies formed to other Coronaviruses than the one that produces COVID-19. The medical community therefore never uses a positive antibody test alone to confirm COVID-19. An additional PCR-test is needed.

The quality of tests
Currently, only antibody tests are commercially available as rapid tests. PCR-tests can be taken locally, but the swab must be transported to and analyzed at a laboratory. Antigen tests might become available as point-of-care tests in the future. Although PCR-tests are the gold standard for tests, they still miss an infection in up to 30 % of cases. This is largely due to when in the course of the disease the swab was taken, errors when taking the swab, transport issues and errors at the laboratory.
Available antibody tests vary greatly in quality. In a recent evaluation of eleven rapid tests for detection of antibodies against the virus causing COVID-19, the financially independent agency The Norwegian Organization for Quality Improvement of Laboratory Examinations (Noklus) found that only 4 of the eleven tests held high enough quality to be recommended for use. The full report of the evaluation was published on 24 April 2020 and can be downloaded from the Noklus’ website.
If you do want an antibody test, you have to look for a test that tests the two types of antibody called IgG and IgM. To be useful outside health care settings, the test needs to be done with a “lancet”, a small sharp needle that pricks the finger to draw a drop of blood to test. The test further needs to be specific for the type of Coronavirus that gives COVID-19. You should also choose a test that is CE-marked or has been given emergency use authorization by the Food and Drug Administration (FDA) of the United States. An updated list of tests that have been given emergency use authorization by FDA can be found here.

Be aware of the false security derived from tests
Most people tend to think that if you test for something, without finding anything, then it means that whatever you tested for is not there. Unfortunately, that is not necessarily true. First of all, a test shows the status at a specific point in time. The test does not say anything about the future or what happens after the test is done. Secondly, although tests can confirm that a person is or was infected by a Coronavirus, no tests can be used to say for sure that a person is not infected by Coronavirus. Thirdly, all tests come with a built-in uncertainty, which includes how accurate they are and how specific they are. That means the tests sometimes do not detect what they are supposed to detect (false negative), and sometimes they say that something is there, when it is not (false positive).
All test should therefore be used in collaboration with health care personnel who know the quality of that particular test, and who can relate the answer of the test to the person’s symptoms or history.

COVID-19 test 2

Types of test

PCR test
Also called a molecular test, this COVID-19 test detects genetic material of the virus using a lab technique called polymerase chain reaction (PCR). A fluid sample is collected by inserting a long nasal swab (nasopharyngeal swab) into your nostril and taking fluid from the back of your nose or by using a shorter nasal swab (mid-turbinate swab) to get a sample. In some cases, a long swab is inserted into the back of your throat (oropharyngeal swab), or you may spit into a tube to produce a saliva sample. Results may be available in minutes if analyzed onsite or a few days — or longer in locations with test processing delays — if sent to an outside lab. PCR tests are very accurate when properly performed by a health care professional, but the rapid test can miss some cases.
Antigen test
This COVID-19 test detects certain proteins in the virus. Using a long nasal swab to get a fluid sample, some antigen tests can produce results in minutes. Others may be sent to a lab for analysis. A positive antigen test result is considered accurate when instructions are carefully followed, but there's an increased chance of false-negative results — meaning it's possible to be infected with the virus but have a negative result. Depending on the situation, the doctor may recommend a PCR test to confirm a negative antigen test result.
A PCR test called the Flu SC2 Multiplex Assay can detect any of three viruses at the same time: the COVID-19 virus, influenza A and influenza B (flu). Only a single sample is needed to check for all three viruses, and this could be helpful during the flu season. But a negative result does not rule out the possibility of any of these infections. So the diagnostic process may include more steps, depending on symptoms, possible exposures and your doctor's clinical judgment.

Why testing is done
You have COVID-19 symptoms, such as fever, cough, tiredness or shortness of breath
You don't have symptoms but you've had close contact with someone who tests positive for the COVID-19 virus or is suspected of having the virus. Close contact means you’ve been within 6 feet (2 meters) of a person who has COVID-19. But if you've been fully vaccinated or tested positive for COVID-19 within the past three months, you don’t need to get tested.
You've participated in activities that increase your risk of COVID-19 and did not stay at least 6 feet away from others — examples include travel, large gatherings or crowded indoor settings.
Your doctor or other health care professional or your public health department recommends a test
Certain groups are considered high priority for diagnostic testing. These include people with COVID-19 signs and symptoms who:

Work in a health care facility or as first responders
Live or work in long-term care facilities, such as nursing homes, or other places where people are housed closely together, such as prisons or shelters Are being cared for in a hospital.Other people may be given priority for testing depending on local health department guidelines for monitoring COVID-19 in individual communities.
Some people who are infected with the COVID-19 virus may be asymptomatic, meaning they don't have any signs or symptoms. But they can still transmit the virus to others. In some areas of the U.S., testing is available to asymptomatic people. If people without symptoms have a positive test result, they should follow guidelines for self-isolation to help curb the spread of the virus.
The availability of COVID-19 diagnostic testing and where to get tested may vary depending on where you live and the recommendations of your local public health officials.

Risks in testing for covid-19
There's a chance that your COVID-19 diagnostic test could return a false-negative result. This means that the test didn't detect the virus, even though you actually are infected with it. You risk unknowingly spreading the virus to others if you don't take proper precautions, such as following social distancing guidelines and wearing a face mask when appropriate. There's also a chance that a COVID-19 rapid antigen test can produce false-positive results — indicating an infection when actually there isn't one — if instructions aren't carefully followed.
The risk of false-negative or false-positive test results depends on the type and sensitivity of the COVID-19 diagnostic test, thoroughness of the sample collection, and accuracy of the lab analysis.Be wary of any offers for at-home COVID-19 tests that the FDA has not cleared for use — they often give inaccurate results.

How you prepare for testing
Whether or not you have symptoms, plan to wear a face mask to and from your doctor's office or the testing center, and have anyone who comes with you wear one, too.If you think you may have COVID-19, call your doctor's office or your local health department to review your symptoms and ask about testing before you go in, so staff can prepare for your visit, wearing personal protective equipment.
If you have no symptoms but you've been in close contact with someone who has COVID-19, follow the testing advice of your doctor or public health department. Having a COVID-19 test 5 to 7 days after you were close to the person with COVID-19 is best. If you're tested too soon, the test may not detect the virus.
If you think you may have COVID-19, call your doctor's office to review your symptoms, if any, and ask about testing. Then your doctor and other staff can prepare for your visit, wear personal protective equipment, and give you instructions about where to go and how the test will be done. Plan to wear a face mask to and from the testing center, and have anyone who accompanies you wear one, too.If you have no symptoms and have not knowingly been in contact with someone infected with the COVID-19 virus, but you want to get tested, ask your health care provider whether and where testing is available. Or you can call your state or local health department or visit their website for information on testing.

What you can expect
For a COVID-19 test, a health care professional takes a sample of mucus from your nose or throat, or a sample of saliva. The sample needed for diagnostic testing may be collected at your doctor's office, a health care facility or a drive-up testing center.

Nose or throat swab
A long nasal swab (nasopharyngeal swab) is recommended, though a shorter nasal swab or throat swab is acceptable. Your doctor or other health care professional inserts a thin, flexible stick with cotton at the tip into your nose or brushes the swab along the back of your throat to collect a sample of mucus. This may be somewhat uncomfortable. For the nasal sample, swabbing may occur in both nostrils to collect enough mucus for the test. The swab remains in place briefly before being gently rotated as it's pulled out. The sample gets sealed in a tube and sent to a lab for analysis.

Saliva sample
Some locations offer saliva tests. While a saliva sample may be a bit less sensitive than a mucus sample that's taken using a long nasal swab, a saliva COVID-19 test is easier to do and often less uncomfortable. You spit into a tube several times to provide a sample of your saliva to test. The tube is sealed before being sent to a lab for analysis.
If you have a productive cough, your doctor may collect a sputum sample, which contains secretions from the lungs, a part of the lower respiratory system. The virus is more concentrated in the nose and throat early in the course of the infection. But after more than five days of symptoms, the virus tends to be more concentrated in the lower respiratory system.In addition to the COVID-19 diagnostic test, your doctor may also test for other respiratory conditions, such as influenza, that have similar symptoms and could explain your illness.
The FDA granted emergency use authorization for certain at-home COVID-19 test kits, including one that tests for both COVID-19 and the flu. Most of these tests require a doctor's prescription. You collect your own sample of nasal fluid or saliva at home and then send it to a lab to be rapidly analyzed. One COVID-19 test provides fast results at home without sending the sample to a lab. And the FDA recently authorized an antigen test to buy over the counter with no prescription needed, though antigen tests are not considered as reliable as PCR tests.
The accuracy of each of these tests varies, so a negative test does not completely rule out having the COVID-19 virus. Only get an at-home test that's authorized by the FDA or approved by your doctor or local health department.

Supporting Your Child During COVID-19 Nasal Swab Testing
The purpose of this video is to prepare children for a nasal swab COVID-19 test, to help ease some of their potential fear and anxiety. When children are prepared to take a medical test, they become more cooperative and compliant, which creates a positive coping experience for them. This video has been made to be watched by children as young as 4 years old.
Show transcript for video Supporting Your Child During COVID-19 Nasal Swab Testing

Results
Some facilities have rapid testing for COVID-19 test. In that case, you may get your results in less than an hour or on the same day that you're tested. Other facilities may have to send the test sample to an outside lab for analysis. If they need to send out the sample, your results may not be available until a few days later.
Your COVID-19 diagnostic test result could be positive or negative.
Positive result
This means you currently have an active infection with the virus that causes COVID-19. Take appropriate steps to care for yourself and avoid spreading the virus to others. You'll need to self-isolate until: Your symptoms are improving, and it's been 24 hours since you've had a fever, and at least 10 days have passed since your symptoms first appeared.
If you have severe symptoms of COVID-19 or a health condition that lowers your ability to fight disease, your doctor may recommend that you stay in isolation longer. If you have a positive result but never developed symptoms, isolate for 10 days after the test.
Negative result
This means that you likely weren't infected with the COVID-19 virus. But a false-negative test result could happen depending on the timing and quality of the test sample.Even if you test negative, you could become infected in the future, so it's important to follow guidelines for social distancing, face mask use and hand-washing to avoid potential spread. Your doctor may recommend repeat testing if you continue to have symptoms.

Contact tracing
If you test positive for the COVID-19 virus — or your doctor suspects that you have the virus but you don't have test results yet — you may be asked to participate in contact tracing. Contact tracing plays a key role in limiting the spread of infectious diseases. The sooner contact tracing starts, the more effective it is in limiting virus spread.
To begin, you provide a list of people you had close contact with during the time you may have been contagious. Public health workers then get in touch with those close contacts to let them know about the exposure and their potential for being infected. Your identity is protected during this exchange of information.
The contact tracing team provides information on what close contacts can do to minimize the risk of spreading the virus. Steps may include getting a COVID-19 test, staying at home and away from others — called quarantine — after the exposure, learning about signs and symptoms, and taking other precautions.

COVID-19

Self testing for COVID-19

How does a self-test kit help?
Many states are going through a second wave of infections, putting pressure on diagnostics laboratories. The RT-PCR test, considered the gold standard for Covid-19 testing, takes 3-4 days to give results, delaying hospitalisation and treatment.Self-test kits can potentially be a game-changer in Covid-19 management in India. These can cut queues in laboratories, reduce costs, dissipate the burden on existing manpower for sample collection from homes, and provide quick results (within 15 minutes), leading to prompt treatment and isolation.
Such a self-test kit was first approved in the US last November. A rapid-result all-in-one test kit produced by Lucira Health was given emergency use authorisation. Similar kits have been approved in Europe and South Korea too.

What is the kit approved by ICMR?
Called CoviSelf, it has been developed by MyLab Discovery Solutions, a Pune-based molecular company. It uses a rapid antigen test, in which a nasal swab sample is tested for the virus and gives results within 15 minutes. Taking the test takes hardly two minutes.
This testing kit cost Rs 250, while RT-PCR test costs between Rs 400 to Rs 1,500 and a rapid antigen test in laboratory costs Rs 300-900 in different states.“For India, we will make millions of kits available at fraction of the cost of such kits in the US,” said Dr Hasmukh Rawal, managing director in MyLab. The kit will be available in market by end of next week. MyLab’s current production capacity is 70 lakh kits per week, and it plans to scale up to one crore kits per week in next fortnight. The kits will be available across at least seven lakh chemists and e-pharmacy portals in India, the company said.
“This easy-to-use test combines with MyLab’s AI-powered mobile app so that a user can know his/her positive status, submit the result to ICMR directly for traceability, and know what to do next in either result. We are sure this small step will be a big leap in mitigating the second and subsequent waves,” said Sujit Jain, director, MyLab Discovery Solutions.

Who can use this test?
ICMR has advised this test only for those who have symptoms or are high-risk contacts of positive patients and need to conduct a test at home. If positive, the person will be considered Covid-19 positive and will not require RT-PCR as a confirmatory test. All government guidelines for isolation and high-risk contact tracing will be followed. This test is synced with a mobile app, CoviSelf, which will help directly feed the positive case’s report on the ICMR portal. This test is not advised for general screening in public places of hawkers, show owners, or commuters.
If a person tests negative but has symptoms, he or she has to undergo RT-PCR test.

How do I test myself?
The kit comes with a pre-filled extraction tube, sterile nasal swab, a testing card, and biohazard bag. First download the CoviSelf app and enter all your details. The app will capture data on a secure server connected with the ICMR portal, where all test reports are available to government.
Before taking the test, sanitise your hands and clean the surface on which the kit is to be placed. Insert the swab into your nose 2-4 cm inside, or until it touches the back of nasal tract, and rub it well to collect the specimen. The swab is then swirled inside the extraction tube to mix with the liquid inside, the tube is tightly closed, and two drops from the extraction tube’s outlet are spilled onto the testing card.
The result comes within 15 minutes. A person is positive for Covid-19 if two lines appear on the testing card — on marker ’t’ for testing line, and ‘c’ for quality control line. If the person is negative, a single line appears on marker ‘c’. If the result takes more than 20 minutes to show, or if a line does not flash across marker ‘c’, then the test is invalid.Seal the tube and swab in the biohazard bag and dispose of it as biomedical waste.

What are the arguments in favour of, and against, self-testing?
A person testing himself at home rather than visiting a hospital or lab, or calling a technician at home, reduces the risk of transmission to others. Swab collection in this case is fairly simple and quick, and reduces overall testing expenditure and the stress of booking appointment in labs. Self-testing will reduce the burden on laboratories that are currently working 24 hours up to full capacity with manpower that is already saturated.On the flip side, the reliability of results remains a major concern. The likelihood of the sample not being collected correctly, or the swab stick getting contaminated, is high.
Also, rapid antigen tests come with a high chance of false negatives. If a Covid-infected person is asymptomatic and tests negative, the test may give a false sense of security. But by far the biggest concern is the difficulty in tracing positive patients. A person can feed a wrong address and details on the mobile app, making it impossible for health workers to carry out contact tracing. Alternatively, technical errors in the mobile app can hamper the entire testing and reporting process.While a rapid antigen test serves as a quick mass surveillance tool, over-dependence on it for testing is not advisable. It should only supplement, not form, the bulk of testing.

How effective is self-testing?
Self-tests can be effective if the patient follows isolation norms, feeds correct data and is able to interpret the results accurately.According to the European Centre for Disease Prevention and Control, “the reliability of the test result depends on a few factors: the ability of the person taking the sample and performing the test to follow instructions, the viral load at the time of the sampling, and the disease prevalence in the population when the test is taken”.
The European CDC released a document in March, stating self-testing can complement but not replace traditional testing methods. “Shifting the responsibility of reporting test results from health professionals and laboratories to individuals could lead to underreporting, and make response measures such as contract tracing and quarantine of contacts even more challenging,” the report said.
But a preprint in MedRxiv by three US researchers from Harvard and Yale argued that home testing could actually help in pandemic control and warrants being considered as part of national containment strategy.

COVID-19 2

Related topics:

1. What is bronchitis and how it's treatable ?

Bronchitis and its remedies

2. How harmfull is diverticulitis ?

Diverticulitis symptoms and treatment

3. Know more about boosting immunity

How to boost immunity




The above essentials are available with AFD SHIELD.
AFD Shield capsule is a combination of 12 natural ingredients among which are Algal DHA, Ashwagandha, Curcumin and Spirullina. AFD Shield reduces TG, increases HDL and improves age related cognitive decline. It also reduces stress and anxiety and performs anti-aging activity.Moreover, it also enhances the immunomodulatory activity, improves immunity and reduces inflammation and oxidative stress. Nutralogicx: AFD SHIELD

COVID-19 परीक्षण का परिचय और इसके प्रकार

COVID-19 test

परिचय

COVID-19 महामारी अभी भी जारी है। यह देशों के लॉकडाउन, यात्रा प्रतिबंधों, स्थानीय नियमों में बदलाव, जरूरत पड़ने पर स्वास्थ्य सेवा तक पहुंचने में समस्या, और अगर चालक दल के सदस्य समुद्र में COVID-19 जैसे लक्षण विकसित करते हैं, तो चिंता के कारण नाविकों और जहाज मालिकों के लिए बड़ी चुनौतियां प्रस्तुत करता है। कुछ देशों और क्षेत्रों में, संक्रमण की संख्या अभी भी बढ़ रही है, जबकि अन्य में, कई देशों और क्षेत्रों में संक्रमण दर घट रही है, जो धीरे-धीरे अधिक से अधिक मानवीय संपर्क के लिए खुल रही है। महामारी को संबोधित करने के साथ-साथ लॉकडाउन में ढील देने में महत्वपूर्ण विशेषताओं में से एक बीमारी के लिए परीक्षण है। गार्ड को परीक्षणों के उपयोग के बारे में कई प्रश्न मिलते हैं, और कुछ सवालों के जवाब देने में मदद के लिए नॉर्वेजियन सेंटर फॉर मैरीटाइम एंड डाइविंग मेडिसिन में डॉक्टरों की सहायता और विशेषज्ञता की मांग की है।
हालाँकि COVID-19 का कारण बनने वाला कोरोनावायरस हमारे लिए अपेक्षाकृत नया है, वायरस एक ही परिवार के अन्य वायरस की तरह व्यवहार करता है। अन्य कोरोनविर्यूज़ में सार्स और एमईआरएस के साथ-साथ अधिक निर्दोष, सामान्य सर्दी पैदा करने वाले कोरोनविर्यूज़ शामिल हैं जो नियमित रूप से समाज में घूमते रहते हैं। हमारा शरीर उस वायरस के प्रति प्रतिक्रिया करता है जो अन्य वायरस की तरह ही COVID-19 पैदा करता है। जब शरीर संक्रमित होता है, तो प्रतिरक्षा प्रणाली वायरस को कुछ एलियन के रूप में पहचान लेती है और उससे लड़ने लगती है। क्योंकि हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली की दक्षता व्यक्तियों के बीच भिन्न होती है, वायरस की प्रतिक्रिया की ताकत, गति और प्रभावशीलता लोगों के बीच भिन्न होगी।
वायरस के लिए परीक्षण करते समय, कोई या तो वायरस की उपस्थिति या वायरस के प्रति प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया की उपस्थिति के लिए परीक्षण कर सकता है। शरीर में एक सक्रिय वायरस की तलाश करने वाली परीक्षण विधियों को पीसीआर-परीक्षण और एंटीजन परीक्षण कहा जाता है। एक वायरस के सक्रिय होने के लिए, यह शरीर में फैलना शुरू हो गया होगा। इसका मतलब यह है कि यदि किसी व्यक्ति के वायरस के संपर्क में आने के बाद बहुत जल्दी परीक्षण किया जाता है, तो वायरस का पता नहीं चल सकता है। इसके अलावा, कभी-कभी किसी व्यक्ति के बीमारी से उबरने के बाद भी वायरस शरीर में पाया जा सकता है। इसलिए पीसीआर-परीक्षण और प्रतिजन परीक्षण इस बारे में कुछ नहीं कहते हैं कि व्यक्ति कितना बीमार या संक्रामक है। पीसीआर-परीक्षण आम तौर पर महंगे होते हैं, श्रम गहन होते हैं, और ज्यादातर अस्पतालों और अन्य स्वास्थ्य देखभाल सेटिंग्स में किए जाते हैं।
परीक्षण विधि जो वायरस के प्रति प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया की तलाश करती है उसे एंटीबॉडी परीक्षण कहा जाता है। जब भी कोई व्यक्ति वायरस से संक्रमित होता है, तो व्यक्ति की प्रतिरक्षा प्रणाली कई अलग-अलग प्रकार के एंटीबॉडी बनाती है। हालाँकि, जिस दर से वे बनते हैं, वह लोगों के बीच भिन्न होता है। इसका मतलब है कि एक एंटीबॉडी परीक्षण का उपयोग यह पुष्टि करने के लिए किया जा सकता है कि किसी व्यक्ति को कोरोनावायरस है, लेकिन यह बीमारी के पहले 8-10 दिनों के दौरान अविश्वसनीय है। इसके अलावा, कुछ एंटीबॉडी परीक्षण COVID-19 पैदा करने वाले की तुलना में अन्य कोरोनवीरस से बनने वाले एंटीबॉडी पर प्रतिक्रिया करेंगे। इसलिए चिकित्सा समुदाय कभी भी COVID-19 की पुष्टि के लिए अकेले सकारात्मक एंटीबॉडी परीक्षण का उपयोग नहीं करता है। एक अतिरिक्त पीसीआर-परीक्षण की आवश्यकता है।

परीक्षणों की गुणवत्ता
वर्तमान में, रैपिड टेस्ट के रूप में केवल एंटीबॉडी परीक्षण व्यावसायिक रूप से उपलब्ध हैं। पीसीआर-परीक्षण स्थानीय रूप से लिए जा सकते हैं, लेकिन स्वाब को प्रयोगशाला में ले जाया जाना चाहिए और उसका विश्लेषण किया जाना चाहिए। एंटीजन परीक्षण भविष्य में पॉइंट-ऑफ-केयर परीक्षण के रूप में उपलब्ध हो सकते हैं। हालांकि पीसीआर-परीक्षण परीक्षणों के लिए स्वर्ण मानक हैं, फिर भी वे 30% मामलों में संक्रमण से चूक जाते हैं। यह मुख्य रूप से तब होता है जब बीमारी के दौरान स्वैब लिया गया था, स्वैब लेते समय त्रुटियां, परिवहन के मुद्दे और प्रयोगशाला में त्रुटियां।
उपलब्ध एंटीबॉडी परीक्षण गुणवत्ता में बहुत भिन्न होते हैं। आर्थिक रूप से स्वतंत्र एजेंसी द नॉर्वेजियन ऑर्गनाइजेशन फॉर क्वालिटी इम्प्रूवमेंट ऑफ लेबोरेटरी एक्जामिनेशन (नोक्लस) ने हाल ही में COVID-19 पैदा करने वाले वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी का पता लगाने के लिए ग्यारह रैपिड परीक्षणों के मूल्यांकन में पाया कि ग्यारह परीक्षणों में से केवल 4 में ही उच्च गुणवत्ता थी। उपयोग के लिए अनुशंसित। मूल्यांकन की पूरी रिपोर्ट 24 अप्रैल 2020 को प्रकाशित की गई थी और इसे नोकलस की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है।
यदि आप एक एंटीबॉडी परीक्षण चाहते हैं, तो आपको एक ऐसे परीक्षण की तलाश करनी होगी जो आईजीजी और आईजीएम नामक दो प्रकार के एंटीबॉडी का परीक्षण करे। स्वास्थ्य देखभाल सेटिंग्स के बाहर उपयोगी होने के लिए, परीक्षण को "लैंसेट" के साथ किया जाना चाहिए, एक छोटी तेज सुई जो परीक्षण के लिए रक्त की एक बूंद खींचने के लिए उंगली को चुभती है। परीक्षण को आगे COVID-19 देने वाले कोरोनावायरस के प्रकार के लिए विशिष्ट होने की आवश्यकता है। आपको एक ऐसा परीक्षण भी चुनना चाहिए जो सीई-चिह्नित हो या संयुक्त राज्य अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) द्वारा आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण दिया गया हो। एफडीए द्वारा आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण दिए गए परीक्षणों की एक अद्यतन सूची यहां पाई जा सकती है।

परीक्षणों से प्राप्त झूठी सुरक्षा से अवगत रहें
ज्यादातर लोगों की यह सोच होती है कि अगर आप बिना कुछ पाए किसी चीज के लिए टेस्ट करते हैं, तो इसका मतलब है कि आपने जो टेस्ट किया वह वहां नहीं है। दुर्भाग्य से, यह जरूरी नहीं कि सच हो। सबसे पहले, एक परीक्षण समय में एक विशिष्ट बिंदु पर स्थिति दिखाता है। परीक्षण भविष्य के बारे में या परीक्षण के बाद क्या होता है, इसके बारे में कुछ नहीं कहता है। दूसरे, हालांकि परीक्षण यह पुष्टि कर सकते हैं कि कोई व्यक्ति कोरोनावायरस से संक्रमित है या था, यह सुनिश्चित करने के लिए किसी भी परीक्षण का उपयोग नहीं किया जा सकता है कि कोई व्यक्ति कोरोनावायरस से संक्रमित नहीं है। तीसरा, सभी परीक्षण एक अंतर्निहित अनिश्चितता के साथ आते हैं, जिसमें यह शामिल है कि वे कितने सटीक हैं और कितने विशिष्ट हैं। इसका मतलब है कि परीक्षण कभी-कभी यह पता नहीं लगाते हैं कि उन्हें क्या पता लगाना है (झूठी नकारात्मक), और कभी-कभी वे कहते हैं कि कुछ है, जब यह नहीं है (झूठी सकारात्मक)।
इसलिए सभी परीक्षणों का उपयोग स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों के सहयोग से किया जाना चाहिए जो उस विशेष परीक्षण की गुणवत्ता को जानते हैं, और जो परीक्षण के उत्तर को व्यक्ति के लक्षणों या इतिहास से जोड़ सकते हैं।

COVID-19 test 2

परीक्षण के प्रकार

पीसीआर परीक्षण को
आणविक परीक्षण भी कहा जाता है, यह COVID-19 परीक्षण पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (पीसीआर) नामक एक प्रयोगशाला तकनीक का उपयोग करके वायरस की आनुवंशिक सामग्री का पता लगाता है। एक द्रव का नमूना आपके नथुने में एक लंबा नाक स्वाब (नासोफेरींजल स्वाब) डालकर और आपकी नाक के पीछे से तरल पदार्थ लेकर या एक नमूना प्राप्त करने के लिए एक छोटे नाक के स्वाब (मिड-टरबनेट स्वैब) का उपयोग करके एकत्र किया जाता है। कुछ मामलों में, आपके गले के पीछे (ऑरोफरीन्जियल स्वैब) में एक लंबा स्वाब डाला जाता है, या आप लार के नमूने का उत्पादन करने के लिए एक ट्यूब में थूक सकते हैं। परिणाम मिनटों में उपलब्ध हो सकते हैं यदि विश्लेषण ऑनसाइट या कुछ दिनों में - या परीक्षण प्रसंस्करण देरी वाले स्थानों में - यदि बाहरी प्रयोगशाला में भेजा जाता है। स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर द्वारा ठीक से किए जाने पर पीसीआर परीक्षण बहुत सटीक होते हैं, लेकिन तेजी से परीक्षण कुछ मामलों को याद कर सकते हैं।
प्रतिजन परीक्षण
यह COVID-19 परीक्षण वायरस में कुछ प्रोटीन का पता लगाता है। तरल पदार्थ का नमूना लेने के लिए लंबे नाक के स्वाब का उपयोग करते हुए, कुछ एंटीजन परीक्षण मिनटों में परिणाम दे सकते हैं। अन्य को विश्लेषण के लिए प्रयोगशाला में भेजा जा सकता है। एक सकारात्मक एंटीजन परीक्षण के परिणाम को सटीक माना जाता है जब निर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन किया जाता है, लेकिन झूठे-नकारात्मक परिणामों की संभावना बढ़ जाती है - जिसका अर्थ है कि वायरस से संक्रमित होना संभव है लेकिन नकारात्मक परिणाम है। स्थिति के आधार पर, डॉक्टर एक नकारात्मक एंटीजन परीक्षण परिणाम की पुष्टि करने के लिए पीसीआर परीक्षण की सिफारिश कर सकते हैं।
फ्लू SC2 मल्टीप्लेक्स परख नामक एक पीसीआर परीक्षण एक ही समय में तीन में से किसी भी वायरस का पता लगा सकता है: COVID-19 वायरस, इन्फ्लूएंजा ए और इन्फ्लूएंजा बी (फ्लू)। तीनों विषाणुओं की जांच के लिए केवल एक नमूने की आवश्यकता होती है, और यह फ्लू के मौसम में मददगार हो सकता है। लेकिन एक नकारात्मक परिणाम इनमें से किसी भी संक्रमण की संभावना से इंकार नहीं करता है। इसलिए नैदानिक ​​प्रक्रिया में लक्षणों, संभावित जोखिमों और आपके डॉक्टर के नैदानिक ​​निर्णय के आधार पर और कदम शामिल हो सकते हैं।

परीक्षण क्यों किया जाता है
आपके पास COVID-19 लक्षण हैं, जैसे बुखार, खांसी, थकान या सांस की तकलीफ
आपके पास लक्षण नहीं हैं, लेकिन आपने किसी ऐसे व्यक्ति के साथ निकट संपर्क किया है जो COVID-19 वायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण करता है या वायरस होने का संदेह है। निकट संपर्क का अर्थ है कि आप किसी ऐसे व्यक्ति से 6 फीट (2 मीटर) के दायरे में हैं, जिसे COVID-19 है। लेकिन अगर आपको पिछले तीन महीनों के भीतर पूरी तरह से टीका लगाया गया है या COVID-19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया गया है, तो आपको परीक्षण करवाने की आवश्यकता नहीं है।
आपने उन गतिविधियों में भाग लिया है जो आपके COVID-19 के जोखिम को बढ़ाती हैं और दूसरों से कम से कम 6 फीट दूर नहीं रहती हैं - उदाहरणों में यात्रा, बड़ी सभा या भीड़-भाड़ वाली इनडोर सेटिंग शामिल हैं।
आपका डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर या आपका सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग एक परीक्षण की सिफारिश करता है
कुछ समूहों को नैदानिक ​​परीक्षण के लिए उच्च प्राथमिकता माना जाता है। इनमें COVID-19 लक्षण और लक्षण वाले लोग शामिल हैं जो:

स्वास्थ्य देखभाल सुविधा
में काम करें या पहले उत्तरदाताओं के रूप में काम करें या दीर्घकालिक देखभाल सुविधाओं में काम करें, जैसे नर्सिंग होम, या अन्य स्थान जहां लोगों को एक साथ रखा जाता है, जैसे जेल या आश्रय अस्पताल में देखभाल की जा रही है। अन्य लोग व्यक्तिगत समुदायों में COVID-19 की निगरानी के लिए स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के दिशानिर्देशों के आधार पर परीक्षण के लिए प्राथमिकता दी जा सकती है।
कुछ लोग जो COVID-19 वायरस से संक्रमित हैं, उनमें बिना लक्षण वाले लक्षण हो सकते हैं, जिसका अर्थ है कि उनमें कोई लक्षण या लक्षण नहीं हैं। लेकिन वे अभी भी वायरस को दूसरों तक पहुंचा सकते हैं। अमेरिका के कुछ इलाकों में बिना लक्षण वाले लोगों के लिए टेस्टिंग उपलब्ध है। यदि बिना लक्षणों वाले लोगों का परीक्षण सकारात्मक होता है, तो उन्हें वायरस के प्रसार को रोकने में मदद करने के लिए आत्म-अलगाव के दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए।
आप जहां रहते हैं और आपके स्थानीय सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों की सिफारिशों के आधार पर COVID-19 नैदानिक ​​परीक्षण की उपलब्धता और जहां परीक्षण किया जाना है, वह भिन्न हो सकता है।

कोविद -19 के परीक्षण में जोखिम
एक मौका है कि आपका COVID-19 नैदानिक ​​​​परीक्षण गलत-नकारात्मक परिणाम दे सकता है। इसका मतलब यह है कि परीक्षण ने वायरस का पता नहीं लगाया, भले ही आप वास्तव में इससे संक्रमित हों। यदि आप उचित सावधानी नहीं बरतते हैं, जैसे कि सामाजिक दूरी के दिशानिर्देशों का पालन करना और उपयुक्त होने पर फेस मास्क पहनना, तो आप अनजाने में दूसरों को वायरस फैलाने का जोखिम उठाते हैं। एक मौका यह भी है कि एक COVID-19 रैपिड एंटीजन परीक्षण गलत-सकारात्मक परिणाम उत्पन्न कर सकता है - एक संक्रमण का संकेत देता है जब वास्तव में एक नहीं होता है - यदि निर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन नहीं किया जाता है।
झूठे-नकारात्मक या झूठे-सकारात्मक परीक्षण के परिणाम का जोखिम COVID-19 नैदानिक ​​परीक्षण के प्रकार और संवेदनशीलता, नमूना संग्रह की पूर्णता और प्रयोगशाला विश्लेषण की सटीकता पर निर्भर करता है। घर पर COVID- के लिए किसी भी प्रस्ताव से सावधान रहें। 19 परीक्षण जिन्हें एफडीए ने उपयोग के लिए मंजूरी नहीं दी है - वे अक्सर गलत परिणाम देते हैं।

आप परीक्षण के लिए कैसे तैयारी करते हैं
कि आपको लक्षण हैं या नहीं, अपने डॉक्टर के कार्यालय या परीक्षण केंद्र से आने-जाने के लिए फेस मास्क पहनने की योजना बनाएं, और आपके साथ आने वाले किसी व्यक्ति को भी एक पहनने के लिए कहें। अगर आपको लगता है कि आपको COVID-19 हो सकता है , अपने लक्षणों की समीक्षा करने के लिए अपने डॉक्टर के कार्यालय या अपने स्थानीय स्वास्थ्य विभाग को कॉल करें और आपके अंदर जाने से पहले परीक्षण के बारे में पूछें, ताकि कर्मचारी व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण पहनकर आपकी यात्रा की तैयारी कर सकें।
यदि आपके पास कोई लक्षण नहीं है, लेकिन आप किसी ऐसे व्यक्ति के निकट संपर्क में हैं, जिसे COVID-19 है, तो अपने डॉक्टर या सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग की परीक्षण सलाह का पालन करें। COVID-19 वाले व्यक्ति के करीब होने के 5 से 7 दिन बाद COVID-19 परीक्षण करवाना सबसे अच्छा है। यदि आपका परीक्षण बहुत जल्द किया जाता है, तो हो सकता है कि परीक्षण वायरस का पता न लगाए।
यदि आपको लगता है कि आपको COVID-19 हो सकता है, तो अपने लक्षणों की समीक्षा करने के लिए अपने डॉक्टर के कार्यालय में कॉल करें, यदि कोई हो, और परीक्षण के बारे में पूछें। तब आपका डॉक्टर और अन्य कर्मचारी आपकी यात्रा की तैयारी कर सकते हैं, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण पहन सकते हैं, और आपको निर्देश दे सकते हैं कि कहाँ जाना है और परीक्षण कैसे किया जाएगा। परीक्षण केंद्र से आने-जाने के लिए फेस मास्क पहनने की योजना बनाएं, और आपके साथ आने वाले किसी भी व्यक्ति को भी पहनें। यदि आपके पास कोई लक्षण नहीं है और जानबूझकर COVID-19 वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के संपर्क में नहीं है, लेकिन आप परीक्षण करवाएं, अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से पूछें कि क्या और कहां परीक्षण उपलब्ध है। या आप अपने राज्य या स्थानीय स्वास्थ्य विभाग को कॉल कर सकते हैं या परीक्षण की जानकारी के लिए उनकी वेबसाइट पर जा सकते हैं।

आप क्या उम्मीद कर सकते हैं
एक COVID-19 परीक्षण के लिए, एक स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर आपकी नाक या गले से बलगम का एक नमूना या लार का एक नमूना लेता है। नैदानिक ​​परीक्षण के लिए आवश्यक नमूना आपके डॉक्टर के कार्यालय, स्वास्थ्य देखभाल सुविधा या ड्राइव-अप परीक्षण केंद्र में एकत्र किया जा सकता है।

नाक या गला स्वाब
एक लंबी नाक की सूजन (नासोफेरींजल स्वाब) की सिफारिश की जाती है, हालांकि एक छोटा नाक का स्वाब या गले का स्वाब स्वीकार्य है। आपका डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर आपकी नाक में टिप पर रुई के साथ एक पतली, लचीली छड़ी डालते हैं या बलगम का एक नमूना एकत्र करने के लिए आपके गले के पिछले हिस्से पर झाड़ू लगाते हैं। यह कुछ असहज हो सकता है। नाक के नमूने के लिए, परीक्षण के लिए पर्याप्त बलगम एकत्र करने के लिए दोनों नथुने में सूजन हो सकती है। धीरे-धीरे घुमाए जाने से पहले स्वैब थोड़ी देर के लिए बना रहता है क्योंकि इसे बाहर निकाला जाता है। नमूने को एक ट्यूब में सील कर दिया जाता है और विश्लेषण के लिए एक प्रयोगशाला में भेजा जाता है।

लार का नमूना
कुछ स्थान लार परीक्षण प्रदान करते हैं। जबकि लार का नमूना बलगम के नमूने की तुलना में थोड़ा कम संवेदनशील हो सकता है, जो एक लंबे नाक के स्वाब का उपयोग करके लिया जाता है, एक लार COVID-19 परीक्षण करना आसान होता है और अक्सर कम असहज होता है। परीक्षण के लिए अपनी लार का एक नमूना प्रदान करने के लिए आप कई बार एक ट्यूब में थूकते हैं। विश्लेषण के लिए प्रयोगशाला में भेजे जाने से पहले ट्यूब को सील कर दिया जाता है।
यदि आपके पास एक उत्पादक खांसी है, तो आपका डॉक्टर एक थूक का नमूना एकत्र कर सकता है, जिसमें फेफड़ों से स्राव होता है, जो निचले श्वसन तंत्र का एक हिस्सा है। संक्रमण की शुरुआत में वायरस नाक और गले में अधिक केंद्रित होता है। लेकिन पांच दिनों से अधिक के लक्षणों के बाद, वायरस निचले श्वसन तंत्र में अधिक केंद्रित हो जाता है। COVID-19 नैदानिक ​​परीक्षण के अलावा, आपका डॉक्टर अन्य श्वसन स्थितियों, जैसे इन्फ्लूएंजा, के लिए भी परीक्षण कर सकता है, जिसमें समान लक्षण होते हैं और आपकी बीमारी की व्याख्या कर सकता है।
FDA ने कुछ घर पर COVID-19 परीक्षण किट के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण प्रदान किया, जिसमें एक COVID-19 और फ्लू दोनों के लिए परीक्षण शामिल है। इनमें से अधिकांश परीक्षणों के लिए डॉक्टर के पर्चे की आवश्यकता होती है। आप घर पर नाक के तरल पदार्थ या लार का अपना नमूना एकत्र करते हैं और फिर इसे तेजी से विश्लेषण के लिए एक प्रयोगशाला में भेजते हैं। एक COVID-19 परीक्षण एक प्रयोगशाला में नमूना भेजे बिना घर पर तेजी से परिणाम प्रदान करता है। और एफडीए ने हाल ही में बिना किसी नुस्खे के काउंटर पर खरीदने के लिए एक एंटीजन परीक्षण को अधिकृत किया, हालांकि एंटीजन परीक्षणों को पीसीआर परीक्षणों के रूप में विश्वसनीय नहीं माना जाता है।
इनमें से प्रत्येक परीक्षण की सटीकता भिन्न होती है, इसलिए एक नकारात्मक परीक्षण पूरी तरह से COVID-19 वायरस होने से इंकार नहीं करता है। केवल घर पर ही परीक्षण करवाएं जो FDA द्वारा अधिकृत हो या आपके डॉक्टर या स्थानीय स्वास्थ्य विभाग द्वारा अनुमोदित हो।

COVID-19 नेज़ल स्वैब टेस्टिंग के दौरान अपने बच्चे
की मदद करना इस वीडियो का उद्देश्य बच्चों को नेज़ल स्वैब COVID-19 टेस्ट के लिए तैयार करना है, ताकि उनके संभावित डर और चिंता को कम करने में मदद मिल सके। जब बच्चे मेडिकल टेस्ट लेने के लिए तैयार होते हैं, तो वे अधिक सहयोगी और आज्ञाकारी बन जाते हैं, जो उनके लिए एक सकारात्मक मुकाबला अनुभव बनाता है। यह वीडियो 4 साल से कम उम्र के बच्चों को देखने के लिए बनाया गया है।
COVID-19 नाक स्वाब परीक्षण परिणामों के दौरान अपने बच्चे का समर्थन करने वाले वीडियो के लिए प्रतिलेख दिखाएं
कुछ सुविधाओं में COVID-19 परीक्षण के लिए रैपिड टेस्टिंग है। उस स्थिति में, आप अपने परिणाम एक घंटे से भी कम समय में या उसी दिन प्राप्त कर सकते हैं जिस दिन आपका परीक्षण किया जाता है। अन्य सुविधाओं को विश्लेषण के लिए परीक्षण के नमूने को बाहरी प्रयोगशाला में भेजना पड़ सकता है। यदि उन्हें नमूना भेजने की आवश्यकता है, तो हो सकता है कि कुछ दिनों बाद तक आपके परिणाम उपलब्ध न हों।
आपका COVID-19 नैदानिक ​​परीक्षण परिणाम सकारात्मक या नकारात्मक हो सकता है।

सकारात्मक परिणाम
इसका मतलब है कि वर्तमान में आपको उस वायरस से सक्रिय संक्रमण है जो COVID-19 का कारण बनता है। अपनी देखभाल के लिए उचित कदम उठाएं और दूसरों को वायरस फैलाने से बचें। आपको तब तक आत्म-पृथक रहने की आवश्यकता होगी जब तक: आपके लक्षणों में सुधार नहीं हो रहा है, और आपको बुखार आए 24 घंटे हो चुके हैं, और आपके लक्षणों को पहली बार प्रकट हुए कम से कम 10 दिन बीत चुके हैं।
यदि आपके पास COVID-19 के गंभीर लक्षण हैं या कोई स्वास्थ्य स्थिति है जो बीमारी से लड़ने की आपकी क्षमता को कम करती है, तो आपका डॉक्टर आपको अधिक समय तक अलगाव में रहने की सलाह दे सकता है। यदि आपके पास सकारात्मक परिणाम है लेकिन कभी भी लक्षण विकसित नहीं हुए हैं, तो परीक्षण के बाद 10 दिनों के लिए अलग करें।

नकारात्मक परिणाम
इसका मतलब है कि आप संभवतः COVID-19 वायरस से संक्रमित नहीं थे। लेकिन परीक्षण के नमूने के समय और गुणवत्ता के आधार पर एक गलत-नकारात्मक परीक्षा परिणाम हो सकता है। यदि आप नकारात्मक परीक्षण करते हैं, तो भी आप भविष्य में संक्रमित हो सकते हैं, इसलिए सामाजिक दूरी, फेस मास्क के उपयोग और हाथ के लिए दिशानिर्देशों का पालन करना महत्वपूर्ण है- संभावित प्रसार से बचने के लिए धुलाई। यदि आपको लक्षण बने रहते हैं तो आपका डॉक्टर दोबारा परीक्षण की सिफारिश कर सकता है।

संपर्क अनुरेखण
यदि आप COVID-19 वायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण करते हैं - या आपके डॉक्टर को संदेह है कि आपके पास वायरस है, लेकिन आपके पास अभी तक परीक्षण के परिणाम नहीं हैं - तो आपको संपर्क अनुरेखण में भाग लेने के लिए कहा जा सकता है। संपर्क अनुरेखण संक्रामक रोगों के प्रसार को सीमित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जितनी जल्दी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग शुरू होती है, यह वायरस के प्रसार को सीमित करने में उतना ही प्रभावी होता है।
शुरू करने के लिए, आप उन लोगों की एक सूची प्रदान करते हैं जिनके साथ आप उस समय निकट संपर्क में थे जब आप संक्रामक हो सकते थे। सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता तब उन करीबी संपर्कों से संपर्क करते हैं ताकि उन्हें जोखिम और संक्रमित होने की उनकी क्षमता के बारे में बताया जा सके। सूचनाओं के इस आदान-प्रदान के दौरान आपकी पहचान सुरक्षित रहती है।
संपर्क अनुरेखण टीम इस बात की जानकारी प्रदान करती है कि वायरस फैलने के जोखिम को कम करने के लिए करीबी संपर्क क्या कर सकते हैं। कदमों में एक COVID-19 परीक्षण प्राप्त करना, घर पर रहना और दूसरों से दूर रहना – जिसे संगरोध कहा जाता है – जोखिम के बाद, संकेतों और लक्षणों के बारे में सीखना और अन्य सावधानी बरतना शामिल हो सकते हैं।

COVID-19

COVID-19 के लिए स्वयं परीक्षण

स्व-परीक्षण किट कैसे मदद करती है?
कई राज्य डायग्नोस्टिक लैबोरेटरी पर दबाव डालते हुए संक्रमण की दूसरी लहर से गुजर रहे हैं। आरटी-पीसीआर परीक्षण, जिसे कोविड -19 परीक्षण के लिए स्वर्ण मानक माना जाता है, परिणाम देने में 3-4 दिन लगते हैं, अस्पताल में भर्ती होने और उपचार में देरी होती है। स्व-परीक्षण किट संभावित रूप से भारत में कोविड -19 प्रबंधन में गेम-चेंजर हो सकती है। ये प्रयोगशालाओं में कतारों में कटौती कर सकते हैं, लागत कम कर सकते हैं, घरों से नमूना संग्रह के लिए मौजूदा जनशक्ति पर बोझ को कम कर सकते हैं, और त्वरित परिणाम (15 मिनट के भीतर) प्रदान कर सकते हैं, जिससे त्वरित उपचार और अलगाव हो सकता है।
इस तरह की सेल्फ टेस्ट किट को सबसे पहले अमेरिका में पिछले नवंबर में मंजूरी दी गई थी। लुसीरा हेल्थ द्वारा निर्मित एक रैपिड-रिज़ल्ट ऑल-इन-वन टेस्ट किट को आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण दिया गया था। यूरोप और दक्षिण कोरिया में भी इसी तरह की किट को मंजूरी दी गई है।

ICMR द्वारा अनुमोदित किट क्या है?
CoviSelf कहा जाता है, इसे पुणे स्थित आणविक कंपनी MyLab Discovery Solutions द्वारा विकसित किया गया है। यह एक रैपिड एंटीजन टेस्ट का उपयोग करता है, जिसमें वायरस के लिए नाक के स्वाब के नमूने का परीक्षण किया जाता है और 15 मिनट के भीतर परिणाम देता है। परीक्षा लेने में मुश्किल से दो मिनट लगते हैं।
इस परीक्षण किट की कीमत 250 रुपये है, जबकि आरटी-पीसीआर परीक्षण की लागत 400 रुपये से 1,500 रुपये के बीच है और विभिन्न राज्यों में प्रयोगशाला में तेजी से प्रतिजन परीक्षण की लागत 300-900 रुपये है। “भारत के लिए, हम लाखों किटों को अंश में उपलब्ध कराएंगे। अमेरिका में इस तरह की किट की कीमत, ”मायलैब के प्रबंध निदेशक डॉ हसमुख रावल ने कहा। यह किट अगले सप्ताह के अंत तक बाजार में उपलब्ध हो जाएगी। MyLab की वर्तमान उत्पादन क्षमता प्रति सप्ताह 70 लाख किट है, और इसकी योजना अगले पखवाड़े में प्रति सप्ताह एक करोड़ किट तक बढ़ाने की है। कंपनी ने कहा कि किट भारत में कम से कम सात लाख केमिस्ट और ई-फार्मेसी पोर्टल्स पर उपलब्ध होंगी।
“यह उपयोग में आसान परीक्षण माईलैब के एआई-पावर्ड मोबाइल ऐप के साथ जुड़ता है ताकि उपयोगकर्ता अपनी सकारात्मक स्थिति जान सके, ट्रेसबिलिटी के लिए सीधे आईसीएमआर को परिणाम जमा कर सके, और यह जान सके कि किसी भी परिणाम में आगे क्या करना है। हमें यकीन है कि यह छोटा कदम दूसरी और बाद की लहरों को कम करने में एक बड़ी छलांग होगी, ”मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस के निदेशक सुजीत जैन ने कहा।

इस परीक्षण का उपयोग कौन कर सकता है?
ICMR ने इस परीक्षण की सलाह केवल उन लोगों को दी है जिनमें लक्षण हैं या वे सकारात्मक रोगियों के उच्च जोखिम वाले संपर्क हैं और जिन्हें घर पर परीक्षण करने की आवश्यकता है। यदि सकारात्मक है, तो व्यक्ति को कोविड -19 सकारात्मक माना जाएगा और उसे पुष्टिकरण परीक्षण के रूप में आरटी-पीसीआर की आवश्यकता नहीं होगी। आइसोलेशन और हाई रिस्क कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के लिए सभी सरकारी दिशानिर्देशों का पालन किया जाएगा। यह परीक्षण एक मोबाइल ऐप, CoviSelf के साथ समन्वयित है, जो ICMR पोर्टल पर सकारात्मक मामले की रिपोर्ट को सीधे फीड करने में मदद करेगा। फेरीवालों, शो मालिकों या यात्रियों के सार्वजनिक स्थानों पर सामान्य स्क्रीनिंग के लिए इस परीक्षण की सलाह नहीं दी जाती है।
यदि कोई व्यक्ति नकारात्मक परीक्षण करता है, लेकिन उसके लक्षण हैं, तो उसे आरटी-पीसीआर परीक्षण से गुजरना पड़ता है।

मैं खुद को कैसे परखूं?
किट में पहले से भरी हुई एक्स्ट्रेक्शन ट्यूब, स्टेराइल नेज़ल स्वैब, एक टेस्टिंग कार्ड और बायोहाज़र्ड बैग होता है। सबसे पहले CoviSelf ऐप डाउनलोड करें और अपनी सारी जानकारी डालें। ऐप आईसीएमआर पोर्टल से जुड़े एक सुरक्षित सर्वर पर डेटा कैप्चर करेगा, जहां सभी परीक्षण रिपोर्ट सरकार के लिए उपलब्ध हैं।
टेस्ट लेने से पहले अपने हाथों को सैनिटाइज करें और उस सतह को साफ करें जिस पर किट लगाई जानी है। स्वाब को अपनी नाक में 2-4 सेंटीमीटर अंदर डालें, या जब तक यह नाक के पिछले हिस्से को न छू ले, और नमूना लेने के लिए इसे अच्छी तरह से रगड़ें। फिर स्वाब को निष्कर्षण ट्यूब के अंदर घुमाया जाता है ताकि अंदर के तरल के साथ मिश्रण किया जा सके, ट्यूब को कसकर बंद कर दिया जाता है, और निष्कर्षण ट्यूब के आउटलेट से दो बूंदों को परीक्षण कार्ड पर गिरा दिया जाता है।
परिणाम 15 मिनट के भीतर आता है। एक व्यक्ति कोविड -19 के लिए सकारात्मक है यदि परीक्षण कार्ड पर दो लाइनें दिखाई देती हैं - परीक्षण लाइन के लिए मार्कर 'टी' और गुणवत्ता नियंत्रण रेखा के लिए 'सी'। यदि व्यक्ति नकारात्मक है, तो मार्कर 'सी' पर एक पंक्ति दिखाई देती है। यदि परिणाम दिखाने में 20 मिनट से अधिक समय लगता है, या यदि मार्कर 'सी' पर कोई रेखा नहीं चमकती है, तो परीक्षण अमान्य है। ट्यूब और स्वाब को बायोहाज़र्ड बैग में सील करें और इसे बायोमेडिकल कचरे के रूप में निपटाएं।

स्व-परीक्षण के पक्ष और विपक्ष में क्या तर्क हैं?
अस्पताल या लैब में जाने या घर पर किसी तकनीशियन को बुलाने के बजाय घर पर खुद का परीक्षण करने वाला व्यक्ति, दूसरों को संचरण के जोखिम को कम करता है। इस मामले में स्वाब संग्रह काफी सरल और त्वरित है, और समग्र परीक्षण व्यय और प्रयोगशालाओं में नियुक्ति की बुकिंग के तनाव को कम करता है। स्व-परीक्षण उन प्रयोगशालाओं पर बोझ को कम करेगा जो वर्तमान में 24 घंटे काम कर रही मानव शक्ति के साथ पूरी क्षमता से काम कर रही हैं जो पहले से ही संतृप्त हैं। दूसरी तरफ, परिणामों की विश्वसनीयता एक प्रमुख चिंता का विषय है। नमूना सही ढंग से एकत्र नहीं होने या स्वाब स्टिक के दूषित होने की संभावना अधिक होती है।
इसके अलावा, तेजी से एंटीजन परीक्षण झूठे नकारात्मक होने की उच्च संभावना के साथ आते हैं। यदि एक कोविड-संक्रमित व्यक्ति स्पर्शोन्मुख है और परीक्षण नकारात्मक है, तो परीक्षण सुरक्षा की झूठी भावना दे सकता है। लेकिन अब तक की सबसे बड़ी चिंता पॉजिटिव मरीजों का पता लगाने में हो रही दिक्कत है। एक व्यक्ति मोबाइल ऐप पर गलत पता और विवरण फीड कर सकता है, जिससे स्वास्थ्य कर्मियों के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करना असंभव हो जाता है। वैकल्पिक रूप से, मोबाइल ऐप में तकनीकी त्रुटियां संपूर्ण परीक्षण और रिपोर्टिंग प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न कर सकती हैं। जबकि एक तीव्र एंटीजन परीक्षण एक त्वरित जन निगरानी उपकरण के रूप में कार्य करता है, परीक्षण के लिए इस पर अधिक निर्भरता उचित नहीं है। यह केवल पूरक होना चाहिए, रूप नहीं, परीक्षण का बड़ा हिस्सा।

स्व-परीक्षण कितना प्रभावी है?
स्व-परीक्षण प्रभावी हो सकता है यदि रोगी अलगाव के मानदंडों का पालन करता है, सही डेटा खिलाता है और परिणामों की सही व्याख्या करने में सक्षम है। यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल के अनुसार, "परीक्षण के परिणाम की विश्वसनीयता कुछ कारकों पर निर्भर करती है: नमूना लेने और परीक्षण करने वाले व्यक्ति की निर्देशों का पालन करने की क्षमता, नमूने के समय वायरल लोड, और परीक्षण के समय आबादी में रोग की व्यापकता ”।
यूरोपीय सीडीसी ने मार्च में एक दस्तावेज जारी किया, जिसमें कहा गया है कि स्व-परीक्षण पूरक हो सकता है लेकिन पारंपरिक परीक्षण विधियों को प्रतिस्थापित नहीं कर सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है, “स्वास्थ्य पेशेवरों और प्रयोगशालाओं से व्यक्तियों के लिए परीक्षण के परिणामों की रिपोर्ट करने की जिम्मेदारी को कम करके आंका जा सकता है, और अनुबंध के अनुरेखण और संपर्कों के संगरोध जैसे प्रतिक्रिया उपायों को और भी चुनौतीपूर्ण बना सकता है,” रिपोर्ट में कहा गया है।
लेकिन हार्वर्ड और येल के तीन अमेरिकी शोधकर्ताओं द्वारा MedRxiv में एक प्रीप्रिंट ने तर्क दिया कि घरेलू परीक्षण वास्तव में महामारी नियंत्रण और वारंट को राष्ट्रीय नियंत्रण रणनीति के हिस्से के रूप में माना जा सकता है।

COVID-19 2

संबंधित विषय:

1. ब्रोंकाइटिस क्या है और इसका इलाज कैसे किया जाता है?

ब्रोंकाइटिस और उसके उपाय

2. डायवर्टीकुलिटिस कितना हानिकारक है?

डायवर्टीकुलिटिस के लक्षण और उपचार

3. प्रतिरक्षा बढ़ाने के बारे में और जानें

इम्युनिटी कैसे बढ़ाएं




उपर ब्लॉग में बताई गई उपलब्धिया AFD-SHIELD के साथ उपलब्ध हैं
एएफडी शील्ड कैप्सूल 12 प्राकृतिक अवयवों का एक संयोजन है जिनमें से अलगल डीएचए, अश्वगंधा, करक्यूमिन और स्पिरुलिना हैं। एएफडी शील्ड टीजी को कम करता है, एचडीएल बढ़ाता है और उम्र से संबंधित संज्ञानात्मक गिरावट में सुधार करता है। यह तनाव और चिंता को भी कम करता है और एंटी-एजिंग गतिविधि करता है। इसके अलावा, यह इम्युनोमॉड्यूलेटरी गतिविधि को बढ़ाता है, प्रतिरक्षा में सुधार करता है और सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है। न्यूट्रोग्लिग्क्स: एएफडी-शील्ड

AFDIL Ltd.
+91 9920121021

order@afdil.com

Read Also:


Disclaimer
Home