How To Maintain Liver Health Naturally

Liver - the largest gland of our body, responsible for various important functions such as fat metabolism, detoxification, protein synthesis etc. Liver health is vital for overall health. Therefore, maintaining a good liver health is very crucial. Not treating it right, may lead you to some serious health issues because everything you consume, passes through it. At this time, liver health supplements can act as a great addition in diet. Many of the liver health supplements on the market contain a combination of three herbal ingredients: milk thistle, artichoke leaf, dandelion root.

It is reddish brown in colour and is protected by Rib cage. It has two large sections called right and left lobe. Liver filters the blood coming from digestive tract before passing it to the rest of the body. It detoxifies Chemicals and metabolizes drug. It secretes bile that ends up in in intestine stop it also make proteins which are important for blood clotting. Liver is also responsible for breakdown of Carbohydrates and their conversion into glucose. It stores nutrient and creates bile which is necessary to digest and absorb the nutrient present in food. A number of supplements and drinks are available that can protect the liver.

“Healthy diet, Healthy liver, Healthy you”

If your liver is affected, then you need a healthy diet to let your liver function normally. Healthy diet for healthy liver is the key. A well-balanced diet and liver health go hand in hand. In the following paragraphs we have mentioned some food items that should be added in diet to make it healthy and balanced.

Liver disease

Liver health is overall health. An unbalanced diet and liver disease may be the result of each other. There are a number of liver disease for example hepatitis, liver cancer, liver failure, gallstone, cirrhosis, hemochromatosis, etc. There are numerous liver health supplements in the market. Few of the naturally occuring liver health supplements are given in the following paragraphs.

How To Maintain Liver Health Naturally

Symptoms of liver disease

The signs and symptoms of liver disease are not always noticeable, few of them are:
• jaundice
• abdominal pain
• swelling in legs
• itchy skin
• dark coloured urine
• pale stool colour
• fatigue
• loss of appetite
• nausea and vomiting

Causes of liver disease

• Infection: Some parasites or viruses can insect liver which lead to development of inflammation which will result in reduced liver function. The infection can spread through blood or semen contaminated food or water. The most common type of liver infection are hepatitis A, B and C viruses.
• Abnormality in immune system: Autoimmune disorders are caused when the body's immune system attacks certain part of your own body. Example of autoimmune liver disease are are autoimmune hepatitis or primary biliary cholangitis etc.
• Genetics: Genetic liver disease include haemochromatosis, Wilson's disease or Alpha 1 antitrypsin deficiency.
• Cancer: cancer and other growth includes example such as liver cancer, bile duct cancer and liver adenoma
• Other factors: Common causes include high consumption of alcohol, fat accumulation in liver, over the counter medication or certain herbal compounds.


Top foods and drinks for liver health

Healthy diet for healthy liver is the key solution. A well-balanced diet and liver health go hand in hand. Some of the best foods and drinks that are good for the liver include:
1. Coffee
Coffee appears to be good for the liver and an easily available liver health supplement, especially because it protects against issues such as fatty liver disease. Many researches also notes that daily coffee intake may help reduce the risk of chronic liver disease. It may also protect the liver from damaging conditions, such as liver cancer. Coffee, it reports, seems to reduce fat build up in the liver. It also increases protective antioxidants in the liver. Compounds in coffee also help liver enzymes rid the body of cancer-causing substances.
2. Oatmeal
Consuming oatmeal is an easy way to add fibre to the diet.A well-balanced diet and liver health go hand in hand. Fibre is an important tool for digestion, and the specific fibres in oats may be especially helpful for the liver. Oats and oatmeal are high in compounds called beta-glucans. Beta-glucans are very biologically active in the body. They help modulate the immune system and fight against inflammation and they may be especially helpful in the fight against diabetes and obesity. Many researches also notes that beta-glucans from oats appear to help reduce the amount of fat stored in the liver in mice, which could also help protect the liver. More clinical studies are necessary to confirm this, however. People looking to add oats or oatmeal to their diet should look for whole oats or steel-cut oats, rather than pre-packaged oatmeal. Pre-packaged oatmeal may contain fillers such as flour or sugars, which will not be as beneficial for the body.
3. Green tea
A 2016 review in the journal Nutrition suggests that green tea may help reduce the risk of liver cancer in female Asian populations. It is important to note that tea may be better than extracts, as some extracts may damage the liver rather than heal it. However, the study notes that more research is necessary.

4. Garlic
A well-balanced diet and liver health go hand in hand. Adding garlic to the diet may also help stimulate the liver and is easily available liver health supplement. A 2016 study that appears in the journal Advanced Biomedical Research notes that garlic consumption reduces body weight and fat content in people with NAFLD, with no changes to lean body mass. This is beneficial, as being overweight or obese is a contributing factor to NAFLD.

5. Berries
Many dark berries, such as blueberries, raspberries, and cranberries, contain antioxidants called polyphenols, which may help protect the liver from damage.
As a study in the World Journal of Gastroenterology suggests, regularly eating berries may also help stimulate the immune system.

6. Grapes
The study that features in the World Journal of Gastroenterology reports that grapes, grape juice, and grape seeds are rich in antioxidants that may help the liver by reducing inflammation and preventing liver damage.
Eating whole, seeded grapes is a simple way to add these compounds to the diet. A grape seed extract supplement may also provide antioxidants.

7. Grapefruit
The World Journal of Gastroenterology study also mentions grapefruit as a helpful food. Grapefruit contains two primary antioxidants: naringin and naringenin. These may help protect the liver from injury by reducing inflammation and protecting the liver cells.
The compounds may also reduce fat buildup in the liver and increase the enzymes that burn fat. This may make grapefruit a helpful tool in the fight against NAFLD.

8. Prickly pear
The fruit and juice of the prickly pear may also be beneficial to liver health. The World Journal of Gastroenterology study suggests that compounds in the fruit may help protect the organ.
Most research focuses on extracts from the fruit, however, so studies that focus on the fruit or juice itself are necessary.

9. Plant foods in general
Many of the liver health supplements on the market contain a combination of three herbal ingredients: milk thistle, artichoke leaf, dandelion root. A 2015 study that appears in the journal Evidence-based Complementary and Alternative Medicine reports that a large number of plant foods may be helpful for the liver.
These include:
• avocado
• banana
• barley
• beets and beet juice
• broccoli
• brown rice
• carrots
• fig
• greens such as kale and collards
• lemon
• papaya
• watermelon
People should eat these foods as part of a whole and balanced diet.

10. Fatty fish
As a study in the World Journal of Gastroenterology points out, consuming fatty fish and fish oil supplements may help reduce the impact of conditions such as NAFLD.
Fatty fish is rich in omega-3 fatty acids, which are the good fats that help reduce inflammation. These fats may be especially helpful in the liver, as they appear to prevent the buildup of excess fats and maintain enzyme levels in the liver.
The study recommends eating oily fish two or more times each week. If it is not easy to incorporate fatty fish such as herring or salmon into the diet, try taking a daily fish oil supplement.

11. Nuts
The same study says that eating nuts may be another simple way to keep the liver healthy and protect against NAFLD. Nuts generally contain unsaturated fatty acids, vitamin E, and antioxidants. These compounds may help prevent NAFLD, as well as reduce inflammation and oxidative stress.
Eating a handful of nuts, such as walnuts or almonds, each day may help maintain liver health. People should be sure not to eat too many, however, as nuts are high in calories.

12. Olive oil
Eating too much fat is not good for the liver, but some fats may help it. According to the World Journal of Gastroenterology study, adding olive oil to the diet may help reduce oxidative stress and improve liver function. This is due to the high content of unsaturated fatty acids in the oil.

Foods to avoid

In general, finding balance in the diet will keep the liver healthy. However, there are also some foods and food groups that the liver finds harder to process. These include:
• Fatty foods:
These include fried foods, fast food, and takeout from many restaurants. Packaged snacks, chips, and nuts may also be surprisingly high in fats.
• Starchy foods:
These include breads, pasta, and cakes or baked goods.
• Sugar:
Cutting back on sugar and sugary foods such as cereals, baked goods, and candies may help reduce the stress on the liver.
• Salt:
Simple ways to reduce salt intake include eating out less, avoiding canned meats or vegetables, and reducing or avoiding salted deli meats and bacon.
• Alcohol:
Anyone looking to give their liver a break should consider reducing their intake of alcohol or eliminating it from the diet completely.


Yavakshara role in Gallstone:
• Bile contains bile salt of Potassium & Sodium
• During pathogenesis of chronic cholecystities & cholelithiasis, there is alteration of Potassium & Sodium salt of bile acid
• Yavakshara is helpful for maintain homeostasis of bile & prevent the further progression of disease.
• It is an alkaline preparation which is used to remove obstruction in the passages and in colic pain

The best way to fight liver disease is to avoid it, if at all possible. Here are 13 tried and true ways to achieve liver wellness!

1. Maintain a healthy weight. If you’re obese or even somewhat overweight, you’re in danger of having a fatty liver that can lead to non-alcoholic fatty liver disease (NAFLD), one of the fastest growing forms of liver disease. Weight loss can play an important part in helping to reduce liver fat.
2. Eat a balanced diet. Avoid high calorie-meals, saturated fat, refined carbohydrates (such as white bread, white rice and regular pasta) and sugars. Don’t eat raw or undercooked shellfish. For a well-adjusted diet, eat fiber, which you can obtain from fresh fruits, vegetables, whole grain breads, rice and cereals. Also eat meat (but limit the amount of red meat), dairy (low-fat milk and small amounts of cheese) and fats (the “good” fats that are monounsaturated and polyunsaturated such as vegetable oils, nuts, seeds, and fish). Hydration is essential, so drink a lot of water. Many of the liver health supplements on the market contain a combination of three herbal ingredients: milk thistle, artichoke leaf, dandelion root.
3. Exercise regularly. When you exercise consistently, it helps to burn triglycerides for fuel and can also reduce liver fat.
4. Avoid toxins. Toxins can injure liver cells. Limit direct contact with toxins from cleaning and aerosol products, insecticides, chemicals, and additives. When you do use aerosols, make sure the room is ventilated, and wear a mask. Don’t smoke.
5. Use alcohol responsibly. Alcoholic beverages can create many health problems. They can damage or destroy liver cells and scar your liver. Talk to your doctor about what amount of alcohol is right for you. You may be advised to drink alcohol only in moderation or to quit completely.
6. Avoid the use of illicit drugs. In 2012, nearly 24 million Americans aged 12 or older were current illicit drug users, meaning they had used an illicit drug during the month prior to the survey interview. This estimate represents 9.2 percent of the population aged 12 or older. Illicit drugs include marijuana/hashish, cocaine (including crack), heroin, hallucinogens, inhalants, or prescription-type psychotherapeutics (pain relievers, tranquilizers, stimulants, and sedatives) used non-medically.
7. Avoid contaminated needles. Of course, dirty needles aren’t only associated with intravenous drug use. You ought to follow up with a medical practitioner and seek testing following any type of skin penetration involving sharp instruments or needles. Unsafe injection practices, though rare, may occur in a hospital setting, and would need immediate follow-up. Also, use only clean needles for tattoos and body piercings.
8. Get medical care if you’re exposed to blood. Take liver health supplements as an addition to your diet. If for any reason you come into contact with someone else’s blood, immediately follow up with your doctor. If you’re very concerned, go to your nearest hospital’s emergency room.
9. Don’t share personal hygiene items. For example, razors, toothbrushes and nail clippers can carry microscopic levels of blood or other body fluids that may be contaminated.
10. Practice safe sex. Unprotected sex or sex with multiple partners increases your risk of hepatitis B and hepatitis C.
11. Wash your hands. Use soap and warm water immediately after using the bathroom, when you have changed a diaper, and before preparing or eating food.
12. Follow directions on all medications. When medicines are taken incorrectly by taking too much, the wrong type or by mixing medicines, your liver can be harmed. Never mix alcohol with other drugs and medications even if they’re not taken at the same time. Tell your doctor about any over-the-counter medicines, supplements, and natural or herbal remedies that you use. Many of the liver health supplements on the market contain a combination of three herbal ingredients: milk thistle, artichoke leaf, dandelion root.
13. Get vaccinated. There are vaccines for hepatitis A and hepatitis B. Unfortunately, there’s no vaccine against the hepatitis C virus.

Also read more about:


• The role of proper nutrition in body importance of proper nutrition
• Can liver disease be prevented? can liver disease be cured
• Can eating fast food harm your liver? is eating fast food harmful for health




The above essentials are available with Livocumin.
Livocumin is the combination of natural ingredients like Curcumin, Ardraka (Ginger), Katuka, Yavakshara, Chitraka, March (Black pepper), Sarjikakshara, Amlakai (Amla), Chuna, Haritaki in the management of NAFLD (Non Alcoholic Fatty Liver Disease), Infective Hepatitis, Gall Stones, Jaundice & Indigestion. Nutralogicx: Livocumin

कैसे जिगर के स्वास्थ्य को स्वाभाविक रूप से बनाए रखें

लिवर- हमारे शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि, जो विभिन्न महत्वपूर्ण कार्यों जैसे वसा चयापचय, विषहरण, प्रोटीन संश्लेषण आदि के लिए जिम्मेदार है। समग्र स्वास्थ्य के लिए जिगर स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है। इसलिए, एक अच्छा जिगर स्वास्थ्य बनाए रखना बहुत महत्वपूर्ण है। इसका सही इलाज नहीं करना, आपको कुछ गंभीर स्वास्थ्य मुद्दों की ओर ले जा सकता है क्योंकि आप जो कुछ भी उपभोग करते हैं, वह इससे गुजरता है।
यह लाल भूरे रंग का होता है और रिब पिंजरे द्वारा संरक्षित होता है। इसके दाएं और बाएं लोब नामक दो बड़े खंड हैं। लिवर पाचन तंत्र से आने वाले रक्त को शरीर के बाकी हिस्सों में जाने से पहले फ़िल्टर करता है। यह रसायन को विषहरण करता है और दवा को मेटाबोलाइज़ करता है। यह पित्त को गुप्त करता है जो आंत में बंद हो जाता है यह प्रोटीन भी बनाता है जो रक्त के थक्के के लिए महत्वपूर्ण हैं।
जिगर कार्बोहाइड्रेट के टूटने और ग्लूकोज में उनके रूपांतरण के लिए भी जिम्मेदार है। यह पोषक तत्वों को संग्रहीत करता है और पित्त बनाता है जो भोजन में मौजूद पोषक तत्व को पचाने और अवशोषित करने के लिए आवश्यक है। कई पूरक और पेय उपलब्ध हैं जो जिगर की रक्षा कर सकते हैं।

"स्वस्थ आहार, स्वस्थ जिगर, स्वस्थ आप"

यदि आपका जिगर प्रभावित होता है तो आपको अपने जिगर को सामान्य रूप से कार्य करने के लिए स्वस्थ आहार की आवश्यकता होती है। स्वस्थ जिगर के लिए स्वस्थ आहार की कुंजी है। एक अच्छी तरह से संतुलित आहार और यकृत स्वास्थ्य हाथ से चलते हैं। निम्नलिखित पैराग्राफ में हमने कुछ खाद्य पदार्थों का उल्लेख किया है जिन्हें स्वस्थ और संतुलित बनाने के लिए आहार में जोड़ा जाना चाहिए।

जिगर की बीमारी

जिगर स्वास्थ्य समग्र स्वास्थ्य है। एक असंतुलित आहार और यकृत रोग एक दूसरे का परिणाम हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, हेपेटाइटिस, यकृत कैंसर, यकृत विफलता, पित्त पथरी, सिरोसिस, हेमोक्रोमैटोसिस, आदि कई जिगर की बीमारी हैं।

कैसे जिगर के स्वास्थ्य को स्वाभाविक रूप से बनाए रखें

जिगर की बीमारी के लक्षण


जिगर की बीमारी के लक्षण और लक्षण हमेशा ध्यान देने योग्य नहीं होते हैं, उनमें से कुछ हैं:
• पीलिया
• पेट में दर्द
• पैरों में सूजन
• त्वचा में खुजली
• गहरे रंग का मूत्र
• पीला मल रंग
• थकान
• भूख में कमी
• समुद्री बीमारी और उल्टी

यकृत रोग के कारण


• संक्रमण:
कुछ परजीवी या वायरस जिगर को संक्रमित कर सकते हैं जिससे सूजन का विकास होता है जिसके परिणामस्वरूप जिगर की कार्यक्षमता कम हो जाती है। संक्रमण रक्त या वीर्य दूषित भोजन या पानी से फैल सकता है। यकृत संक्रमण का सबसे आम प्रकार हेपेटाइटिस ए, बी और सी वायरस हैं।

• प्रतिरक्षा प्रणाली में विषमता:
ऑटोइम्यून विकार तब होते हैं जब शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली आपके शरीर के कुछ हिस्से पर हमला करती है। ऑटोइम्यून यकृत रोग का उदाहरण ऑटोइम्यून हेपेटाइटिस या प्राथमिक पित्तवाहिनीशोथ आदि हैं।

• जेनेटिक्स:
जेनेटिक लिवर की बीमारी में हैमोक्रोमैटोसिस, विल्सन रोग या अल्फा 1 एंटीट्रिप्सिन की कमी शामिल है।

• कैंसर:
कैंसर और अन्य विकास में यकृत कैंसर, पित्त नली का कैंसर और यकृत एडेनोमा जैसे उदाहरण शामिल हैं।

• अन्य कारक:
सामान्य कारणों में शराब की अधिक खपत, जिगर में वसा का जमाव, काउंटर दवा या कुछ हर्बल यौगिकों से अधिक शामिल हैं।

यह भी पढ़ें:यकृत रोग के लक्षण और लक्षण


जिगर के स्वास्थ्य के लिए शीर्ष खाद्य पदार्थ और पेय

स्वस्थ जिगर के लिए स्वस्थ आहार महत्वपूर्ण समाधान है। एक अच्छी तरह से संतुलित आहार और यकृत स्वास्थ्य हाथ से चलते हैं। कुछ बेहतरीन खाद्य पदार्थ और पेय जो लिवर के लिए अच्छे हैं:
1. कॉफ़ी
कॉफी यकृत के लिए अच्छा प्रतीत होता है, विशेष रूप से क्योंकि यह वसायुक्त यकृत रोग जैसे मुद्दों से बचाता है। कई शोधों में यह भी कहा गया है कि रोजाना कॉफी का सेवन लिवर की बीमारी के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है। यह लीवर को नुकसानदायक स्थितियों से भी बचा सकता है, जैसे कियकृत कैंसर। कॉफी, यह रिपोर्ट करता है, यकृत में वसा के निर्माण को कम करता है। यह सुरक्षात्मक भी बढ़ाता है एंटीऑक्सीडेंट जिगर में। कॉफ़ी में मौजूद यौगिक लिवर एंजाइमों को कैंसर पैदा करने वाले पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद करते हैं।

2. दलिया
ओटमील का सेवन आहार में फाइबर को शामिल करने का एक आसान तरीका है। एक अच्छी तरह से संतुलित आहार और यकृत स्वास्थ्य हाथ से चलते हैं। फाइबर पाचन के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण है, और जई में विशिष्ट फाइबर यकृत के लिए विशेष रूप से सहायक हो सकते हैं। ओट्स और ओटमील बीटा-ग्लूकेन्स नामक यौगिकों में उच्च होते हैं। बीटा-ग्लूकन शरीर में बहुत जैविक रूप से सक्रिय हैं। वे प्रतिरक्षा प्रणाली को नियंत्रित करने और सूजन के खिलाफ लड़ने में मदद करते हैं और वे विशेष रूप से लड़ने में मददगार हो सकते हैं मधुमेह तथा मोटापा। कई शोध यह भी ध्यान दें कि जई से बीटा-ग्लूकन चूहों में जिगर में संग्रहीत वसा की मात्रा को कम करने में मदद करता है, जो जिगर की रक्षा करने में भी मदद कर सकता है। हालांकि इसकी पुष्टि के लिए अधिक नैदानिक अध्ययन आवश्यक हैं। ओट या ओटमील को अपने आहार में शामिल करने वाले लोगों को पूर्व-पैक दलिया के बजाय पूरे जई या स्टील-कट वाले जई की तलाश करनी चाहिए। पहले से पैक दलिया में आटा या शक्कर जैसे भराव हो सकते हैं, जो शरीर के लिए उतना फायदेमंद नहीं होगा।

3. हरी चाय
जर्नल में 2016 की समीक्षा पोषण सुझाव है कि हरी चाय महिला एशियाई आबादी में यकृत कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद कर सकती है। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि चाय अर्क से बेहतर हो सकती है, क्योंकि कुछ अर्क इसे ठीक करने के बजाय यकृत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। हालाँकि, अध्ययन नोट करता है कि अधिक शोध आवश्यक है।

4. लहसुन
एक अच्छी तरह से संतुलित आहार और यकृत स्वास्थ्य हाथ से चलते हैं। लहसुन को आहार में शामिल करने से लीवर को उत्तेजित करने में मदद मिल सकती है। एक अध्ययन जो एक जर्नल में दिखाई देता है कि लहसुन की खपत कम हो जाती है शरीर का वजन और एनएएफएलडी वाले लोगों में वसा की मात्रा, दुबला शरीर द्रव्यमान में कोई बदलाव नहीं है। यह फायदेमंद है, क्योंकि अधिक वजन या मोटापा एनएएफएलडी के लिए एक महत्वपूर्ण कारक है।

5. जामुन
कई अंधेरे जामुन, जैसे ब्लू बैरीज़, रसभरी और क्रैनबेरी में पॉलीफेनोल नामक एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो लीवर को नुकसान से बचाने में मदद कर सकते हैं। जैसा कि एक अध्ययन बताता है, नियमित रूप से जामुन खाने से प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित करने में मदद मिल सकती है।

6. अंगूर
अध्ययन की रिपोर्ट है कि अंगूर, अंगूर का रस, और अंगूर के बीज एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध हैं जो सूजन को कम करके और जिगर की क्षति को रोकने में मदद कर सकते हैं। इन यौगिकों को आहार में शामिल करने के लिए साबुत, बीज युक्त अंगूर खाना एक सरल तरीका है। एक अंगूर के बीज निकालने के पूरक भी एंटीऑक्सिडेंट प्रदान कर सकते हैं।

7. चकोतरा
एक अध्ययन में एक सहायक भोजन के रूप में अंगूर का भी उल्लेख किया गया है। अंगूर में दो प्राथमिक एंटीऑक्सिडेंट होते हैं: नारिंगिन और नारिनिंगिन। ये सूजन को कम करके और जिगर की कोशिकाओं की रक्षा करके जिगर को चोट से बचाने में मदद कर सकते हैं। यौगिक भी जिगर में वसा के निर्माण को कम कर सकते हैं और वसा को जलाने वाले एंजाइम को बढ़ा सकते हैं। यह अंगूर को एनएएफएलडी के खिलाफ लड़ाई में एक सहायक उपकरण बना सकता है।

8. काँटेदार नाशपाती
कांटेदार नाशपाती का फल और जूस भी लीवर की सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है। एक अध्ययन से पता चलता है कि फल में यौगिक अंग की रक्षा में मदद कर सकते हैं। अधिकांश शोध फल से अर्क पर ध्यान केंद्रित करते हैं, हालांकि, इसलिए अध्ययन जो फल या रस पर ध्यान केंद्रित करते हैं, वे आवश्यक हैं।

9. सामान्य रूप से खाद्य पदार्थ
बड़ी संख्या में पादप खाद्य पदार्थ यकृत के लिए सहायक हो सकते हैं।
इसमे शामिल है:
• एवोकाडो
• केला
• जौ
• बीट और बीट का रस
• ब्रोकोली
• भूरा चावल
• गाजर
• अंजीर
• साग जैसे गोभी और टकराहट
• नींबू
• पपीता
• तरबूज
लोगों को इन खाद्य पदार्थों को संपूर्ण और संतुलित आहार के हिस्से के रूप में खाना चाहिए।

10. वसायुक्त मछली
जैसा कि एक अध्ययन बताता है, वसायुक्त मछली का सेवन और मछली का तेल पूरक आहार एनएएफएलडी जैसी स्थितियों के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकते हैं। वसायुक्त मछली ओमेगा -3 फैटी एसिड में समृद्ध है, जो अच्छे वसा हैं जो सूजन को कम करने में मदद करते हैं। ये वसा यकृत में विशेष रूप से सहायक हो सकते हैं, क्योंकि वे अतिरिक्त वसा के निर्माण को रोकने और जिगर में एंजाइम के स्तर को बनाए रखने के लिए दिखाई देते हैं। अध्ययन में प्रत्येक सप्ताह दो या अधिक बार तैलीय मछली खाने की सलाह दी गई है। यदि आहार में हेरिंग या सामन जैसी वसायुक्त मछली को शामिल करना आसान नहीं है, तो दैनिक मछली के तेल के पूरक लेने की कोशिश करें।

11. मेवे
इसी अध्ययन में कहा गया है कि नट्स खाने से लीवर को स्वस्थ रखने और एनएएफएलडी से बचाव का एक और सरल तरीका हो सकता है। नट्स में आमतौर पर असंतृप्त वसा अम्ल होते हैं, विटामिन ई, और एंटीऑक्सिडेंट। ये यौगिक एनएएफएलडी को रोकने में मदद कर सकते हैं, साथ ही सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम कर सकते हैं। अखरोट, या बादाम जैसे मुट्ठी भर नट्स खाने से हर दिन लीवर के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद मिल सकती है। लोगों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे बहुत अधिक न खाएं, हालांकि, नट्स अधिक मात्रा में होते हैं कैलोरी।

12. जैतून का तेल
बहुत अधिक वसा खाना यकृत के लिए अच्छा नहीं है, लेकिन कुछ वसा इसकी मदद कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार, आहार में जैतून का तेल शामिल करने से ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने और यकृत समारोह में सुधार हो सकता है। यह तेल में असंतृप्त फैटी एसिड की उच्च सामग्री के कारण है।

इन भोजन से बचना चाहिए

सामान्य तौर पर, आहार में संतुलन खोजने से लिवर स्वस्थ रहेगा। हालांकि, कुछ खाद्य पदार्थ और खाद्य समूह भी हैं जिन्हें जिगर को संसाधित करना कठिन लगता है। इसमे शामिल है:
• वसायुक्त खाना:
इनमें कई रेस्तरां से तले हुए खाद्य पदार्थ, फास्ट फूड और टेकआउट शामिल हैं। पैक किए गए स्नैक्स, चिप्स और नट्स भी आश्चर्यजनक रूप से वसा में उच्च हो सकते हैं।
• स्टार्चयुक्त खाना:
इनमें ब्रेड, पास्ता और केक या बेक्ड सामान शामिल हैं।
• चीनी:
चीनी और शर्करा वाले खाद्य पदार्थों जैसे अनाज, पके हुए सामान और कैंडीज़ को वापस काटने से यकृत पर तनाव को कम करने में मदद मिल सकती है।
• नमक:
नमक के सेवन को कम करने के सरल तरीकों में कम खाना, डिब्बाबंद मीट या सब्जियों से परहेज करना और नमकीन डेली मीट और बेकन से परहेज करना या शामिल करना शामिल है।
• शराब:
अपने जिगर को विराम देने की तलाश में किसी को भी शराब के अपने सेवन को कम करने या आहार से पूरी तरह से खत्म करने पर विचार करना चाहिए।

यकृत रोग से लड़ने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि यदि संभव हो तो इससे बचें। लीवर की सेहत को हासिल करने के लिए यहां 13 आजमाए गए और सच्चे तरीके हैं!

1. स्वस्थ वजन बनाए रखें।यदि आप मोटे हैं या कुछ हद तक अधिक वजन वाले हैं, तो आपको फैटी लिवर होने का खतरा है जो कि गैर-अल्कोहल फैटी लिवर रोग (एनएएफएलडी) हो सकता है, जो लिवर की बीमारी के सबसे तेजी से बढ़ते रूपों में से एक है। लीवर की चर्बी को कम करने में मदद करने के लिए वजन कम करना एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।
2. एक संतुलित आहार खाएं। उच्च कैलोरी-भोजन, संतृप्त वसा, परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट (जैसे सफेद ब्रेड, सफेद चावल और नियमित पास्ता) और शर्करा से बचें। कच्चे या अधपके शंख न खाएं। अच्छी तरह से समायोजित आहार के लिए, फाइबर खाएं, जिसे आप ताजे फल, सब्जियां, साबुत अनाज ब्रेड, चावल और अनाज से प्राप्त कर सकते हैं। मांस भी खाएं (लेकिन लाल मांस की मात्रा को सीमित करें), डेयरी (कम वसा वाला दूध और कम मात्रा में पनीर) और वसा ("अच्छा" वसा) जो मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड होते हैं जैसे वनस्पति तेल, नट, बीज, और मछली। । हाइड्रेशन जरूरी है, इसलिए ढेर सारा पानी पिएं।
3. नियमित रूप से व्यायाम करें। जब आप लगातार व्यायाम करते हैं, तो यह ईंधन के लिए ट्राइग्लिसराइड्स को जलाने में मदद करता है और यकृत की वसा को भी कम कर सकता है।
4. विषाक्त पदार्थों से बचें। विषाक्त पदार्थ यकृत कोशिकाओं को घायल कर सकते हैं। सफाई और एरोसोल उत्पादों, कीटनाशकों, रसायनों और एडिटिव्स से विषाक्त पदार्थों के साथ सीधे संपर्क को सीमित करें। जब आप एरोसोल का उपयोग करते हैं, तो सुनिश्चित करें कि कमरा हवादार है, और मास्क पहनें। धूम्रपान न करें।
5. शराब का उपयोग जिम्मेदारी से करें। मादक पेय कई स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकते हैं। वे यकृत कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं या नष्ट कर सकते हैं और आपके जिगर को नुकसान पहुंचा सकते हैं। अपने डॉक्टर से बात करें कि आपके लिए शराब की मात्रा कितनी सही है। आपको केवल मॉडरेशन में शराब पीने या पूरी तरह से छोड़ने की सलाह दी जा सकती है।
6. अवैध दवाओं के उपयोग से बचें। 2012 में, 12 या उससे अधिक उम्र के लगभग 24 मिलियन अमेरिकी वर्तमान अवैध ड्रग उपयोगकर्ता थे, जिसका अर्थ है कि उन्होंने सर्वेक्षण साक्षात्कार से पहले महीने के दौरान एक अवैध दवा का इस्तेमाल किया था। यह अनुमान 12 या उससे अधिक आयु वर्ग के 9.2 प्रतिशत लोगों का प्रतिनिधित्व करता है। गैर-औषधीय रूप से इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं में मारिजुआना / हैश, कोकीन (दरार सहित), हेरोइन, हॉलुकिनोजेन्स, इनहेलेंट या पर्चे-प्रकार के मनोचिकित्सक (दर्द निवारक, ट्रेंक्विलाइज़र, उत्तेजक और शामक) शामिल हैं।
7. दूषित सुइयों से बचें। बेशक, गंदे सुई केवल अंतःशिरा दवा के उपयोग से जुड़े नहीं हैं। आपको एक चिकित्सा व्यवसायी के साथ पालन करना चाहिए और किसी भी प्रकार की त्वचा के प्रवेश का परीक्षण करना चाहिए जिसमें तेज उपकरण या सुई शामिल हैं। असुरक्षित इंजेक्शन प्रथाओं, हालांकि दुर्लभ, एक अस्पताल सेटिंग में हो सकता है, और तत्काल अनुवर्ती की आवश्यकता होगी। इसके अलावा, टैटू और बॉडी पियर्सिंग के लिए केवल साफ सुइयों का उपयोग करें।
8. चिकित्सा देखभाल प्राप्त करेंयदि आप रक्त के संपर्क में हैं। यदि किसी भी कारण से आप किसी और के खून के संपर्क में आते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से मिलें। यदि आप बहुत चिंतित हैं, तो अपने नजदीकी अस्पताल के आपातकालीन कक्ष में जाएँ।
9. व्यक्तिगत स्वच्छता आइटम साझा न करें। उदाहरण के लिए, रेजर, टूथब्रश और नाखून कतरनी रक्त के सूक्ष्म स्तर या शरीर के अन्य तरल पदार्थ ले जा सकते हैं जो दूषित हो सकते हैं।
10. सुरक्षित सेक्स का अभ्यास करें। असुरक्षित यौन संबंध या कई सहयोगियों के साथ सेक्स करने से हेपेटाइटिस बी और हेपेटाइटिस सी का खतरा बढ़ जाता है।
11. अपने हाथ धोएं। बाथरूम का उपयोग करने के तुरंत बाद, जब आपने डायपर बदला हो, और खाना बनाने या खाने से पहले साबुन और गर्म पानी का उपयोग करें।
12. सभी दवाओं पर निर्देशों का पालन करें। जब गलत तरीके से दवाइयाँ बहुत गलत तरीके से ली जाती हैं, या दवाओं को मिलाकर, आपके लीवर को नुकसान पहुँचाया जा सकता है। अन्य दवाओं और दवाओं के साथ कभी भी शराब न मिलाएं, भले ही वे एक ही समय में न ली गई हों। अपने चिकित्सक को किसी भी ओवर-द-काउंटर दवाओं, पूरक, और प्राकृतिक या हर्बल उपचार के बारे में बताएं जो आप उपयोग करते हैं।
13. टीका लगवाएं। हेपेटाइटिस ए और हेपेटाइटिस बी के लिए टीके हैं। दुर्भाग्य से, हेपेटाइटिस सी वायरस के खिलाफ कोई टीका नहीं है।

इसके बारे में और अधिक पढ़ें:


• शरीर में उचित पोषण की भूमिका उचित पोषण का महत्व
• क्या लीवर की बीमारी को रोका जा सकता है? क्या लिवर की बीमारी ठीक हो सकती है?
• क्या फास्ट फूड खाने से आपके लीवर को नुकसान पहुंच सकता है? क्या फास्ट फूड खाना सेहत के लिए नुकसानदेह है?




उपर ब्लॉग में बताई गई उपलब्धियाक लिवोक्यूमिन के साथ उपलब्ध हैं।
लिवोक्यूमिन करक्यूमिन, आर्द्राका (अदरक), कटुका, यावक्षरा, चित्रका, मार्च (काली मिर्च), सरजिकक्षा, अमलाकाई (आंवला), चुना, हरितकी जैसे प्राकृतिक अवयवों का संयोजन है जो एनएएफएलडी (नॉन अल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज), इंफेक्टिविस, हेपेटाइटिस स्टोन्स, पीलिया और इंडिसेशन के प्रबंधन में है । न्यूट्रालॉजिक्स: लिवोक्यूमिन



AFDIL Ltd.
+91 9920121021

order@afdil.com

Read Also:


Disclaimer
Home