Bone Marrow Transplantation

bone marrow transplantation

Introduction

A bone marrow transplant is a medical procedure performed to replace bone marrow that has been damaged or destroyed by disease, infection, or chemotherapy. This procedure involves transplanting blood stem cells, which travel to the bone marrow where they produce new blood cells and promote growth of new marrow.
Bone marrow is the spongy, fatty tissue inside your bones. It creates the following parts of the blood:
• red blood cells, which carry oxygen and nutrients throughout the body
• white blood cells, which fight infection
• platelets, which are responsible for the formation of clots.
Most cells are already differentiated and can only make copies of themselves. However, these stem cells are unspecialized, meaning they have the potential to multiply through cell division and either remain stem cells or differentiate and mature into many different kinds of blood cells. The HSC found in the bone marrow will make new blood cells throughout your lifespan.
A bone marrow transplant replaces your damaged stem cells with healthy cells. This helps your body make enough white blood cells, platelets, or red blood cells to avoid infections, bleeding disorders, or anemia.
Healthy stem cells can come from a donor, or they can come from your own body. In such cases, stem cells can be harvested, or grown, before you start chemotherapy or radiation treatment. Those healthy cells are then stored and used in transplantation.

HOW DOES BONE MARROW TRANSPLANT WORK:
A blood or marrow transplant (BMT) replaces unhealthy blood-forming cells with healthy ones. Blood-forming cells (blood stem cells) are immature cells that grow into red blood cells, white blood cells and platelets. They’re found in the soft tissue inside your bones, called bone marrow. When they’re mature, they leave the marrow and enter the bloodstream.
Before transplant, you get chemotherapy (chemo) and sometimes radiation to destroy the diseased cells and marrow. Then, the healthy cells are given to you.
BMT is not surgery. The new cells go into your bloodstream through an intravenous (IV) catheter or tube. It’s just like getting blood or medicine through an IV. From there, the cells find their way into your marrow.
These healthy cells comes from three sources:
Bone marrow: Spongy tissue inside of bones.
Peripheral blood stem cells (PBSC): Blood-forming cells from the circulating blood.
Cord blood: The blood collected from the umbilical cord and placenta after a baby is born.

Bone marrow transplant

DIFFERENT TYPES OF BMT:

There are 2 main types of transplant:
1. An autologous transplant uses your own blood-forming cells. Stem cells for an autologous transplant come from your own body. Sometimes, cancer is treated with a high-dose, intensive chemotherapy or radiation therapy treatment. This type of treatment can damage your stem cells and your immune system. That's why doctors remove, or rescue, your stem cells from your blood or bone marrow before the cancer treatment begins.
After chemotherapy, the stem cells are returned to your body, restoring your immune system and your body's ability to produce blood cells and fight infection. This process is also called an AUTO transplant or stem cell rescue.
2. An allogeneic transplant uses blood-forming cells donated by someone else. Stem cells for an allogenic transplant come from another person, called a donor. The donor's stem cells are given to the patient after the patient has chemotherapy and/or radiation therapy.

Many people have a “graft-versus-cancer cell effect” during an ALLO transplant. This is when the new stem cells recognize and destroy cancer cells that are still in the body. This is the main way ALLO transplants work to treat the cancer.

Finding a “donor match” is a necessary step for an ALLO transplant. A match is a healthy donor whose blood proteins, called human leukocyte antigens (HLA), closely match yours. This process is called HLA typing. Siblings from the same parents are often the best match, but another family member or an unrelated volunteer can be a match too. If your donor’s proteins closely match yours, you are less likely to get a serious side effect called graft-versus-host disease (GVHD). In this condition, the healthy transplant cells attack your cells. The cells can come from:
a) A family member. This could be someone with closely matched human leukocyte antigens (HLA) like a sibling. Or this could be someone who matches half of your HLA, like a parent or child.
b) An unrelated adult donor or cord blood unit through the Be the Match Registry.

3. Umbilical cord blood transplant. In this type of transplant, stem cells from umbilical cord blood are used. The umbilical cord connects a fetus to its mother before birth. After birth, the baby does not need it. Cancer centers around the world use cord blood.
4. Parent-child transplant and haplotype mismatched transplant. Cells from a parent, child, brother, or sister are not always a perfect match for a patient's HLA type, but they are a 50% match. Doctors are using these types of transplants more often, to expand the use of transplantation as an effective cancer treatment.

Bone marrow

WHY YOU MIGHT NEED A TRANSPLANT

WHY YOU MIGHT NEED A TRANSPLANT
Bone marrow transplants are performed when a person’s marrow isn’t healthy enough to function properly. This could be due to chronic infections, disease, or cancer treatments. Some reasons for a bone marrow transplant include:
• aplastic anemia, which is a disorder in which the marrow stops making new blood cells
• cancers that affect the marrow, such as leukemia, lymphoma, and multiple myeloma
• damaged bone marrow due to chemotherapy
• congenital neutropenia, which is an inherited disorder that causes recurring infections
• sickle cell anemia, which is an inherited blood disorder that causes misshapen red blood cells
• thalassemia, which is an inherited blood disorder where the body makes an abnormal form of hemoglobin, an integral part of red blood cells

WHAT TO CONSIDER BEFORE A TRANSPLANT
Your doctor will recommend the best transplant option for you. Your options depend on the specific disease diagnosed, how healthy your bone marrow is, your age, and your general health. For example, if you have cancer or another disease in your bone marrow, you will probably have an ALLO transplant because the replacement stem cells need to come from a healthy donor.
Before your transplant, you might need to travel to a center that does many stem cell transplants. Your doctor may need to go, too. At the center, you will talk with a transplant specialist and have a medical examination and different tests.
A transplant will require a lot of time receiving medical care away from your daily life. It is best to have a family care-giver with you. And, a transplant is an expensive medical process. Talk about these questions with your health care team and your loved ones:
• Can you describe the role of my family caregiver in taking care of me?
• How long will I and my caregiver be away from work and family responsibilities?
• Will I need to stay in the hospital? If so, when and how long?
• Will my insurance pay for this transplant? What is my coverage for my follow-up care?
• How long will I need medical tests during my recovery?

HOW DO YOU KNOW IF THE TRANSPLANT WORK?
• A successful transplant may mean different things to you, your family, and your health care team. Here are 2 ways to know if your transplant worked well.
• Your blood counts are back to safe levels. A blood count measures the levels of red blood cells, white blood cells, and platelets in your blood. At first, the transplant makes these numbers very low for 1 to 2 weeks. This affects your immune system and puts you at a risk for infections, bleeding, and tiredness. Your health care team will lower these risks by giving your blood and platelet transfusions. You will also take antibiotics to help prevent infections.
• When the new stem cells multiply, they make more blood cells. Then your blood counts will go back up. This is one way to know if a transplant was a success.
• Your cancer is controlled. Curing your cancer is often the goal of a bone marrow/stem cell transplant. A cure may be possible for certain cancers, such as some types of leukemia and lymphoma. For other diseases, remission of the cancer is the best possible result. Remission is having no signs or symptoms of cancer.
• As discussed above, you need to see your doctor and have tests regularly after a transplant. This is to watch for any signs of cancer or complications from the transplant, as well as to provide care for any side effects you experience. This follow-up care is an important part of your recovery.

Components of bone marrow

COMPLICATIONS ASSOCIATED WITH BONE MARROW TRANSPLANT

A bone marrow transplant is considered a major medical procedure and increases your risk of experiencing:
• a drop in blood pressure
• a headache
• nausea
• pain
• chills
The above symptoms are typically short-lived, but a bone marrow transplant can cause complications. Your chances of developing these complications depend on several factors, including:
• your age
• your overall health
• the type of transplant you’ve received
Complications can be mild or very serious, and they can include:
• graft-versus-host disease (GVHD), which is a condition in which donor cells attack your body
• graft failure, which occurs when transplanted cells don’t begin producing new cells as planned
• cataracts, which is characterized by clouding in the lens of the eye
• damage to vital organs
• anemia, which occurs when the body doesn’t produce enough red blood cells
• infections
• mucositis, which is a condition that causes inflammation and soreness in the mouth, throat, and stomach.

PREPARATION FOR BONE MARROW TRANSPLANT

Prior to your transplant, you’ll undergo several tests to discover what type of bone marrow cells you need.You may also undergo radiation or chemotherapy to kill off all cancer cells or marrow cells before you get the new stem cells.
Bone marrow transplants take up to a week. Therefore, you must make arrangements before your first transplant session. These can include:
• housing near the hospital for your loved ones
• insurance coverage, payment of bills, and other financial concerns
• care of children or pets
• taking medical leave from work
• packing clothes and other necessities
• arranging travel to and from the hospital
During treatments, your immune system will be compromised, affecting its ability to fight infections. Therefore, you’ll stay in a special section of the hospital that’s reserved for people receiving bone marrow transplants. This reduces your risk of being exposed to anything that could cause an infection.
Don’t hesitate to bring a list of questions to ask your doctor. You can write down the answers or bring a friend to listen and take notes. It’s important that you feel comfortable and confident before the procedure and that all of your questions are answered thoroughly.
Some hospitals have counselors available to talk with patients. The transplant process can be emotionally taxing. Talking to a professional can help you through this process.

HOW IS BONE MARROW TRANSPLANT PERFORMED
The procedure is similar to a blood transfusion.
If you’re having an allogeneic transplant, bone marrow cells will be harvested from your donor a day or two before your procedure. If your own cells are being used, they’ll be retrieved from the stem cell bank.
Cells are collected in two ways:
• Bone marrow harvest -- This minor surgery is done under general anesthesia. This means the donor will be asleep and pain-free during the procedure. The bone marrow is removed from the back of both hip bones. The amount of marrow removed depends on the weight of the person who is receiving it.

During a bone marrow harvest, cells are collected from both hipbones through a needle. You’re under anesthesia for this procedure, meaning you’ll be asleep and free of any pain.

Leukapheresis:
During leukapheresis, a donor is given five shots to help the stem cells move from the bone marrow and into the bloodstream. Blood is then drawn through an intravenous (IV) line, and a machine separates out the white blood cells that contain stem cells.
A needle called a central venous catheter, or a port, will be installed on the upper right portion of your chest. This allows the fluid containing the new stem cells to flow directly into your heart. The stem cells then disperse throughout your body. They flow through your blood and into the bone marrow. They’ll become established there and begin to grow.
The port is left in place because the bone marrow transplant is done over several sessions for a few days. Multiple sessions give the new stem cells the best chance to integrate themselves into your body. That process is known as engraftment.
Through this port, you’ll also receive blood transfusions, liquids, and possibly nutrients. You may need medications to fight off infections and help the new marrow grow. This depends on how well you handle the treatments.
During this time, you’ll be closely monitored for any complications.

WHAT TO EXPECT AFTER BONE MARROW TRANSPLANT
The success of a bone marrow transplant is primarily dependent on how closely the donor and recipient genetically match. Sometimes, it can be very difficult to find a good match among unrelated donors.
The state of your engraftment will be regularly monitored. It’s generally complete between 10 and 28 days after the initial transplant. The first sign of engraftment is a rising white blood cell count. This shows that the transplant is starting to make new blood cells.
Typical recovery time for a bone marrow transplant is about three months. However, it may take up to a year for you to recover fully. Recovery depends on numerous factors, including:
• the condition being treated
• chemotherapy
• radiation
• donor match
• where the transplant is performed
There’s a possibility that some of the symptoms you experience after the transplant will remain with you for the rest of your life.
When the new stem cells enter your body, they travel through your blood to your bone marrow. In time, they multiply and begin to make new, healthy blood cells. This is called engraftment. It usually takes several weeks before the number of blood cells in your body starts to return to normal. In some people, it may take longer.
In the days and weeks after your bone marrow transplant, you'll have blood tests and other tests to monitor your condition. You may need medicine to manage complications, such as nausea and diarrhea.
After your bone marrow transplant, you'll remain under close medical care. If you're experiencing infections or other complications, you may need to stay in the hospital for several days or sometimes longer. Depending on the type of transplant and the risk of complications, you'll need to remain near the hospital for several weeks to months to allow close monitoring.
You may also need periodic transfusions of red blood cells and platelets until your bone marrow begins producing enough of those cells on its own.
You may be at greater risk of infections or other complications for months to years after your transplant. You'll have periodic lifelong follow-up appointments with your doctor to monitor for late complications.

RISKS and PROGNOSIS

RISK
A bone marrow transplant poses numerous risks. Some people experience minimal problems with a bone marrow transplant, while others can have serious complications that require treatment or hospitalization. Sometimes, complications are life-threatening.
Your particular risks depend on many factors, including the disease or condition that caused you to need a transplant, the type of transplant, and your age and overall health.
Possible complications from a bone marrow transplant include:
• Graft-versus-host disease (allogeneic transplant only)
• Organ damage
• Infections
• Infertility
• Death
Your doctor can explain your risk of complications from a bone marrow transplant. Together you can weigh the risks and benefits to decide whether a bone marrow transplant is right for you.

PROGNOSIS
How well you do after the transplant depends on:
• How well the donor's cells match yours
• Your age and overall health
• Any complications you may have
A bone marrow transplant may completely or partially cure your illness. If the transplant is a success, you can go back to most of your normal activities as soon as you feel well enough. Usually it takes up to 1 year to recover fully, depending on what complications occur.
Complications or failure of the bone marrow transplant can lead to death.

Graft-versus-host disease: A potential risk when stem cells come from donors
If you receive a transplant that uses stem cells from a donor (allogeneic transplant), you may be at risk of developing graft-versus-host disease (GVHD). This condition occurs when the donor stem cells that make up your new immune system see your body's tissues and organs as something foreign and attack them.
GVHD may happen at any time after your transplant. Many people who have an allogeneic transplant get GVHD at some point. The risk of GVHD is a bit greater if the stem cells come from an unrelated donor, but it can happen to anyone who gets a bone marrow transplant from a donor.There are two kinds of GVHD: acute and chronic. Acute GVHD usually happens earlier, during the first months after your transplant. It typically affects your skin, digestive tract or liver. Chronic GVHD typically develops later and can affect many organs.
Chronic GVHD signs and symptoms include:
• Joint or muscle pain
• Persistent cough
• Skin changes, including scarring under the skin or skin stiffness
• Yellow tint to your skin or the whites of your eyes (jaundice)
• Dry mouth
• Diarrheav
• Vomiting

COLLECTING STEM CELLS FOR AUTOLOGOUS TRANSPLANT
If a transplant using your own stem cells (autologous transplant) is planned, you'll undergo a procedure called apheresis (af-uh-REE-sis) to collect blood stem cells.Before apheresis, you'll receive daily injections of growth factor to increase stem cell production and move stem cells into your circulating blood so that they can be collected.During apheresis, blood is drawn from a vein and circulated through a machine. The machine separates your blood into different parts, including stem cells. These stem cells are collected and frozen for future use in the transplant. The remaining blood is returned to your body.

COLLECTING STEM CELLS FROM ALLOGENEIC TRANSPLANT
If you're having a transplant using stem cells from a donor (allogeneic transplant), you will need a donor. Once a donor is found, stem cells are gathered from that person for the transplant.Stem cells can come from your donor's blood or bone marrow. Your transplant team decides which is better for you based on your situation.Another type of allogeneic transplant uses stem cells from the blood of umbilical cords (cord blood transplant). Mothers can choose to donate umbilical cords after their babies' births. The blood from these cords is frozen and stored in a cord blood bank until needed for a bone marrow transplant.

Bone marrow Transplant process

POST TREATMENT AND TREATMENT

THE CONDITIONING PROCESS
After you complete your pre-transplant tests and procedures, you begin a process known as conditioning. During conditioning, you'll undergo chemotherapy and possibly radiation to:
• Destroy cancer cells if you are being treated for a malignancy
• Suppress your immune system
The type of conditioning process you receive depends on a number of factors, including your disease, overall health and the type of transplant planned. You may have both chemotherapy and radiation or just one of these treatments as part of your conditioning treatment.
Side effects of the conditioning process can include:
• Nausea and vomiting
• Diarrhea
• Hair loss
• Mouth sores or ulcers
• Infection
• Bleeding
• Infertility or sterility
• Anemia
• Cataracts
• Organ complications, such as heart, liver or lung failure
You may be able to take medications or other measures to reduce such side effects.

REDUCED-INTENSITY CONDITIONING
Based on your age and health history, your doctor may recommend lower doses or different types of chemotherapy or radiation for your conditioning treatment. This is called reduced-intensity conditioning.Reduced-intensity conditioning kills some cancer cells and suppresses your immune system. Then, the donor's cells are infused into your body. Donor cells replace cells in your bone marrow over time. Immune factors in the donor cells may then fight your cancer cells.

MEDICATIONS
If your bone marrow transplant is using stem cells from a donor (allogeneic transplant), your doctors may prescribe medications to help prevent graft-versus-host disease and reduce your immune system's reaction (immunosuppressive medications).After your transplant, it takes time for your immune system to recover. During this time, you may be given medications to prevent infections.

DIET AND OTHER LIFESTYLE FACTORS
After your bone marrow transplant, you may need to adjust your diet to stay healthy and to prevent excessive weight gain. Your nutrition specialist (dietitian) and other members of your transplant team will work with you to create a healthy-eating plan that meets your needs and complements your lifestyle. Your dietitian can also give you food suggestions to control side effects of chemotherapy and radiation, such as nausea.
• Eating a wide variety of healthy foods, including vegetables; fruits; whole grains; lean meats, poultry and fish; legumes; and healthy fats, such as olive oil
• Limiting salt intake
• Restricting alcohol
• Avoiding grapefruit and grapefruit juice due to their effect on a group of immunosuppressive medications (calcineurin inhibitors)
After your bone marrow transplant, regular physical activity helps you control your weight, strengthen your bones, increase your endurance, strengthen your muscles and keep your heart healthy. As you recover, you can slowly increase your physical activity.
Taking steps to prevent cancer is even more important after your transplant. Don't smoke. Wear sunscreen when you're outside, and be sure to get the cancer screenings your doctor recommends.

COPING AND SUPPORT
Living with a bone marrow transplant or waiting for a bone marrow transplant can be difficult, and it's normal to have fears and concerns.Having support from your friends and family can be helpful. Also, you and your family may benefit from joining a support group of people who understand what you're going through and who can provide support.Support groups offer a place for you and your family to share fears, concerns, difficulties and successes with people who have had similar experiences. You may meet people who have already had a transplant or who are waiting for a transplant.
A bone marrow transplant can cure some diseases and put others into remission. Goals of a bone marrow transplant depend on your individual situation, but usually include controlling or curing your disease, extending your life, and improving your quality of life.Some people complete bone marrow transplantation with few side effects and complications. Others experience numerous challenging problems, both short and long term. The severity of side effects and the success of the transplant vary from person to person and sometimes can be difficult to predict before the transplant.
It can be discouraging if significant challenges arise during the transplant process. However, it is sometimes helpful to remember that there are many survivors who also experienced some very difficult days during the transplant process but ultimately had successful transplants and have returned to normal activities with a good quality of life.

Related topics:

1. What is bronchitis and how it's treatable ?

Bronchitis and its remedies

2. How harmfull is diverticulitis ?

Diverticulitis symptoms and treatment

3. Know more about boosting immunity

How to boost immunity




The above essentials are available with AFD SHIELD.
AFD Shield capsule is a combination of 12 natural ingredients among which are Algal DHA, Ashwagandha, Curcumin and Spirullina. AFD Shield reduces TG, increases HDL and improves age related cognitive decline. It also reduces stress and anxiety and performs anti-aging activity.Moreover, it also enhances the immunomodulatory activity, improves immunity and reduces inflammation and oxidative stress. Nutralogicx: AFD SHIELD

अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के लिए गाइड

bone marrow transplantation

परिचय

अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण एक चिकित्सा प्रक्रिया है जो अस्थि मज्जा को बदलने के लिए की जाती है जो बीमारी, संक्रमण या कीमोथेरेपी से क्षतिग्रस्त या नष्ट हो गई है। इस प्रक्रिया में रक्त स्टेम कोशिकाओं का प्रत्यारोपण शामिल है, जो अस्थि मज्जा की यात्रा करते हैं जहां वे नई रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करते हैं और नए मज्जा के विकास को बढ़ावा देते हैं।
अस्थि मज्जा आपकी हड्डियों के अंदर स्पंजी, वसायुक्त ऊतक है। यह रक्त के निम्नलिखित भागों का निर्माण करता है:
• लाल रक्त कोशिकाएं, जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन और पोषक तत्व ले जाती हैं
• सफेद रक्त कोशिकाएं, जो संक्रमण से लड़ती हैं
• प्लेटलेट्स, जो थक्कों के निर्माण के लिए जिम्मेदार होती हैं।
अधिकांश कोशिकाएं पहले से ही विभेदित हैं और केवल स्वयं की प्रतियां बना सकती हैं। हालांकि, ये स्टेम कोशिकाएं विशिष्ट नहीं हैं, जिसका अर्थ है कि उनके पास कोशिका विभाजन के माध्यम से गुणा करने की क्षमता है और या तो स्टेम कोशिकाएं रहती हैं या कई अलग-अलग प्रकार की रक्त कोशिकाओं में अंतर और परिपक्व होती हैं। अस्थि मज्जा में पाया जाने वाला एचएससी आपके पूरे जीवन काल में नई रक्त कोशिकाओं का निर्माण करेगा।
बोन मैरो ट्रांसप्लांट आपके क्षतिग्रस्त स्टेम सेल को स्वस्थ कोशिकाओं से बदल देता है। यह आपके शरीर को संक्रमण, रक्तस्राव विकारों या एनीमिया से बचने के लिए पर्याप्त सफेद रक्त कोशिकाओं, प्लेटलेट्स या लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है।
स्वस्थ स्टेम सेल दाता से आ सकते हैं, या वे आपके अपने शरीर से आ सकते हैं। ऐसे मामलों में, कीमोथेरेपी या विकिरण उपचार शुरू करने से पहले स्टेम सेल को काटा या उगाया जा सकता है। फिर उन स्वस्थ कोशिकाओं को संग्रहीत किया जाता है और प्रत्यारोपण में उपयोग किया जाता है। अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण

कैसे काम करता है:
रक्त या मज्जा प्रत्यारोपण (बीएमटी) अस्वस्थ रक्त बनाने वाली कोशिकाओं को स्वस्थ कोशिकाओं से बदल देता है। रक्त बनाने वाली कोशिकाएँ (रक्त स्टेम कोशिकाएँ) अपरिपक्व कोशिकाएँ होती हैं जो लाल रक्त कोशिकाओं, श्वेत रक्त कोशिकाओं और प्लेटलेट्स में विकसित होती हैं। वे आपकी हड्डियों के अंदर के कोमल ऊतकों में पाए जाते हैं, जिन्हें अस्थि मज्जा कहा जाता है। जब वे परिपक्व होते हैं, तो वे मज्जा छोड़ देते हैं और रक्तप्रवाह में प्रवेश करते हैं।
प्रत्यारोपण से पहले, आप रोगग्रस्त कोशिकाओं और मज्जा को नष्ट करने के लिए कीमोथेरेपी (कीमो) और कभी-कभी विकिरण प्राप्त करते हैं। फिर, आपको स्वस्थ कोशिकाएं दी जाती हैं।
बीएमटी सर्जरी नहीं है। नई कोशिकाएं एक अंतःशिरा (IV) कैथेटर या ट्यूब के माध्यम से आपके रक्तप्रवाह में जाती हैं। यह ठीक वैसा ही है जैसे किसी IV के माध्यम से रक्त या दवा प्राप्त करना। वहां से, कोशिकाएं आपके मज्जा में अपना रास्ता खोज लेती हैं।
ये स्वस्थ कोशिकाएं तीन स्रोतों से आती हैं:
अस्थि मज्जा: हड्डियों के अंदर स्पंजी ऊतक।
परिधीय रक्त स्टेम सेल (PBSC): परिसंचारी रक्त से रक्त बनाने वाली कोशिकाएं।
गर्भनाल रक्त: बच्चे के जन्म के बाद गर्भनाल और प्लेसेंटा से एकत्रित रक्त।

Bone marrow transplant

बीएमटी के विभिन्न प्रकार:

प्रत्यारोपण के 2 मुख्य प्रकार हैं:
1. एक ऑटोलॉगस प्रत्यारोपण आपके स्वयं के रक्त बनाने वाली कोशिकाओं का उपयोग करता है। ऑटोलॉगस ट्रांसप्लांट के लिए स्टेम सेल आपके अपने शरीर से आते हैं। कभी-कभी, कैंसर का इलाज उच्च खुराक, गहन कीमोथेरेपी या विकिरण चिकित्सा उपचार से किया जाता है। इस प्रकार का उपचार आपके स्टेम सेल और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए डॉक्टर कैंसर का इलाज शुरू होने से पहले आपके रक्त या अस्थि मज्जा से आपके स्टेम सेल को हटा देते हैं या बचा लेते हैं।
कीमोथेरेपी के बाद, स्टेम सेल आपके शरीर में वापस आ जाते हैं, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बहाल करते हैं और आपके शरीर की रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करने और संक्रमण से लड़ने की क्षमता को बहाल करते हैं। इस प्रक्रिया को ऑटो ट्रांसप्लांट या स्टेम सेल रेस्क्यू भी कहा जाता है।
2. एक एलोजेनिक प्रत्यारोपण किसी अन्य व्यक्ति द्वारा दान की गई रक्त बनाने वाली कोशिकाओं का उपयोग करता है। एलोजेनिक ट्रांसप्लांट के लिए स्टेम सेल दूसरे व्यक्ति से आते हैं, जिसे डोनर कहा जाता है। रोगी की कीमोथेरेपी और/या विकिरण चिकित्सा होने के बाद रोगी को दाता की स्टेम कोशिकाएँ दी जाती हैं।

ALLO प्रत्यारोपण के दौरान बहुत से लोगों का "भ्रष्टाचार-बनाम-कैंसर कोशिका प्रभाव" होता है। यह तब होता है जब नई स्टेम कोशिकाएं शरीर में मौजूद कैंसर कोशिकाओं को पहचानती हैं और नष्ट कर देती हैं। यह मुख्य तरीका है ALLO प्रत्यारोपण कैंसर के इलाज के लिए काम करता है।
ALLO ट्रांसप्लांट के लिए एक "डोनर मैच" ढूँढना एक आवश्यक कदम है। एक माचिस एक स्वस्थ दाता है जिसका रक्त प्रोटीन, जिसे मानव ल्यूकोसाइट एंटीजन (HLA) कहा जाता है, आपके साथ निकटता से मेल खाता है। इस प्रक्रिया को एचएलए टाइपिंग कहा जाता है। एक ही माता-पिता के भाई-बहन अक्सर सबसे अच्छे मेल खाते हैं, लेकिन परिवार का कोई अन्य सदस्य या असंबंधित स्वयंसेवक भी एक मैच हो सकता है। यदि आपके डोनर के प्रोटीन आपके प्रोटीन से काफी मेल खाते हैं, तो आपको ग्राफ्ट-बनाम-होस्ट रोग (जीवीएचडी) नामक एक गंभीर दुष्प्रभाव होने की संभावना कम है। इस स्थिति में, स्वस्थ प्रत्यारोपण कोशिकाएं आपकी कोशिकाओं पर हमला करती हैं। कोशिकाएँ निम्न से आ सकती हैं:
a) परिवार का कोई सदस्य। यह किसी भाई-बहन की तरह बारीकी से मेल खाने वाले मानव ल्यूकोसाइट एंटीजन (HLA) वाला कोई व्यक्ति हो सकता है। या यह कोई ऐसा व्यक्ति हो सकता है जो आपके माता-पिता या बच्चे की तरह आपके एचएलए के आधे से मेल खाता हो।
बी) मैच रजिस्ट्री के माध्यम से एक असंबंधित वयस्क दाता या गर्भनाल रक्त इकाई।

3. गर्भनाल रक्त प्रत्यारोपण। इस प्रकार के प्रत्यारोपण में, गर्भनाल रक्त से स्टेम सेल का उपयोग किया जाता है। गर्भनाल जन्म से पहले भ्रूण को उसकी मां से जोड़ती है। जन्म के बाद बच्चे को इसकी आवश्यकता नहीं होती है। दुनिया भर के कैंसर केंद्र गर्भनाल रक्त का उपयोग करते हैं।
4. पैरेंट-चाइल्ड ट्रांसप्लांट और हैप्लोटाइप बेमेल ट्रांसप्लांट। माता-पिता, बच्चे, भाई या बहन की कोशिकाएँ हमेशा रोगी के एचएलए प्रकार के लिए एकदम सही मेल नहीं होती हैं, लेकिन वे 50% मैच होती हैं। एक प्रभावी कैंसर उपचार के रूप में प्रत्यारोपण के उपयोग का विस्तार करने के लिए डॉक्टर इस प्रकार के प्रत्यारोपण का अधिक बार उपयोग कर रहे हैं।

Bone marrow

आपको प्रत्यारोपण की आवश्यकता क्यों पड़ सकती है

आपको
प्रत्यारोपण की आवश्यकता क्यों पड़ सकती है अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण तब किया जाता है जब किसी व्यक्ति का मज्जा ठीक से काम करने के लिए पर्याप्त स्वस्थ नहीं होता है। यह पुराने संक्रमण, बीमारी या कैंसर के उपचार के कारण हो सकता है। अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के कुछ कारणों में शामिल हैं:
• अप्लास्टिक एनीमिया, जो एक विकार है जिसमें मज्जा नई रक्त कोशिकाओं का निर्माण बंद कर देता है
• कैंसर जो मज्जा को प्रभावित करते हैं, जैसे ल्यूकेमिया, लिम्फोमा, और मल्टीपल मायलोमा
• कीमोथेरेपी के कारण क्षतिग्रस्त अस्थि मज्जा
• जन्मजात न्यूट्रोपेनिया, जो एक विरासत में मिला विकार है जो आवर्ती संक्रमण का कारण बनता है
• सिकल सेल एनीमिया, जो एक विरासत में मिला रक्त विकार है जो मिहापेन लाल रक्त कोशिकाओं का कारण बनता है
• थैलेसीमिया, जो एक विरासत में मिला रक्त विकार है, जिसमें शरीर हीमोग्लोबिन का असामान्य रूप बनाता है, लाल रक्त कोशिकाओं का एक अभिन्न अंग प्रत्यारोपण

से पहले क्या विचार करें
आपका डॉक्टर आपके लिए सर्वोत्तम प्रत्यारोपण विकल्प की सिफारिश करेगा। आपके विकल्प निदान की गई विशिष्ट बीमारी पर निर्भर करते हैं, आपका अस्थि मज्जा कितना स्वस्थ है, आपकी उम्र और आपका सामान्य स्वास्थ्य। उदाहरण के लिए, यदि आपके अस्थि मज्जा में कैंसर या कोई अन्य बीमारी है, तो संभवतः आपके पास एक ALLO प्रत्यारोपण होगा क्योंकि प्रतिस्थापन स्टेम कोशिकाओं को एक स्वस्थ दाता से आने की आवश्यकता होती है।
आपके प्रत्यारोपण से पहले, आपको ऐसे केंद्र की यात्रा करने की आवश्यकता हो सकती है जो कई स्टेम सेल प्रत्यारोपण करता है। आपके डॉक्टर को भी जाना पड़ सकता है। केंद्र में, आप एक प्रत्यारोपण विशेषज्ञ से बात करेंगे और एक चिकित्सा परीक्षण और विभिन्न परीक्षण करेंगे।
एक प्रत्यारोपण के लिए आपके दैनिक जीवन से दूर चिकित्सा देखभाल प्राप्त करने में बहुत समय लगेगा। आपके साथ परिवार की देखभाल करने वाला होना सबसे अच्छा है। और, एक प्रत्यारोपण एक महंगी चिकित्सा प्रक्रिया है। अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम और अपने प्रियजनों के साथ इन प्रश्नों के बारे में बात करें:
• क्या आप मेरी देखभाल करने में मेरे परिवार की देखभाल करने वाले की भूमिका का वर्णन कर सकते हैं?
• मैं और मेरी देखभाल करने वाला कब तक काम और पारिवारिक जिम्मेदारियों से दूर रहेंगे?
• क्या मुझे अस्पताल में रहने की आवश्यकता होगी? यदि हां, तो कब और कब तक ?
• क्या मेरा बीमा इस प्रत्यारोपण के लिए भुगतान करेगा? मेरी अनुवर्ती देखभाल के लिए मेरा कवरेज क्या है?
• मेरे ठीक होने के दौरान मुझे कितने समय तक चिकित्सा परीक्षणों की आवश्यकता होगी?

आप कैसे जानते हैं कि प्रत्यारोपण काम करता है?
• एक सफल प्रत्यारोपण आपके, आपके परिवार और आपकी स्वास्थ्य देखभाल टीम के लिए अलग-अलग मायने रख सकता है। यह जानने के 2 तरीके यहां दिए गए हैं कि आपका प्रत्यारोपण ठीक से काम कर रहा है या नहीं।
• आपकी रक्त गणना सुरक्षित स्तर पर वापस आ गई है। एक रक्त गणना आपके रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं, सफेद रक्त कोशिकाओं और प्लेटलेट्स के स्तर को मापती है। सबसे पहले, प्रत्यारोपण इन संख्याओं को 1 से 2 सप्ताह तक बहुत कम कर देता है। यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करता है और आपको संक्रमण, रक्तस्राव और थकान के जोखिम में डालता है। आपकी स्वास्थ्य देखभाल टीम आपका रक्त और प्लेटलेट ट्रांसफ़्यूज़न देकर इन जोखिमों को कम करेगी। संक्रमण को रोकने में मदद के लिए आप एंटीबायोटिक्स भी लेंगे।
• जब नई स्टेम कोशिकाएं गुणा करती हैं, तो वे अधिक रक्त कोशिकाएं बनाती हैं। फिर आपके ब्लड काउंट वापस बढ़ जाएंगे। यह जानने का एक तरीका है कि क्या प्रत्यारोपण सफल रहा।
• आपका कैंसर नियंत्रित है। आपके कैंसर का इलाज अक्सर अस्थि मज्जा/स्टेम सेल प्रत्यारोपण का लक्ष्य होता है। कुछ प्रकार के कैंसर का इलाज संभव हो सकता है, जैसे कि कुछ प्रकार के ल्यूकेमिया और लिम्फोमा। अन्य बीमारियों के लिए, कैंसर की छूट सर्वोत्तम संभव परिणाम है। छूट में कैंसर के कोई लक्षण या लक्षण नहीं हैं।
• जैसा कि ऊपर चर्चा की गई है, आपको अपने डॉक्टर से मिलने और प्रत्यारोपण के बाद नियमित रूप से परीक्षण कराने की आवश्यकता है। यह प्रत्यारोपण से कैंसर या जटिलताओं के किसी भी लक्षण को देखने के साथ-साथ आपके द्वारा अनुभव किए जाने वाले किसी भी दुष्प्रभाव की देखभाल करने के लिए है। यह अनुवर्ती देखभाल आपके ठीक होने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

Components of bone marrow

अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण से जुड़ी जटिलताएं

अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण को एक प्रमुख चिकित्सा प्रक्रिया माना जाता है और आपके अनुभव के जोखिम को बढ़ाता है:
• रक्तचाप में गिरावट
• सिरदर्द
• मतली
• दर्द
• ठंड लगना
उपरोक्त लक्षण आमतौर पर अल्पकालिक होते हैं, लेकिन अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण जटिलताओं का कारण बन सकता है। इन जटिलताओं के विकसित होने की आपकी संभावना कई कारकों पर निर्भर करती है, जिनमें शामिल हैं:
• आपकी उम्र
• आपका समग्र स्वास्थ्य
• आपको किस प्रकार का प्रत्यारोपण मिला है,
जटिलताएं हल्की या बहुत गंभीर हो सकती हैं, और उनमें शामिल हो सकते हैं:
• ग्राफ्ट-बनाम-होस्ट रोग ( जीवीएचडी), जो एक ऐसी स्थिति है जिसमें दाता कोशिकाएं आपके शरीर पर हमला करती हैं
• ग्राफ्ट विफलता, जो तब होती है जब प्रतिरोपित कोशिकाएं योजना के अनुसार नई कोशिकाओं का निर्माण शुरू नहीं करती हैं
• मोतियाबिंद, जो आंखों के लेंस में बादल छाने की विशेषता है
• महत्वपूर्ण अंगों को नुकसान
• एनीमिया, जो तब होता है जब शरीर पर्याप्त उत्पादन नहीं करता है लाल रक्त कोशिकाएं
• संक्रमण
• म्यूकोसाइटिस, जो एक ऐसी स्थिति है जो मुंह, गले और पेट में सूजन और दर्द का कारण बनती है।

अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण की तैयारी

आपके प्रत्यारोपण से पहले, आपको यह पता लगाने के लिए कई परीक्षणों से गुजरना होगा कि आपको किस प्रकार की अस्थि मज्जा कोशिकाओं की आवश्यकता है। नए स्टेम सेल प्राप्त करने से पहले आपको सभी कैंसर कोशिकाओं या मज्जा कोशिकाओं को मारने के लिए विकिरण या कीमोथेरेपी से गुजरना पड़ सकता है।
अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण में एक सप्ताह तक का समय लगता है। इसलिए, आपको अपने पहले प्रत्यारोपण सत्र से पहले व्यवस्था कर लेनी चाहिए। इनमें शामिल हो सकते हैं:
• अपने प्रियजनों के लिए अस्पताल के पास आवास
• बीमा कवरेज, बिलों का भुगतान, और अन्य वित्तीय चिंताएं
• बच्चों या पालतू जानवरों की देखभाल
• काम से चिकित्सा छुट्टी लेना
• कपड़े और अन्य आवश्यकताएं पैक करना
• अस्पताल से आने

-जाने की व्यवस्था करना अस्पताल
उपचार के दौरान, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली से समझौता किया जाएगा, जिससे संक्रमण से लड़ने की उसकी क्षमता प्रभावित होगी। इसलिए, आप अस्पताल के एक विशेष खंड में रहेंगे जो अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण प्राप्त करने वाले लोगों के लिए आरक्षित है। इससे आपके संक्रमण का कारण बनने वाली किसी भी चीज़ के संपर्क में आने का जोखिम कम हो जाता है।
अपने डॉक्टर से पूछने के लिए प्रश्नों की एक सूची लाने में संकोच न करें। आप उत्तर लिख सकते हैं या किसी मित्र को सुनने और नोट्स लेने के लिए ला सकते हैं। यह महत्वपूर्ण है कि आप प्रक्रिया से पहले सहज और आत्मविश्वास महसूस करें और आपके सभी प्रश्नों का उत्तर अच्छी तरह से दिया जाए।
कुछ अस्पतालों में मरीजों से बात करने के लिए परामर्शदाता उपलब्ध होते हैं। प्रत्यारोपण प्रक्रिया भावनात्मक रूप से कर लगाने वाली हो सकती है। किसी पेशेवर से बात करने से आपको इस प्रक्रिया में मदद मिल सकती है।

अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण कैसे किया जाता है
प्रक्रिया रक्त आधान के समान है।
यदि आप एक एलोजेनिक प्रत्यारोपण करवा रहे हैं, तो आपकी प्रक्रिया से एक या दो दिन पहले अस्थि मज्जा कोशिकाओं को आपके दाता से काटा जाएगा। यदि आपकी अपनी कोशिकाओं का उपयोग किया जा रहा है, तो उन्हें स्टेम सेल बैंक से पुनर्प्राप्त किया जाएगा।
कोशिकाओं को दो तरह से एकत्र किया जाता है:
• अस्थि मज्जा फसल - यह मामूली सर्जरी सामान्य संज्ञाहरण के तहत की जाती है। इसका मतलब है कि प्रक्रिया के दौरान दाता सो रहा होगा और दर्द रहित होगा। दोनों कूल्हे की हड्डियों के पीछे से अस्थि मज्जा को हटा दिया जाता है। निकाले गए मज्जा की मात्रा उस व्यक्ति के वजन पर निर्भर करती है जो इसे प्राप्त कर रहा है।

अस्थि मज्जा की कटाई के दौरान, सुई के माध्यम से दोनों हिपबोन से कोशिकाओं को एकत्र किया जाता है। आप इस प्रक्रिया के लिए संज्ञाहरण के तहत हैं, जिसका अर्थ है कि आप सो रहे होंगे और किसी भी दर्द से मुक्त होंगे।

ल्यूकेफेरेसिस: ल्यूकेफेरेसिस के
दौरान, स्टेम सेल को अस्थि मज्जा से रक्तप्रवाह में ले जाने में मदद करने के लिए एक डोनर को पांच शॉट दिए जाते हैं। फिर रक्त को एक अंतःशिरा (IV) रेखा के माध्यम से खींचा जाता है, और एक मशीन श्वेत रक्त कोशिकाओं को अलग करती है जिनमें स्टेम कोशिकाएं होती हैं।
केंद्रीय शिरापरक कैथेटर या बंदरगाह नामक एक सुई आपकी छाती के ऊपरी दाहिने हिस्से पर स्थापित की जाएगी। यह नई स्टेम कोशिकाओं वाले द्रव को सीधे आपके हृदय में प्रवाहित करने की अनुमति देता है। स्टेम सेल तब आपके पूरे शरीर में फैल जाते हैं। वे आपके रक्त के माध्यम से और अस्थि मज्जा में प्रवाहित होते हैं। वे वहां स्थापित हो जाएंगे और बढ़ने लगेंगे।
बंदरगाह को जगह में छोड़ दिया गया है क्योंकि अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण कुछ दिनों के लिए कई सत्रों में किया जाता है। कई सत्र नई स्टेम कोशिकाओं को आपके शरीर में खुद को एकीकृत करने का सबसे अच्छा मौका देते हैं। उस प्रक्रिया को engraftment के रूप में जाना जाता है।
इस बंदरगाह के माध्यम से, आपको रक्त आधान, तरल पदार्थ और संभवतः पोषक तत्व भी प्राप्त होंगे। संक्रमण से लड़ने और नए मज्जा को बढ़ने में मदद करने के लिए आपको दवाओं की आवश्यकता हो सकती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप उपचारों को कितनी अच्छी तरह से संभालते हैं।
इस दौरान, किसी भी जटिलता के लिए आप पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी।

अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के बाद क्या उम्मीद करें
अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण की सफलता मुख्य रूप से इस बात पर निर्भर करती है कि दाता और प्राप्तकर्ता आनुवंशिक रूप से कितनी बारीकी से मेल खाते हैं। कभी-कभी, असंबंधित दाताओं के बीच एक अच्छा मैच खोजना बहुत मुश्किल हो सकता है।
आपके engraftment की स्थिति की नियमित रूप से निगरानी की जाएगी। यह आमतौर पर प्रारंभिक प्रत्यारोपण के बाद 10 से 28 दिनों के बीच पूरा होता है। engraftment का पहला संकेत सफेद रक्त कोशिका की बढ़ती संख्या है। इससे पता चलता है कि प्रत्यारोपण नई रक्त कोशिकाओं का निर्माण शुरू कर रहा है।
अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के लिए विशिष्ट पुनर्प्राप्ति समय लगभग तीन महीने है। हालाँकि, आपको पूरी तरह से ठीक होने में एक साल तक का समय लग सकता है। रिकवरी कई कारकों पर निर्भर करती है, जिनमें शामिल हैं:
• इलाज की जा रही स्थिति
• कीमोथेरेपी
• विकिरण
• डोनर मैच
• जहां प्रत्यारोपण किया जाता है
वहां संभावना है कि प्रत्यारोपण के बाद आपके द्वारा अनुभव किए जाने वाले कुछ लक्षण जीवन भर आपके साथ रहेंगे।
जब नई स्टेम कोशिकाएं आपके शरीर में प्रवेश करती हैं, तो वे आपके रक्त के माध्यम से आपके अस्थि मज्जा तक जाती हैं। समय के साथ, वे गुणा करते हैं और नई, स्वस्थ रक्त कोशिकाओं को बनाना शुरू करते हैं। इसे एनगमेंटमेंट कहते हैं। आपके शरीर में रक्त कोशिकाओं की संख्या सामान्य होने में आमतौर पर कई सप्ताह लगते हैं। कुछ लोगों में, इसमें अधिक समय लग सकता है।
आपके अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के बाद के दिनों और हफ्तों में, आपकी स्थिति की निगरानी के लिए आपके रक्त परीक्षण और अन्य परीक्षण होंगे। मतली और दस्त जैसी जटिलताओं को प्रबंधित करने के लिए आपको दवा की आवश्यकता हो सकती है।
आपके अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के बाद, आप निकट चिकित्सा देखभाल में रहेंगे। यदि आप संक्रमण या अन्य जटिलताओं का सामना कर रहे हैं, तो आपको कई दिनों तक या कभी-कभी अधिक समय तक अस्पताल में रहने की आवश्यकता हो सकती है। प्रत्यारोपण के प्रकार और जटिलताओं के जोखिम के आधार पर, आपको नज़दीकी निगरानी की अनुमति देने के लिए कई हफ्तों से महीनों तक अस्पताल के पास रहने की आवश्यकता होगी।
आपको लाल रक्त कोशिकाओं और प्लेटलेट्स के आवधिक आधान की भी आवश्यकता हो सकती है जब तक कि आपका अस्थि मज्जा अपने आप उन कोशिकाओं का पर्याप्त उत्पादन शुरू न कर दे।
आपके प्रत्यारोपण के बाद महीनों से लेकर सालों तक आपको संक्रमण या अन्य जटिलताओं का अधिक खतरा हो सकता है। देर से होने वाली जटिलताओं की निगरानी के लिए आपके डॉक्टर के साथ समय-समय पर आजीवन अनुवर्ती मुलाकातें होंगी।

जोखिम और पूर्वानुमान

जोखिम
अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण में कई जोखिम होते हैं। कुछ लोगों को अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के साथ न्यूनतम समस्याएं होती हैं, जबकि अन्य को गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं जिनके लिए उपचार या अस्पताल में भर्ती की आवश्यकता होती है। कभी-कभी, जटिलताएं जीवन के लिए खतरा होती हैं।
आपके विशेष जोखिम कई कारकों पर निर्भर करते हैं, जिसमें बीमारी या स्थिति शामिल है जिसके कारण आपको प्रत्यारोपण की आवश्यकता होती है, प्रत्यारोपण का प्रकार, और आपकी उम्र और समग्र स्वास्थ्य।
अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण से संभावित जटिलताओं में शामिल हैं:
• ग्राफ्ट-बनाम-होस्ट रोग (केवल एलोजेनिक प्रत्यारोपण)
• अंग क्षति
• संक्रमण
• बांझपन
• मृत्यु
आपका डॉक्टर अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण से जटिलताओं के आपके जोखिम के बारे में बता सकता है। अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण आपके लिए सही है या नहीं, यह तय करने के लिए आप एक साथ जोखिमों और लाभों का वजन कर सकते हैं।

पूर्वानुमान
प्रत्यारोपण के बाद आप कितना अच्छा करते हैं यह इस पर निर्भर करता है:
• दाता की कोशिकाएं आपसे कितनी अच्छी तरह मेल खाती हैं
• आपकी उम्र और समग्र स्वास्थ्य
• आपको कोई भी जटिलता हो सकती है
अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण आपकी बीमारी को पूरी तरह या आंशिक रूप से ठीक कर सकता है। यदि प्रत्यारोपण सफल होता है, तो जैसे ही आप पर्याप्त रूप से अच्छा महसूस करते हैं, आप अपनी अधिकांश सामान्य गतिविधियों पर वापस जा सकते हैं। आमतौर पर पूरी तरह से ठीक होने में 1 साल तक का समय लगता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि जटिलताएं क्या होती हैं।
अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण की जटिलताओं या विफलता से मृत्यु हो सकती है।

ग्राफ्ट-बनाम-होस्ट रोग: एक संभावित जोखिम जब स्टेम सेल दाताओं से आते हैं
यदि आप एक प्रत्यारोपण प्राप्त करते हैं जो एक डोनर (एलोजेनिक ट्रांसप्लांट) से स्टेम सेल का उपयोग करता है, तो आपको ग्राफ्ट-बनाम-होस्ट रोग (जीवीएचडी) विकसित होने का खतरा हो सकता है। यह स्थिति तब होती है जब आपकी नई प्रतिरक्षा प्रणाली बनाने वाली दाता स्टेम कोशिकाएं आपके शरीर के ऊतकों और अंगों को कुछ विदेशी के रूप में देखती हैं और उन पर हमला करती हैं।
जीवीएचडी आपके प्रत्यारोपण के बाद किसी भी समय हो सकता है। बहुत से लोग जिनके पास एलोजेनिक प्रत्यारोपण होता है, उन्हें किसी समय जीवीएचडी मिलता है। जीवीएचडी का जोखिम थोड़ा अधिक होता है यदि स्टेम कोशिकाएं किसी असंबंधित दाता से आती हैं, लेकिन यह किसी को भी हो सकता है जिसे दाता से अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण मिलता है। जीवीएचडी दो प्रकार के होते हैं: तीव्र और जीर्ण। एक्यूट जीवीएचडी आमतौर पर आपके प्रत्यारोपण के बाद पहले महीनों के दौरान होता है। यह आमतौर पर आपकी त्वचा, पाचन तंत्र या यकृत को प्रभावित करता है। क्रोनिक जीवीएचडी आमतौर पर बाद में विकसित होता है और कई अंगों को प्रभावित कर सकता है।
जीर्ण जीवीएचडी संकेतों और लक्षणों में शामिल हैं:
• जोड़ों या मांसपेशियों में दर्द
• लगातार खांसी
• त्वचा में परिवर्तन, त्वचा के नीचे निशान या त्वचा की जकड़न सहित
• आपकी त्वचा पर पीला रंग या आपकी आंखों का सफेद भाग (पीलिया)
• शुष्क मुँह
• दस्त
• ऑटोलॉगस प्रत्यारोपण के

लिए उल्टी एकत्रित
स्टेम सेल यदि आपके अपने स्टेम सेल (ऑटोलॉगस ट्रांसप्लांट) का उपयोग करके प्रत्यारोपण की योजना बनाई गई है, तो आपको रक्त स्टेम कोशिकाओं को इकट्ठा करने के लिए एफेरेसिस (af-uh-REE-sis) नामक एक प्रक्रिया से गुजरना होगा। एफेरेसिस से पहले, आपको स्टेम सेल के उत्पादन को बढ़ाने के लिए ग्रोथ फैक्टर के दैनिक इंजेक्शन मिलेंगे और स्टेम सेल को आपके परिसंचारी रक्त में ले जाया जाएगा ताकि उन्हें एकत्र किया जा सके। एफेरेसिस के दौरान, रक्त एक नस से खींचा जाता है और एक मशीन के माध्यम से प्रसारित किया जाता है। मशीन आपके रक्त को स्टेम सेल सहित विभिन्न भागों में अलग करती है। इन स्टेम कोशिकाओं को प्रत्यारोपण में भविष्य में उपयोग के लिए एकत्र और जमे हुए किया जाता है। बचा हुआ रक्त आपके शरीर में वापस आ जाता है।

एलोजेनिक ट्रांसप्लांट से स्टेम सेल एकत्र करना
यदि आप किसी डोनर (एलोजेनिक ट्रांसप्लांट) से स्टेम सेल का उपयोग करके ट्रांसप्लांट करवा रहे हैं, तो आपको डोनर की आवश्यकता होगी। एक बार डोनर मिल जाने के बाद, प्रत्यारोपण के लिए उस व्यक्ति से स्टेम सेल इकट्ठा किए जाते हैं। स्टेम सेल आपके डोनर के रक्त या अस्थि मज्जा से आ सकते हैं। आपकी स्थिति के आधार पर आपकी प्रत्यारोपण टीम तय करती है कि आपके लिए कौन सा बेहतर है। एक अन्य प्रकार का एलोजेनिक प्रत्यारोपण गर्भनाल (कॉर्ड ब्लड ट्रांसप्लांट) के रक्त से स्टेम सेल का उपयोग करता है। माताएं अपने बच्चों के जन्म के बाद गर्भनाल दान करना चुन सकती हैं। अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के लिए आवश्यक होने तक इन डोरियों से रक्त जमे हुए और एक कॉर्ड ब्लड बैंक में संग्रहीत किया जाता है।

Bone marrow Transplant process

उपचार के बाद और उपचार

कंडीशनिंग प्रक्रिया
अपने पूर्व-प्रत्यारोपण परीक्षणों और प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद, आप एक प्रक्रिया शुरू करते हैं जिसे कंडीशनिंग के रूप में जाना जाता है। कंडीशनिंग के दौरान, आप निम्न के लिए कीमोथेरेपी और संभवतः विकिरण से गुजरेंगे:
• कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करें यदि आप एक घातक बीमारी के लिए इलाज कर रहे हैं
• अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को दबाएं आपके द्वारा
प्राप्त कंडीशनिंग प्रक्रिया का प्रकार आपकी बीमारी, समग्र स्वास्थ्य सहित कई कारकों पर निर्भर करता है। और प्रत्यारोपण के प्रकार की योजना बनाई। आपके कंडीशनिंग उपचार के हिस्से के रूप में आपके पास कीमोथेरेपी और विकिरण दोनों या इनमें से केवल एक उपचार हो सकता है।
कंडीशनिंग प्रक्रिया के दुष्प्रभावों में शामिल हो सकते हैं:
• मतली और उल्टी
• दस्त
• बालों का झड़ना
• मुंह के छाले या अल्सर
• संक्रमण
• खून बह रहा है
• बांझपन या बाँझपन
• एनीमिया
• मोतियाबिंद
• हृदय, जिगर या फेफड़ों की विफलता जैसे अंग जटिलताओं,
आप ऐसे दुष्प्रभावों को कम करने के लिए दवाएँ या अन्य उपाय करने में सक्षम हो सकते हैं।

कम-तीव्रता कंडीशनिंग
आपकी उम्र और स्वास्थ्य के इतिहास के आधार पर, आपका डॉक्टर आपके कंडीशनिंग उपचार के लिए कम खुराक या विभिन्न प्रकार की कीमोथेरेपी या विकिरण की सिफारिश कर सकता है। इसे कम-तीव्रता कंडीशनिंग कहा जाता है। कम-तीव्रता कंडीशनिंग कुछ कैंसर कोशिकाओं को मार देती है और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को दबा देती है। फिर, आपके शरीर में दाता की कोशिकाओं का संचार किया जाता है। दाता कोशिकाएं समय के साथ आपके अस्थि मज्जा में कोशिकाओं की जगह लेती हैं। दाता कोशिकाओं में प्रतिरक्षा कारक तब आपके कैंसर कोशिकाओं से लड़ सकते हैं।

दवाओं
यदि आपका अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण किसी डोनर (एलोजेनिक ट्रांसप्लांट) से स्टेम सेल का उपयोग कर रहा है, तो आपके डॉक्टर ग्राफ्ट-बनाम-होस्ट रोग को रोकने और आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली की प्रतिक्रिया (इम्यूनोसप्रेसिव दवाएं) को कम करने में मदद करने के लिए दवाएं लिख सकते हैं। आपके प्रत्यारोपण के बाद, इसमें समय लगता है आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली ठीक होने के लिए। इस दौरान आपको संक्रमण से बचाव के लिए दवाएं दी जा सकती हैं।

आहार और अन्य जीवन शैली कारक
आपके अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के बाद, आपको स्वस्थ रहने और अत्यधिक वजन बढ़ने से रोकने के लिए अपने आहार को समायोजित करने की आवश्यकता हो सकती है। आपका पोषण विशेषज्ञ (आहार विशेषज्ञ) और आपकी प्रत्यारोपण टीम के अन्य सदस्य एक स्वस्थ-भोजन योजना बनाने के लिए आपके साथ काम करेंगे जो आपकी आवश्यकताओं को पूरा करती है और आपकी जीवन शैली को पूरा करती है। आपका आहार विशेषज्ञ आपको कीमोथेरेपी और विकिरण के दुष्प्रभावों को नियंत्रित करने के लिए भोजन के सुझाव भी दे सकता है, जैसे कि मतली।
• सब्जियों सहित विभिन्न प्रकार के स्वस्थ खाद्य पदार्थों का सेवन करना; फल; साबुत अनाज; दुबला मांस, मुर्गी और मछली; फलियां; और स्वस्थ वसा, जैसे जैतून का तेल
• नमक का सेवन सीमितकरें
• शराब पर प्रतिबंधलगाएं
• प्रतिरक्षादमनकारी दवाओं (कैल्सीनुरिन अवरोधक) के एक समूह पर उनके प्रभाव के कारण अंगूर और अंगूर के रस से परहेज करें।
आपके अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के बाद, नियमित शारीरिक गतिविधि आपको अपना वजन नियंत्रित करने, अपनी हड्डियों को मजबूत करने, अपनी सहनशक्ति बढ़ाने, अपनी मांसपेशियों को मजबूत करने और अपने दिल को स्वस्थ रखने में मदद करती है। जैसे ही आप ठीक हो जाते हैं, आप धीरे-धीरे अपनी शारीरिक गतिविधि को बढ़ा सकते हैं।
आपके प्रत्यारोपण के बाद कैंसर को रोकने के लिए कदम उठाना और भी महत्वपूर्ण है। धूम्रपान न करें। जब आप बाहर हों तो सनस्क्रीन पहनें, और सुनिश्चित करें कि आपके डॉक्टर ने कैंसर की जांच की सिफारिश की है।

मुकाबला और समर्थन
बोन मैरो ट्रांसप्लांट के साथ रहना या बोन मैरो ट्रांसप्लांट की प्रतीक्षा करना मुश्किल हो सकता है, और डर और चिंता होना सामान्य है। अपने दोस्तों और परिवार का समर्थन प्राप्त करना मददगार हो सकता है। साथ ही, आपको और आपके परिवार को ऐसे लोगों के सहायता समूह में शामिल होने से लाभ हो सकता है जो समझते हैं कि आप क्या कर रहे हैं और कौन सहायता प्रदान कर सकता है। सहायता समूह आपको और आपके परिवार को लोगों के साथ भय, चिंताओं, कठिनाइयों और सफलताओं को साझा करने के लिए एक स्थान प्रदान करते हैं। जिन्हें इसी तरह के अनुभव हुए हैं। आप ऐसे लोगों से मिल सकते हैं जिनका पहले ही प्रत्यारोपण हो चुका है या जो प्रत्यारोपण की प्रतीक्षा कर रहे हैं।
एक अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण कुछ बीमारियों को ठीक कर सकता है और दूसरों को छूट में डाल सकता है। अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के लक्ष्य आपकी व्यक्तिगत स्थिति पर निर्भर करते हैं, लेकिन आमतौर पर आपकी बीमारी को नियंत्रित करना या ठीक करना, आपके जीवन का विस्तार करना और आपके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करना शामिल होता है। कुछ लोग कुछ साइड इफेक्ट और जटिलताओं के साथ अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण पूरा करते हैं। दूसरों को कई चुनौतीपूर्ण समस्याओं का सामना करना पड़ता है, दोनों छोटी और लंबी अवधि। साइड इफेक्ट की गंभीरता और प्रत्यारोपण की सफलता एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न होती है और कभी-कभी प्रत्यारोपण से पहले भविष्यवाणी करना मुश्किल हो सकता है।
यदि प्रत्यारोपण प्रक्रिया के दौरान महत्वपूर्ण चुनौतियाँ आती हैं तो यह हतोत्साहित करने वाला हो सकता है। हालांकि, कभी-कभी यह याद रखना मददगार होता है कि ऐसे कई जीवित बचे हैं जिन्होंने प्रत्यारोपण प्रक्रिया के दौरान कुछ बहुत कठिन दिनों का अनुभव किया, लेकिन अंततः सफल प्रत्यारोपण किया और जीवन की अच्छी गुणवत्ता के साथ सामान्य गतिविधियों में लौट आए।

संबंधित विषय:

1. ब्रोंकाइटिस क्या है और इसका इलाज कैसे किया जाता है?

ब्रोंकाइटिस और उसके उपाय

2. डायवर्टीकुलिटिस कितना हानिकारक है?

डायवर्टीकुलिटिस के लक्षण और उपचार

3. प्रतिरक्षा बढ़ाने के बारे में और जानें

इम्युनिटी कैसे बढ़ाएं




उपर ब्लॉग में बताई गई उपलब्धिया AFD-SHIELD के साथ उपलब्ध हैं
एएफडी शील्ड कैप्सूल 12 प्राकृतिक अवयवों का एक संयोजन है जिनमें से अलगल डीएचए, अश्वगंधा, करक्यूमिन और स्पिरुलिना हैं। एएफडी शील्ड टीजी को कम करता है, एचडीएल बढ़ाता है और उम्र से संबंधित संज्ञानात्मक गिरावट में सुधार करता है। यह तनाव और चिंता को भी कम करता है और एंटी-एजिंग गतिविधि करता है। इसके अलावा, यह इम्युनोमॉड्यूलेटरी गतिविधि को बढ़ाता है, प्रतिरक्षा में सुधार करता है और सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है। न्यूट्रोग्लिग्क्स: एएफडी-शील्ड

AFDIL Ltd.
+91 9920121021

order@afdil.com

Read Also:


Disclaimer
Home