Hepatitis Cant Wait: 'World Hepatitis Day', '28 July 2021', Theme

Hepatitis Cant Wait: 'World Hepatitis Day', '28 July 2021', Theme

Hepatitis Cant Wait

With a person dying every 30 seconds from a hepatitis related illness – even in the current COVID-19 crisis – we can’t wait to act on viral hepatitis.

People living with viral hepatitis unaware can’t wait for testing
People living with hepatitis can’t wait for life saving treatments
Expectant mothers can’t wait for hepatitis screening and treatment
Newborn babies can’t wait for birth dose vaccination
People affected by hepatitis can’t wait to end stigma and discrimination
Community organisations can’t wait for greater investment
Decision makers can’t wait and must act now to make hepatitis elimination a reality through political will and funding.

World Hepatitis Day is opportunity to highlight one of the most pressing public health issue.
Viral hepatitis B and C are major health challenges, affecting 325 million people globally.
But only 1 in 10 out of them are tested & and received appropriate treatment.
Viral Hepatitis: slowly and silently degrades persons health.
They are root causes of liver cancer & cirrhosis, leading to 1.34 million deaths every year.

Hepatitis B and C are chronic infections that may not show symptoms for a long period, sometimes years or decades. At least 60% of liver cancer cases are due to late testing and treatment of viral hepatitis B and C. Low coverage of testing and treatment is the most important gap to be addressed in order to achieve the global elimination goals by 2030.

Some of the medicines and supplements like Livocumin can cure Hepatitis in 3 months or less.

WHO will focus on the theme: Hepatitis Cant’t Wait for World Hepatitis Day: 28 July 2021 events.
To support scale-up of hepatitis prevention, testing, treatment and care services, with specific focus on promoting WHO testing and treatment recommendations;
To showcase best practices and promote universal health coverage of hepatitis services; and
To improve partnerships and funding in the fight against viral hepatitis.
Timely testing and treatment of viral hepatitis B and C can save lives and eliminate Hepatitis by 2030, with supplements like Livocumin.

Overview

In clinical practise and at autopsy, fatty liver is a common finding. It's most typically found in those who overuse alcohol and in people who have non-alcoholic fatty liver disease (NAFLD). It can also be seen in adults and children in a variety of other diseases. NAFLD, like alcoholic liver disease, is now recognised as a risk factor for end-stage liver disease. Nonalcoholic fatty liver disease is linked to a higher risk of death from other illnesses, especially cardiovascular diseases. Drug toxicity, anorexia, hepatic ischemia, and heatstroke are just a few of the disorders that interest autopsy pathologists. Steatosis is common in newborns who die suddenly and unexpectedly. The pathophysiology and role of fatty liver in sudden death have been linked, and this review looks into the pathophysiology and role of fatty liver in sudden death.

Functions of the liver

The liver is the human body's main internal organ. It also performs one of the most essential roles in digestion and detoxification.

The liver also serves a variety of important functions like:
1. It removes oestrogen and aldosterone from the bloodstream.
2. It is involved in the metabolization of fats, carbohydrates, and proteins, in addition to detoxification.
3. Bile is a substance formed by the liver that aids in the digestion and absorption of fats and certain vitamins.
4. The liver also stores other vitamins, minerals, and glycogen reserves.

The significance of a healthy liver cannot be overstated. As a result, it is important that we maintain our liver's health in order for it to perform its functions properly.

Fatty liver disease is a condition that affects the liver.

The largest organ in your body is your liver. It aids in the digestion of food, the storage of energy, and the removal of toxins from the body. Fatty liver disease is characterised by the accumulation of fat in the liver. There are two major categories:

1. Nonalcoholic fatty liver disease (NAFLD) is a type of liver disease that (NAFLD)
2. Alcoholic steatohepatitis is another name for alcoholic fatty liver disease.

What makes fatty liver disease so dangerous?

Fatty liver disease rarely causes major complications or impairs your liver's ability to operate correctly. Fatty liver disease, however, worsens with time for 7 percent to 30% of those who have it. It is divided into three stages:

Your liver becomes inflamed (swollen), causing tissue damage. Steatohepatitis is the name for this stage. When your liver is damaged, scar tissue forms. Fibrosis is the medical term for this condition. Scar tissue replaces healthy tissue in large amounts. You have cirrhosis of the liver at this time.

Fatty liver disease affects a wide range of people

Causes of Fatty Liver Disease

Nonalcoholic fatty liver disease (NAFLD) has no known aetiology. It is known to researchers that it is more common in those who are

1. Diabetes type 2 and prediabetes
2. Obese
3. Middle-aged people (although children can also get it)
4. Hispanics are the majority, followed by non-Hispanic whites. In African Americans, it is less common.
5. Have elevated blood fat levels, such as cholesterol and triglycerides.
6. Have a high blood pressure.
7. Take some medications, such as corticosteroids and cancer medications.
8. Certain metabolic abnormalities, such as metabolic syndrome, are present.
9. Lose weight quickly.
10. Certain infections, such as hepatitis C, are present.
11. Exposed to toxin.

Alcoholic Fatty Liver Disease: Heavy drinkers, especially those who have been drinking for a long time, are more likely to develop alcoholic fatty liver disease. Heavy drinkers who are female, obese, or have particular genetic abnormalities are at a higher risk.

What are the signs and symptoms of fatty liver?

Both NAFLD and alcoholic fatty liver disease are frequently asymptomatic. You may feel weary or have discomfort in the upper right side of your abdomen if you have symptoms.

How can you know if you have fatty liver disease?

Fatty liver disease is difficult to detect because it typically has no symptoms. If you get abnormal findings on liver tests that you underwent for other reasons, your doctor may believe you have it. Your doctor will use a variety of tools to make a diagnosis.

Your doctor will inquire about your alcohol consumption as part of your medical history to determine whether the fat in your liver is an indication of alcoholic fatty liver disease or nonalcoholic fatty liver disease (NAFLD). He or she will also inquire about your medications to see whether one of them is to blame for your NAFLD.

Your doctor will inspect your physique and measure your weight and height during the physical exam. Your doctor will examine you for signs of fatty liver disease, such as a swollen abdomen.

• A swollen liver
• Cirrhosis symptoms include jaundice, which causes the skin and whites of your eyes to turn yellow.

Blood tests, such as liver function tests and blood count tests, will almost certainly be performed on you. Imaging tests, such as those that screen for fat in the liver and the stiffness of your liver, may be required in some circumstances. Fibrosis, or scarring of the liver, can cause hepatic stiffness. A liver biopsy may be required in some cases to confirm the diagnosis and assess the severity of the liver damage.

What are the options for fatty liver disease treatment?

For nonalcoholic fatty liver, doctors advise losing weight. Fat in the liver, inflammation, and fibrosis can all be reduced by losing weight. If your doctor believes a specific medication is causing your NAFLD, you should stop taking it. However, consult your doctor before discontinuing your medication. It's possible that you'll need to taper off the medicine gradually and switch to a different one.
There are no FDA-approved medications to treat NAFLD. Additional research is needed to see if a specific diabetes drug or Vitamin E will help, but more research is needed.

Stopping consuming alcohol is the most crucial element of treating alcoholic fatty liver disease. If you need assistance, consider seeing a therapist or enrolling in an alcohol treatment programme. There are also medications that can help, either by lowering cravings or by making you sick if you consume alcohol.

Cirrhosis can be caused by both alcoholic fatty liver disease and one type of nonalcoholic fatty liver disease (nonalcoholic steatohepatitis). Medicines, surgery, and other medical treatments can be utilised to treat the health problems produced by cirrhosis. If your cirrhosis progresses to the point of liver failure, you may require a liver transplant.

What is NAFLD (Non-Alcoholic Fatty Liver Disease)?


Healthy Liver and Fatty Liver

Non-alcoholic fatty liver disease (NAFLD) is a term given for a variety of liver diseases that affect non-alcoholic people or people who don't drink much alcohol. NAFLD is characterised by an excess of fat accumulated in liver cells.

1. In NAFLD, excess fat accumulates in the liver as excessive triglycerides, occupying more than 5% of the liver cells called hepatocytes. Comparison to natural conditions, this means the excess fat makes up 5% weight of the liver (under normal condition there is hardly any fat present in the liver).

Non-Alcoholic Fatty Liver

2. Fat causes damage to liver cells, which leads to inflammation and fibrosis. This inflammation and fibrosis are characterised as Non-alcoholic steatohepatitis (NASH) an aggressive type of fatty liver disease that can lead to advanced scarring (cirrhosis) and liver failure. In addition to the risk of liver failure, there is a higher chance of developing liver cancer or total liver dysfunction.

NAFLD Spectrum

The damage caused by NASH is close to damage caused by heavy alcohol consumption.

Is NAFLD reversible?

NAFLD detected at an early stage is reversible and further complications can be avoided before Cirrhosis develops. #HepatitisFreeFuture #HepatitisCantWait #WorldHepatitisDay

Reversible and irreversible liver disease

How to prevent NAFLD?

#HepatitisFreeFuture #HepatitisCantWait #WorldHepatitisDay
The best way to prevent NAFLD is to live a routine that includes daily exercise, monitoring eating patterns, and keeping track of your weight, remembering the adage "health is wealth."

Improved regulation of pre-existing medical conditions, such as blood glucose levels in diabetics, can also help prevent NAFLD from developing and progressing.

You can regulate your nonalcoholic fatty liver disease with the advice of your doctor. You can do the following:
1. Reduce your weight. Reduce the quantity of calories you consume each day and increase your physical activity to lose weight if you're overweight or obese. Calorie restriction is essential for weight loss and disease management. If you've tried and failed to reduce weight in the past, seek advice from your doctor.

2. Make a conscious effort to eat a balanced diet. Keep track of the calories you consume and eat a nutritious diet rich in fruits, vegetables, and whole grains.

3. Exercise and increase your physical activity. On most days of the week, try to get in at least 30 minutes of exercise. If you're attempting to reduce weight, you could discover that increasing your physical activity is beneficial. However, if you haven't been exercising consistently, get your doctor's approval beforehand and begin slowly.

4. Maintain control of your diabetes. To keep your diabetes under control, follow your doctor's advice. Take your medications as prescribed and keep a close eye on your blood sugar levels.

5. Reduce your cholesterol levels. A healthy plant-based diet, exercise, and pharmaceuticals can all help you maintain a good cholesterol and triglyceride level.

6. Take care of your liver. Avoid anything that will put your liver under further strain. Don't consume alcohol, for example. All prescription and over-the-counter medications should be taken according to the manufacturer's instructions. Before using any herbal medicines, consult your doctor, as not all herbal products are safe.

How to protect the liver from NAFLD?

Changes in liver cells

1. No more than one fast-food meal per week is allowed. That will be a significant downshift for some people. A visit to a fast-food restaurant, on the other hand, should be treated as a special occasion rather than a daily occurrence for the sake of your wellbeing.

2. When eating fast food, try to eat as healthily as possible. Stop fries and sugary soft drinks, order burger without mayo and cheese. Better if you will order a grilled chicken sandwich with a low-fat salad and bottled water or diet soda.

3. Get moving. Start exercising at least three days a week if you haven't already. Regular exercise helps you maintain a healthy weight and allows the body to properly metabolise and digest the food you consume.

4. Request a blood test from your doctor to determine your level of liver enzymes, which is an important indicator of your liver's health. For adults, several doctors now order this test as a routine, but kids who eat a lot of fast food particularly need to get their liver enzymes tested.
#HepatitisFreeFuture #HepatitisCantWait #WorldHepatitisDay

Alternative medicine for Non-Alcoholic fatty liver disease?

There is no evidence that alternative medicine treatments can heal non-alcoholic fatty liver disease. However, scientists are investigating if some natural chemicals, such as vitamin E, could be beneficial.

1. Vitamin E and other antioxidant vitamins, in theory, could help preserve the liver by minimising or neutralising inflammation-related damage. However, more research is required. According to some data, vitamin E supplementation may assist persons with nonalcoholic fatty liver disease who have liver damage. Vitamin E, on the other hand, has been associated to an increased risk of death and, in men, a higher chance of prostate cancer.

2. Coffee is one of my favourite beverages. People with nonalcoholic fatty liver disease who consumed two or more cups of coffee per day had less liver damage than those who drank little or no coffee, according to research. It's unclear how coffee affects liver damage, but research suggests it contains components that may help fight inflammation.

These findings may make you feel better about your morning cup of coffee if you currently drink it. This isn't a good excuse to start drinking coffee if you don't already. Consult your doctor about the potential benefits of coffee.
#HepatitisFreeFuture #HepatitisCantWait #WorldHepatitisDay

Nutralogicx: Livocumin is the combination of natural ingredients like Curcumin, Ardraka (Ginger), Katuka, Yavakshara, Chitraka, March (Black pepper), Sarjikakshara, Amlakai (Amla), Chuna, Haritaki in the management of NAFLD (Non Alcoholic Fatty Liver Disease), Infective Hepatitis, Gall Stones, Jaundice & Indigestion.


What is the definition of alcoholic fatty liver disease?

Heavy alcohol use causes alcoholic fatty liver disease. The majority of the alcohol you consume is broken down by your liver and excreted from your body. However, the process of dismantling it can result in the release of hazardous compounds. These chemicals can harm liver cells, cause inflammation, and compromise your body's natural defences. The more alcohol you consume, the more harm you do to your liver. The earliest stage of alcohol-related liver disease is alcoholic fatty liver disease. The next stages include alcoholic hepatitis and cirrhosis.

The liver and alcohol

The liver is the most complex organ in the body, aside from the brain.

Filtering pollutants from the blood, aiding digestion, regulating blood sugar and cholesterol levels, and assisting in the fight against infection and disease are just a few of its duties.

The liver is extremely robust and capable of self-regeneration. Some liver cells die each time your liver filters alcohol.

The liver can regenerate new cells, but long-term alcohol abuse (drinking too much) can impair its ability to do so. Your liver could be permanently damaged as a result of this.

How does liver digests alcohol?

Liver can absorb alcohol in two different ways.
1. Alcohol dehydrogenase: In this method Alcohol dehydrogenase (ADH) an enzyme found in your liver cells, breaks down or metabolises the majority of alcohol. ADH converts alcohol to acetaldehyde, which is quickly converted to acetate by another enzyme called aldehyde dehydrogenase (ALDH). Acetate is metabolised further and ultimately exits the body as carbon dioxide and water.

2. Microsomal Ethanol Oxidising Method: The ‘microsomal ethanol-oxidising method,' is primarily used when the amount of alcohol in your blood is extremely high. This second pathway's activity can get boosted because of regular drinking.

How does Alcohol affects the Liver?

Effect of alcohol on the Liver

Alcohol is easily absorbed from the gastrointestinal tract, and the liver can metabolise up to 98 percent of it. Each liver cell has three alcohol metabolism pathways. All of these things lead to the development of a highly toxic metabolite that can damage liver cells.

Significant amounts of alcohol can cause irreversible damage to liver cells. This regenerative capacity can be inhibited by daily alcohol consumption, resulting in long-term liver damage. Long-term heavy alcohol consumption can cause fat accumulation in the liver, leading to alcoholic hepatitis or liver cirrhosis.

Alcohol abuse can result in three forms of liver damage, which usually occur in this order:
1. Fat accumulation in the liver (hepatic steatosis): This is the least serious sort, and it can be reversed in certain cases. It affects more than 90% of people who consume too much alcohol.

2. Inflammation (alcoholic hepatitis): Between 10% to 35% of people experience liver inflammation.

3. Cirrhosis: this disease is characterised by the irreversible replacement of normal liver tissue with scar tissue (fibrosis), which has no function. As a consequence, the liver's internal structure is broken, and it can no longer function properly. Cirrhosis affects 10 to 20% of the population.

While heavy drinkers may develop alcoholic cirrhosis without first developing hepatitis, these conditions normally progress from fatty liver to alcoholic hepatitis to cirrhosis.

Liver Damage


AFLD's Stages



Stages of AFLD

AFLD is divided into three stages, though there is sometimes overlap between them. These steps are described in detail below.

Fatty liver disease caused by alcoholism.
Even if it's only for a few days, drinking a lot of alcohol can cause fat to build up in the liver.
This is the first stage of AFLD and is known as alcoholic fatty liver disease.
Fatty liver disease has few symptoms, yet it's a crucial indicator that you're consuming too much alcohol.
Fatty liver disease can be cured. If you don't drink for two weeks, your liver should be back to normal.

Hepatitis caused by alcoholism.
Alcoholic hepatitis, which is not the same as infectious hepatitis, is a potentially fatal illness induced by long-term alcohol abuse.
When this happens, it's possible that it's the first time a person realises they're harming their liver with alcohol.
Alcoholic hepatitis is a less common complication of consuming a big amount of alcohol in a short period of time (binge drinking).
Mild alcoholic hepatitis causes liver damage that is usually reversible if you stop drinking for good.
Severe alcoholic hepatitis, on the other hand, is a life-threatening condition.

Cirrhosis is a disease that affects the liver.
Cirrhosis is a stage of AFLD in which the liver is severely scarred. There may be no evident symptoms even at this time.
Although it's not usually reversible, abstaining from alcohol can help you live longer by preventing future damage and extending your life expectancy.
A person with cirrhosis caused by alcohol who does not stop drinking has a less than 50% probability of living for another 5 years.

Taking care of alcoholic liver illness (AFLD)

There is no specific medical treatment for AFLD at this time. The most important treatment is to stop drinking for the rest of your life.

This lowers the risk of further liver damage and offers your liver the best chance of recovery.
Stopping drinking might be tough for someone who is addicted to alcohol.
However, local alcohol support agencies may be able to provide assistance, information, and medical treatment.
In severe cases where the liver has ceased functioning and does not recover after you stop consuming alcohol, a liver transplant may be required.
Only if you have developed cirrhosis issues despite quitting drinking will you be eligible for a liver transplant.
All liver transplant units ask patients to abstain from drinking alcohol for the duration of their treatment and for the rest of their lives.

Complications related to Alcoholic Fatty Liver Disease

AFLD-related death rates have risen dramatically in recent decades.
Internal (variceal) bleeding, as well as a build-up of poisons in the brain, are all life-threatening consequences of AFLD (encephalopathy)
Ascites is a fluid collection in the abdomen that is related with kidney failure.
Infection susceptibility was raised as a result of liver cancer.
Variceal: Hypertension of the portal veins and varices
Cirrhosis and, less typically, alcoholic hepatitis are both known to cause portal hypertension.It happens when the blood pressure inside your liver reaches dangerously high levels.

When the liver becomes significantly scarred, blood flow through it becomes more difficult. The blood pressure around the intestines rises as a result of this.

Blood must also find a new route back to the heart. It accomplishes this by making use of tiny blood arteries. These vessels, however, were not designed to hold the weight of blood and can get stretched and weakened as a result. Varices are the term for weakening blood vessels.

Blood pressure can grow too high for the varices to handle, causing the walls of the varices to crack and bleed if it climbs to a particular threshold. Long-term bleeding can result, which can lead to anaemia.

Alternatively, the bleeding might be severe and sudden, leading you to vomit blood and produce dark or tar-like stools. An endoscope can be used to discover split varices and treat them. The base of the varices can then be sealed with a thin band.

Ascites: Fluid build-up in the abdomen (tummy) and around the intestines is another symptom of portal hypertension. Ascites is the medical term for this fluid.

This can be addressed with water tablets at first (diuretics). If the issue worsens, many litres of fluid may accumulate and must be evacuated. Paracentesis is a treatment that involves inserting a long, thin tube into the fluid through the skin while under local anaesthesia.

The possibility of infection in the fluid is one of the issues connected with the development of ascites (spontaneous bacterial peritonitis). This is a potentially fatal complication that has been related to a higher risk of renal failure and death.

Hepatic encephalopathy: It is a type of encephalopathy caused by liver disease. Toxin removal from the blood is one of the liver's most significant activities.

Toxin levels in the blood rise when the liver is unable to do so owing to hepatitis or cirrhosis. Hepatic encephalopathy is characterised by a high amount of toxins in the blood due to liver injury.

Hepatic encephalopathy symptoms include:
1. Upheaval
2. Perplexity
3. Befuddlement
4. rigidity of the muscles
5. Tremors in the muscles
6. speaking difficulties
7. A coma is a state of unconsciousness that occurs in the most acute circumstances.

Hepatic encephalopathy may need admission to the hospital. Body functions are supported at the hospital, and medicine is utilised to eliminate poisons from the blood.

Infection
The immune system might be weakened by liver damage.
This makes the body more susceptible to infection, especially urinary and respiratory infections (such as pneumonia).

Liver Cancer
Damage to the liver caused by heavy drinking over a long period of time can raise your chances of developing liver cancer. Due to growing levels of alcohol usage in the UK, liver cancer rates have grown dramatically over the last few decades. Every year, 3 to 5% of patients with cirrhosis are projected to develop liver cancer.

Causes of Alcoholic Fatty Liver Disease

Drinking too much alcohol causes alcohol fatty liver disease (AFLD). The more you drink in excess of the recommended amounts, the more likely you are to develop AFLD.

There are two ways that excessive alcohol consumption (drinking) might lead to AFLD. These are the following:
1. Binge drinking (consuming a significant amount of alcohol in a short period of time) can lead to fatty liver disease and, less commonly, alcoholic hepatitis.
2. Hepatitis and cirrhosis, the more serious types of AFLD, can be caused by consuming more than the recommended limits of alcohol over a long period of time.

People who drink more than the suggested maximum amount on a regular basis are more likely to develop AFLD, according to evidence:
1. Men and women are recommended not to consume more than 14 units per week on a regular basis.
2. If you consume up to 14 units each week, spread it out across three days or more.

Symptoms of Alcoholic Fatty Liver Disease

People with alcoholic fatty liver disease (AFLD) often don't show any symptoms until their liver is severely damaged.

Early signs and symptoms
If you do have early signs of AFLD, they are frequently ambiguous, such as:
1. Abdomen (tummy) discomfort
2. Decrease in appetite
3. Exhaustion
4. Feeling unwell
5. Diarrhoea
6. Feeling ill in general

Advanced signs and symptoms
As the liver is damaged more severely, more evident and significant symptoms emerge, such as:
1. The skin and the whites of the eyes turn yellow (jaundice)
2. A build-up of fluid causes swelling in the legs, ankles, and feet (oedema)
3. Ascites is a swelling in the abdomen caused by a build-up of fluid.
4. shivering attacks and a high temperature (fever)
5. skin that is extremely irritating
6. hair thinning
7. Fingertips and nails that are abnormally curved (clubbed fingers)
8. palms with blotchy red spots
9. weight loss that is substantial
10. muscle withering and weakness
11. Because of a build-up of toxins in the brain, you may have confusion and memory issues, difficulty sleeping (insomnia), and personality changes.
12. As a result of internal bleeding, you're passing black, tarry poo and vomiting blood.
13. A proclivity for bruising and bleeding, such as frequent nosebleeds and bleeding gums
14. Because the liver is unable to digest alcohol and drugs, people are more sensitive to them.

Diagnosis of Alcoholic Fatty Liver Disease

When tests for other medical disorders reveal a damaged liver, alcohol fatty liver disease (AFLD) is frequently suspected. This is due to the fact that the illness has few visible symptoms in its early stages.

If your doctor suspects you have AFLD, they'll likely order a blood test to see how well your liver is functioning. They may also inquire about your drinking habits.

To avoid unneeded testing, it's critical to be completely honest about how much and how often you drink alcohol. This may cause a delay in receiving the care you require.

Blood Tests
Liver function tests are blood tests that are used to evaluate the liver. However, at various stages of liver disease, liver function tests can be normal. Blood tests can also reveal low quantities of specific chemicals, such as a protein produced by the liver called serum albumin. If your serum albumin level is low, it means your liver isn't working properly. A blood test may also be used to check for evidence of irregular blood clotting, which can signal serious liver damage.

Advance Testing
You may need additional testing if your symptoms or a liver function test indicate an advanced form of ARLD (alcoholic hepatitis or cirrhosis). These are in more detail below.

Imaging
It's possible that you'll need scans to get a clear picture of your liver. This could involve the following:
1. an ultrasound examination
2. an X-ray
3. an MRI examination

Some scans can also detect liver stiffness, which is an excellent indicator of whether or not your liver is scarred.

Liver Biopsy
A small needle is introduced into your body during a liver biopsy (usually between your ribs). A small sample of liver cells is collected and sent to a lab for microscopic examination. The biopsy is typically performed under local anaesthesia as a day case or with an overnight stay in the hospital. The extent of scarring in your liver and the origin of the injury will be determined by examining your liver tissue.

Endoscopy
Endoscopy is a procedure that examines the inside of the body. A long, thin, flexible tube containing a light and a video camera at one end is known as an endoscope. The tool is passed down your oesophagus (the lengthy tube that transports food from the throat to the stomach) and into your stomach during an endoscopy. Images of your oesophagus and stomach are sent to a monitor outside of your body. Swollen veins (varices), which are an indication of cirrhosis, will be examined by the doctor.
#HepatitisFreeFuture #HepatitisCantWait #WorldHepatitisDay

Treatment of Alcoholic Fatty Liver Disease

Stop drinking Alcohol.
Stopping drinking alcohol is part of the treatment for AFLD. This is called as abstinence, and it can be crucial depending on the stage of the disease.

If you have fatty liver disease, abstaining from alcohol for at least two weeks may help you repair the damage. If you have a more serious form of AFLD (alcoholic hepatitis or cirrhosis), you should abstain from alcohol for the rest of your life.

This is because the only way to prevent your liver damage from worsening and maybe death from liver disease is to stop drinking. It's not easy to stop drinking, especially when an estimated 70% of persons with AFLD have an alcohol dependency problem.

However, no medical or surgical treatment can prevent liver failure if you develop alcohol-related cirrhosis or alcoholic hepatitis and do not stop drinking.

Withdrawal Symptoms
You may get withdrawal symptoms if you don't drink alcohol. These will be at its worst for the first 48 hours, but as your body adjusts to life without alcohol, they should improve. This can take anywhere from 3 to 7 days depending on when you last drank.

When people stop drinking, they often have trouble sleeping at first, but their sleep patterns usually return to normal after a month. In some circumstances, you may be advised to gradually reduce your alcohol use in order to avoid withdrawal symptoms.

To help you through the withdrawal phase, you may be given benzodiazepine medicine and psychological counselling, such as cognitive behavioural therapy (CBT).

During the initial withdrawal phases, some patients need to stay in a hospital or a specialist rehabilitation centre so that their progress may be constantly monitored.

If you stay at home, you'll see a nurse or another health professional on a regular basis. You might see them at home, at your doctor's office, or in a specialist NHS service.

Diet and Nutrition
Malnutrition is common in people with AFLD, therefore eating a well-balanced diet is critical to getting all of the nutrients you require.

Avoiding salty foods and not adding salt to your diet will lower your chances of experiencing fluid-related edoema in your legs, foot, and stomach. Your liver may also be unable to retain glycogen, a carbohydrate that provides short-term energy, as a result of the damage.

This causes muscular atrophy and weakening because the body uses its own muscle tissue to provide energy between meals. This indicates that you may require additional energy and protein in your diet.

Healthy snacking might help you get more calories and protein in between meals. Eating three or four modest meals a day, rather than one or two large ones, may also be beneficial. Your doctor can help you choose a healthy diet or, in some situations, recommend you to a specialist.

#HepatitisFreeFuture #HepatitisCantWait #WorldHepatitisDay

Preventing liver disease caused by alcohol (AFLD)

The most effective strategy to avoid AFLD is to cease drinking alcohol or to stick to the suggested limits: men and women should not drink more than 14 units per week on a regular basis, and if they do, they should spread their drinking across three days or more.

A unit of alcohol is roughly half a pint of regular lager or a pub measure of spirits (25ml). Even if you've been a heavy drinker for a long time, cutting back or stopping will have significant short- and long-term health benefits for your liver and general health.
#HepatitisFreeFuture #HepatitisCantWait #WorldHepatitisDay

How is unhealthy lifestyle related to the liver disease?

Fatty liver disease is becoming more common as a result of urbanisation. Changes linked to sedentary lifestyles, fatty foods, uncontrolled blood sugar, obesity, smoking, and excessive alcohol consumption is making people prone to liver diseases. Being overweight or obese has health consequences that can affect your physical, social, and emotional well-being. The easiest way to avoid NAFLD is to maintain a healthy weight by maintaining a well-balanced diet and staying active. Hope this segment was able to relate fast food and liver health. And what are its consequences.

How well-balanced diet benefits the liver health?

Diet is undeniably important for human health. A balanced diet with the right amounts of carbohydrates, proteins, and fats (the macronutrients), as well as vitamins and minerals, is considered safe and nutritious (the micronutrients). Experts agree that an unhealthy and unbalanced diet will lead to the creation of a fatty liver, giving up unhealthy eating habits can help reverse the disease.
Hope this segment was able to make you understand the imporatnce of healthy food for healthy liver. Also the relation between fast food and liver damage.

Healthy food for Healthy liver

The cells in our bodies need energy to work properly, and this energy comes from the glucose in our food. The carbohydrates in our diet are the primary source of this metabolic fuel, glucose. A high-carbohydrate diet causes it to be converted into glycogen, which is then stored as visceral fat.
Proteins are the components that make up our bones and muscles. Proteins are converted to glucose instead of being used in muscle building when you live a sedentary lifestyle. This ensures that glucose is produced in the body even when there are no carbohydrates in the diet. Aside from that, when a person's diet is low in carbohydrates, the body begins to use the glycogen reserves contained in the body, automatically reversing obesity, and melting away visceral fat. To reverse a fatty liver disease, cut back on carbohydrates and eliminate all sugars so the diet cannot be protein deficient (may result muscle breakdown).

Dieticians and nutritionists have provided the green light to high protein foods like beef, eggs, pulses, soybeans, and cottage cheese. Raw vegetables and fruits have vitamins and minerals in the diet. As a result, a balanced diet must include plenty of salads, vegetables, and juices. The bulk of the food, on the other hand, must come from fibre. Fibre deficiency harms the intestinal lining, which in turn harms the liver.

Finally, a healthy food for healthy liver should be low in carbohydrates, moderate in fats, and high in protein, with plenty of fruits and vegetables. It will not only maintain a healthy liver, but it will also keep a person in excellent health.

Through blog We hope that we could make you understand how fast food and liver health is connected. Therefore it is necessary that one should consume healthy food for healthy liver.
#HepatitisFreeFuture #HepatitisCantWait #WorldHepatitisDay

Healthy Diet healthy life

Conclusion

Fatty liver is found in all age groups at autopsy. Adults with alcoholic and nonalcoholic fatty liver disease are the most likely to develop it. Macrovesicular steatosis is the most prevalent pattern. Fibrosis worsens as the condition develops, and cirrhosis may develop. The pathologic characteristics of these disorders frequently overlap, making histology insufficient to identify them; nevertheless, history and other investigative findings may aid in diagnosis. Other medicines, as well as some metabolic diseases, can cause fatty liver disease. Microvesicular steatosis can be detected in a variety of conditions, including acute fatty liver during pregnancy and various medication side effects.

Fatty liver is not a sufficient cause of death on its own. Unless there is a proven history of alcohol use, the presence of fatty liver at autopsy should not be deemed alcohol-related. Fatty liver is a symptom of an underlying problem that could lead to mortality. A search for an underlying cause of death, such as alcoholic or diabetic ketoacidosis, should be initiated if fatty liver disease is present. While fatty liver disease has been questioned as a cause of death, there is now some evidence linking alcoholic and nonalcoholic fatty liver disease to cardiac arrhythmias and hence sudden death.

Related topics:

1.What is self-care & importance of self-care
Self-care means doing activities that makes us feel good and releases stress. Along with other day to day activites, self-care is also important for the body as well as the soul. To know more visit: What is self-care & importance of self-care

2. Yoga for self-care
Yoga is one of the most essential componet of self-care. It makes you feel good about yourself and has a positive impact on your physical as well as mental health. To know more visit: Yoga for self-care

3. Benefits of self-care
There are several benefits of self care such as improved productivity, improved immune system, enhanced self-knowledge and self- compassion.The main benefit is that it brings happiness to your life. To know more visit: Benefits of self-care

4. How to start a self-care routine
As many people face difficulty in starting a self-care routine, it is better to start including small self-care practices such as meditaion, yoga or excercise in your daily routine. To know more visit: How to start a self-care routine

5. How to manage stress
Self-care is an important tool that helps us to feel healthy and happy and reduces stress even in the most stressful conditions. Self-care relaxes out body and soul as it reduces the negative feelings and anxeity.To know more visit: How to manage stress




The above essentials are available with LIVOCUMIN

Livocumin is the combination of natural ingredients like Curcumin, Ardraka (Ginger), Katuka, Yavakshara, Chitraka, March (Black pepper), Sarjikakshara, Amlakai (Amla), Chuna, Haritaki in the management of NAFLD (Non Alcoholic Fatty Liver Disease), Infective Hepatitis, Gall Stones, Jaundice & Indigestion.

Nutralogicx: Livocumin

हेपेटाइटिस इंतजार नहीं कर सकता: 'विश्व हेपेटाइटिस दिवस', '28 जुलाई 2021', थीम

एक नजर में:

  1. हेपेटाइटिस प्रतीक्षा नहीं कर सकता

  2. अवलोकन

  3. जिगर के कार्य

  4. फैटी लिवर डिजीज एक ऐसी स्थिति है जो लिवर को प्रभावित करती है।

  5. क्या फैटी जिगर की बीमारी इतना खतरनाक बनाता है?

  6. फैटी लिवर रोग लोगों की एक विस्तृत श्रृंखला को प्रभावित करता है।

  7. फैटी लिवर के लक्षण क्या हैं?

  8. आपको कैसे पता चल सकता है कि आपको फैटी लिवर की बीमारी है या नहीं?

  9. फैटी लिवर डिजीज ट्रीटमेंट के लिए क्या ऑप्शन हैं?

  10. गैर शराबी फैटी जिगर की बीमारी ( एन ए एफ एल डी ) ?

  11. क्या एन ए एफ एल डी (NAFLD) रिवर्सेबल है

  12. एनएएफएलडी को कैसे रोका जाए?

  13. एनएएफएलडी से अपने जिगर की रक्षा कैसे करें?

  14. गैर-मादक वसायुक्त यकृत रोग के लिए वैकल्पिक चिकित्सा

  15. अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज की परिभाषा क्या है?

  16. जिगर और शराब

  17. जिगर शराब को कैसे पचाताहै?

  18. शराब हमारे जिगर को कैसे प्रभावित करती है?

  19. ए एफ एल डी के चरण

  20. शराबी जिगर की बीमारी की देखभाल (ए एफ एल डी)

  21. शराबी जिगर की बीमारी से संबंधित जटिलताओं

  22. शराबी फैटी लिवर डिजीज का कारण

  23. अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज के लक्षण

  24. शराबी फैटी जिगर की बीमारी का निदान

  25. अल्कोहल फैटी लिवर रोग का उपचार

  26. शराब के कारण जिगर की बीमारी को रोकना

  27. अस्वस्थ जीवन शैली जिगर की बीमारी से कैसे संबंधित है ?

  28. कितनी अच्छी तरह से संतुलित आहार लीवर के स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है

  29. स्वस्थ आहार, स्वस्थ जिगर

  30. निष्कर्ष


Menopause

हेपेटाइटिस प्रतीक्षा नहीं कर सकता

हेपेटाइटिस से संबंधित बीमारी से हर 30 सेकंड में एक व्यक्ति की मृत्यु के साथ - यहां तक ​​कि वर्तमान COVID-19 संकट में - हम वायरल हेपेटाइटिस पर कार्रवाई करने के लिए इंतजार नहीं कर सकते कर सकते हैं।

वायरल हेपेटाइटिस से ग्रसित लोग अनजान हैं परीक्षण के लिए प्रतीक्षा नहीं कर सकते हैं
हेपेटाइटिस से पीड़ित लोग जीवन रक्षक उपचारों के लिए इंतजार नहीं कर सकते
हेपेटाइटिस जांच और उपचार के लिए गर्भवती माताएं इंतजार नहीं कर सकती हैं
नवजात शिशु जन्म खुराक टीकाकरण के लिए इंतजार नहीं कर सकते
हेपेटाइटिस से प्रभावित लोग कलंक और भेदभाव को खत्म करने के लिए इंतजार नहीं कर सकते
सामुदायिक संगठन अधिक निवेश के लिए इंतजार नहीं कर सकते
निर्णय लेने वाले इंतजार नहीं कर सकते और राजनीतिक इच्छाशक्ति और धन के माध्यम से हेपेटाइटिस उन्मूलन को एक वास्तविकता बनाने के लिए अभी कार्य करना चाहिए।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस सार्वजनिक स्वास्थ्य के सबसे महत्वपूर्ण मुद्दों में से एक को उजागर करने का अवसर है।
वायरल हेपेटाइटिस बी और सी प्रमुख स्वास्थ्य चुनौतियां हैं, जो विश्व स्तर पर 325 मिलियन लोगों को प्रभावित करती हैं।
लेकिन उनमें से 10 में से केवल 1 का ही परीक्षण किया गया और उन्हें उचित उपचार मिला।
वायरल हेपेटाइटिस: धीरे-धीरे और चुपचाप व्यक्ति के स्वास्थ्य को खराब करता है।
वे लीवर कैंसर और सिरोसिस के मूल कारण हैं, जिससे हर साल 1.34 मिलियन मौतें होती हैं।

हेपेटाइटिस बी और सी पुराने संक्रमण हैं जो लंबे समय तक, कभी-कभी वर्षों या दशकों तक लक्षण नहीं दिखा सकते हैं। लीवर कैंसर के कम से कम 60% मामले वायरल हेपेटाइटिस बी और सी के देर से परीक्षण और उपचार के कारण होते हैं। 2030 तक वैश्विक उन्मूलन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए परीक्षण और उपचार की कम कवरेज को संबोधित करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण अंतर है।

कुछ दवाएं और सप्लीमेंट जैसे लिवोक्यूमिन हेपेटाइटिस को 3 महीने या उससे कम समय में ठीक कर सकते हैं।

WHO इस विषय पर ध्यान केंद्रित करेगा: विश्व हेपेटाइटिस दिवस के लिए हेपेटाइटिस प्रतीक्षा नहीं कर सकता: 28 जुलाई 2021 कार्यक्रम।
डब्ल्यूएचओ परीक्षण और उपचार अनुशंसाओं को बढ़ावा देने पर विशेष ध्यान देने के साथ हेपेटाइटिस की रोकथाम, परीक्षण, उपचार और देखभाल सेवाओं के पैमाने को समर्थन देने के लिए;
सर्वोत्तम प्रथाओं का प्रदर्शन करने और हेपेटाइटिस सेवाओं के सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज को बढ़ावा देने के लिए; और
वायरल हेपेटाइटिस के खिलाफ लड़ाई में साझेदारी और फंडिंग में सुधार करना।
वायरल हैपेटाइटिस बी और सी का समय पर परीक्षण और उपचार 2030 तक लिवोक्यूमिन जैसे पूरक के साथ जीवन बचा सकता है और हेपेटाइटिस को समाप्त कर सकता है।

अवलोकन

नैदानिक ​​​​अभ्यास में और शव परीक्षण में, फैटी लीवर एक सामान्य खोज है। यह आमतौर पर उन लोगों में पाया जाता है जो शराब का अधिक सेवन करते हैं और जिन लोगों को गैर-अल्कोहल फैटी लीवर रोग ( एन ए एफ एल डी - NAFLD) है। यह वयस्कों और बच्चों में कई अन्य बीमारियों में भी देखा जा सकता है। एनएएफएलडी, अल्कोहलिक लीवर रोग की तरह, अब अंतिम चरण के यकृत रोग के लिए एक जोखिम कारक के रूप में पहचाना जाता है। गैर-मादक वसायुक्त यकृत रोग अन्य बीमारियों, विशेष रूप से हृदय रोगों से मृत्यु के उच्च जोखिम से जुड़ा हुआ है। ड्रग टॉक्सिसिटी, एनोरेक्सिया, हेपेटिक इस्किमिया और हीटस्ट्रोक कुछ ऐसे विकार हैं जो ऑटोप्सी पैथोलॉजिस्ट को रुचिकर लगते हैं। अचानक और अप्रत्याशित रूप से मरने वाले नवजात शिशुओं में स्टीटोसिस आम है। अचानक मृत्यु में पैथोफिज़ियोलॉजी और फैटी लीवर की भूमिका को जोड़ा गया है, और यह समीक्षा पैथोफिज़ियोलॉजी और अचानक मृत्यु में फैटी लीवर की भूमिका को देखती है।

जिगर के कार्य

जिगर मानव शरीर का मुख्य आंतरिक अंग है। मैंभी पाचन और विषहरण में सबसे आवश्यक भूमिकाओं में से एक करता है ।

जिगर, वास्तव में, महत्वपूर्ण कार्यों की एक किस्म में कार्य करता है।
1. यह खून से एस्ट्रोजन और एल्डोस्टेरोन को बाहर निकालता है।
2. यह विषहरण के अलावा वसा, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के मेटाबोलाइजेशन में शामिल है।
3. पित्त यकृत द्वारा गठित पदार्थ है जो वसा और कुछ विटामिन के पाचन और अवशोषण में सहायक होता है।
4. जिगर अन्य विटामिन, खनिज और ग्लाइकोजन भंडार भी संग्रहित करता है।

एक स्वस्थ जिगर के महत्व को अतिरंजित नहीं किया जा सकता है। नतीजतन, यह महत्वपूर्ण है कि हम अपने जिगर के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए यह अपने कार्यों को ठीक से प्रदर्शन करने के लिए ।

फैटी लिवर डिजीज एक ऐसी स्थिति है जो लिवर को प्रभावित करती है।

आपके शरीर का सबसे बड़ा अंग आपका लिवर है। यह भोजन के पाचन, ऊर्जा के भंडारण और शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाने में सहायता करता है। फैटी लिवर डिजीज की विशेषता लिवर में फैट जमा होना है। दो प्रमुख श्रेणियां हैं:

1. नॉनअल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज ( एन ए एफ एल डी - NAFLD)
2. अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज का एक और नाम है।

क्या फैटी जिगर की बीमारी इतना खतरनाक बनाता है?

फैटी जिगर की बीमारी शायद ही कभी प्रमुख जटिलताओं का कारण बनता है या सही ढंग से काम करने के लिए अपने जिगर की क्षमता ख़राब । फैटी जिगर की बीमारी, हालांकि, जो लोग यह है की 7 प्रतिशत से 30% के लिए समय के साथ बिगड़ती है । इसे तीन चरणों में विभाजित किया गया है:

आपके लिवर में सूजन (सूजन) हो जाती है, जिससे टिश्यू डैमेज हो जाते हैं। इस चरण के लिए स्टीटोहेपेटाइटिस नाम है। जब आपका जिगर क्षतिग्रस्त हो जाता है, तो निशान ऊतक बनता है। फाइब्रोसिस इस स्थिति के लिए चिकित्सा शब्द है। निशान ऊतक बड़ी मात्रा में स्वस्थ ऊतक की जगह। इस समय आपके लिवर का सिरोसिस होता है।

फैटी लिवर रोग लोगों की एक विस्तृत श्रृंखला को प्रभावित करता है।

Causes of Fatty Liver Disease

नॉनएल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज (एनएएफएलडी) में कोई ज्ञात एटियोलॉजी नहीं है। यह शोधकर्ताओं को पता है कि यह जो लोग कर रहे है में अधिक आम है

1. मधुमेह टाइप 2 और प्रीडायबिटीज
2. ओब्सई
3. मध्यम आयु वर्ग के लोग (हालांकि बच्चों को भी यह प्राप्त कर सकते हैं)
4. हिस्पैनिक्स बहुमत हैं, इसके बाद गैर-हिस्पैनिक गोरे हैं । अफ्रीकी अमेरिकियों में, यह कम आम है ।
5. कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स जैसे रक्त वसा का स्तर ऊंचा है।
6. हाई ब्लड प्रेशर हो।
7. कुछ दवाएं लें, जैसे कोर्टिकोस्टेरॉयड और कैंसर की दवाएं।
8. मेटाबोलिक सिंड्रोम जैसी कुछ मेटाबॉलिक असामान्यताएं मौजूद हैं।
9. वजन कम करेंरीटल वाई।
10. हेपेटाइटिस सी जैसे कुछ संक्रमण मौजूद हैं।
11. विष के संपर्क में

अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज: हैवी ड्रिंकर्स, खासकर जो लंबे समय से पी रहे हैं, उनमें अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज विकसित होने की संभावना ज्यादा होती है । भारी पीने वाले जो महिला, मोटापे से ग्रस्त हैं, या विशेष आनुवंशिक असामान्यताएं हैं, वे अधिक जोखिम में हैं।

फैटी लिवर के लक्षण और लक्षण क्या हैं?

एनएएफएलडी और अल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज दोनों अक्सर स्पर्शोन्मुख होते हैं। यदि आपके पेट के ऊपरी दाहिने हिस्से में आपको थका हुआ महसूस हो सकता है या बेचैनी हो सकती है।

आपको कैसे पता चल सकता है कि आपको फैटी लिवर की बीमारी है या नहीं?

फैटी लिवर रोग का पता लगाना मुश्किल है क्योंकि इसमें आमतौर पर कोई लक्षण नहीं होते हैं। यदि आप जिगर परीक्षण है कि आप अन्य कारणों के लिए किया पर असामान्य निष्कर्ष मिलता है, अपने डॉक्टर विश्वास कर सकते हैं कि आप यह है. आपका डॉक्टर निदान करने के लिए विभिन्न प्रकार के उपकरणों का उपयोग करेगा।

आपका डॉक्टर आपके चिकित्सा इतिहास के हिस्से के रूप में आपके अल्कोहल की खपत के बारे में पूछताछ करेगा ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि आपके जिगर में वसा अल्कोहल फैटी लिवर रोग या गैर-सरकारी फैटी लिवर रोग (एनएएफएलडी) का संकेत है या नहीं। वह या वह भी अपनी दवाओं के बारे में पूछताछ करने के लिए देखने के लिए कि उनमें से एक को अपने एनएएफएलडी के लिए जिंमेदार है ।

आपका डॉक्टर आपकी काया का निरीक्षण करेगा और शारीरिक परीक्षा के दौरान आपके वजन और ऊंचाई को मापेगा। आपका डॉक्टर फैटी लिवर डिजीज के लक्षणों जैसे सूजे हुए पेट के लिए आपकी जांच करेगा।
• एक सूजा हुआ जिगर
• सिरोसिस के लक्षणों में पीलिया शामिल है, जिसकी वजह से आपकी आंखों की त्वचा और गोरे पीले रंग के हो जाते हैं।

रक्त परीक्षण, जैसे जिगर समारोह परीक्षण और रक्त गिनती परीक्षण, लगभग निश्चित रूप से आप पर किया जाएगा । इमेजिंग परीक्षण, जैसे कि जिगर में वसा के लिए स्क्रीन और आपके जिगर की कठोरता, कुछ परिस्थितियों में आवश्यक हो सकता है। फाइब्रोसिस, या जिगर के जख्म, हेपेटिक कठोरता पैदा कर सकता है। निदान की पुष्टि करने और जिगर की क्षति की गंभीरता का आकलन करने के लिए कुछ मामलों में एक जिगर बायोप्सी की आवश्यकता हो सकती है।

फैटी लिवर डिजीज ट्रीटमेंट के लिए क्या ऑप्शन हैं ?

नॉनल्कोहलिक फैटी लिवर के लिए डॉक्टर वजन कम करने की सलाह देते हैं। लिवर में फैट, सूजन और फाइब्रोसिस सभी को वजन कम करके कम किया जा सकता है। यदि आपके डॉक्टर का मानना है कि एक विशिष्ट दवा आपके एन ए एफ एल डी NAFLD पैदा कर रही है, तो आप इसे लेने बंद कर देना चाहिए । हालांकि, अपनी दवा को बंद करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करें। यह संभव है कि आपको धीरे-धीरे दवा को बंद करने और एक अलग पर स्विच करने की आवश्यकता होगी।

एन ए एफ एल डी NAFLD के इलाज के लिए कोई एफडीए अनुमोदित दवाएं हैं । अतिरिक्त अनुसंधान के लिए अगर एक विशिष्ट मधुमेह दवा या विटामिन ई मदद मिलेगी देखने की जरूरत है, लेकिन अधिक अनुसंधान की जरूरत है ।

शराब का सेवन रोकना शराबी फैटी लिवर रोग के इलाज का सबसे महत्वपूर्ण तत्व है। यदि आपको सहायता की आवश्यकता है, तो एक चिकित्सक को देखने या अल्कोहल उपचार कार्यक्रम में नामांकन करने पर विचार करें। ऐसी दवाएं भी हैं जो या तो लालसा को कम करके या यदि आप शराब का सेवन करते हैं तो आपको बीमार बनाकर मदद कर सकती हैं।

सिरोसिस दोनों अल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज और एक प्रकार की नॉनल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज (नॉनल्कोहॉलिक स्टीटोहेपेटाइटिस) के कारण हो सकता है। सिरोसिस द्वारा उत्पादित स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज के लिए दवाओं, सर्जरी और अन्य चिकित्सा उपचारों का उपयोग किया जा सकता है। यदि आपका सिरोसिस यकृत विफलता के बिंदु तक बढ़ता है, तो आपको यकृत प्रत्यारोपण की आवश्यकता हो सकती है।

गैर शराबी फैटी जिगर की बीमारी?


Healthy Liver and Fatty Liver

गैर-अल्कोहलफैटी लिवर डिजीज ( एन ए एफ एल डी - NAFLD) एक ऐसा शब्द है जो विभिन्न प्रकार के यकृत रोगों के लिए दिया जाता है जो गैर-शराबी लोगों या उन लोगों को प्रभावित करते हैं जो ज्यादा शराब नहीं पीते हैं। एनएएफएफडी की विशेषता है कि यकृत कोशिकाओं में वसा की अधिकता होती है।

1. एनएएफएफडी में ईएक्ससेस फैट लिवर में अत्यधिक ट्राइग्लिसराइड्स के रूप में जमा होता है, जो हेपेटोसाइट्स नामक लिवर कोशिकाओं के 5% से अधिक पर कब्जाकरता है। सी ओमपेरिसन प्राकृतिक परिस्थितियों के लिए, इसका मतलब है कि वेंईअतिरिक्त वसा जिगर का 5% वजन बनाताहै(सामान्य स्थिति में यकृत में शायद ही कोई वसा मौजूद होता है)।

Non-Alcoholic Fatty Liver

2. फैट लिवर सेल्स को नुकसान पहुंचाता है, जिससे सूजन और फाइब्रोसिस होता है। इस सूजन और फाइब्रोसिस कोगैर-अल्कोहलिकस्टीटोहेपेटाइटिस (नैश) केरूप में एक आक्रामक प्रकार की फैटी लिवर रोग के रूप में चित्रित किया जाता है जो उन्नत जख्म (सिरोसिस) और यकृत विफलता का कारण बन सकताहै। जिगर की विफलता के जोखिम के अलावा, जिगर के कैंसर या कुल जिगर की शिथिलता के विकास की संभावना अधिक है।

NAFLD Spectrum

टीवह नैश की वजह से नुकसान भारी शराब की खपत की वजह से नुकसान के करीब है ।

क्या एन ए एफ एल डी( NAFLD) रिवर्सेबल है

प्रारंभिक चरण में पता लगाया गया एन ए एफ एल डी ( NAFLD )प्रतिवर्ती है और सिरोसिस विकसित होने से पहले आगे की जटिलताओं से बचा जा सकता है।

Reversible and irreversible liver disease

एन ए एफ एल डी को कैसे रोका जाए?

एन ए एफ एल डी( NAFLD) को रोकने का सबसे अच्छा तरीका एक दिनचर्या है जिसमें दैनिक व्यायाम, खाने के पैटर्न की निगरानी, और अपने वजन का ट्रैक रखना, कहावत को याद रखना है "स्वास्थ्य धन है।

मधुमेह रोगियों में रक्त शर्करा के स्तर के रूप में पहले से मौजूद चिकित्सा शर्तों के बेहतर विनियमन, विकास और प्रगति से एन ए एफ एल डी (NAFLD) को रोकने में मदद कर सकते हैं ।

आप अपने डॉक्टर की सलाह से अपने नॉनल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज को रेगुलेट कर सकते हैं। आप निम्नलिखित कर सकते हैं:
1. अपना वजन कम करें। कैलोरी की मात्रा कम करें आप प्रत्येक दिन उपभोग करते हैं और यदि आप अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त हैं तो वजन कम करने के लिए अपनी शारीरिक गतिविधि को बढ़ाते हैं। वजन घटाने और रोग प्रबंधन के लिए कैलोरी प्रतिबंध आवश्यक है। यदि आपने अतीत में वजन कम करने की कोशिश की है और विफल रहे हैं, तो अपने डॉक्टर से सलाह लें।

2. संतुलित आहार खाने के लिए सचेत प्रयास करें। आप जिन कैलोरी का सेवन करते हैं, उनका ट्रैक रखें और फलों, सब्जियों और साबुत अनाज से भरपूर पौष्टिक आहार खाएं।

3. व्यायाम करें और अपनी शारीरिक गतिविधि बढ़ाएं। सप्ताह के अधिकांश दिनों में, व्यायाम के कम से कम 30 मिनट में प्राप्त करने की कोशिश करें। यदि आप वजन कम करने का प्रयास कर रहे हैं, तो आपको पता चल सकता है कि आपकी शारीरिक गतिविधि में वृद्धि फायदेमंद है। हालांकि, यदि आप लगातार व्यायाम नहीं कर रहे हैं, तो अपने डॉक्टर की मंजूरी पहले से प्राप्त करें और धीरे-धीरे शुरू करें।

4. अपने मधुमेह पर नियंत्रण बनाए रखें। अपने मधुमेह को नियंत्रण में रखने के लिए, अपने डॉक्टर की सलाह का पालन करें। निर्धारित के रूप में अपनी दवाओं ले लो और अपने रक्त शर्करा के स्तर पर एक करीबी नजर रखने के लिए।
5. अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करें। एक स्वस्थ पौधे आधारित आहार, व्यायाम और फार्मास्यूटिकल्स सभी आपको एक अच्छा कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड स्तर बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

6. अपने जिगर का ख्याल रखें। ऐसी किसी भी चीज से बचें जो आपके जिगर को और तनाव में डाल देगा। उदाहरण के लिए, शराब का सेवन न करें। सभी पर्चे और ओवर-द-काउंटर दवाएं निर्माता के निर्देशों के अनुसार ली जानी चाहिए। किसी भी हर्बल दवाओं का उपयोग करने से पहले, अपने डॉक्टर से परामर्श करें, क्योंकि सभी हर्बल उत्पाद सुरक्षित नहीं हैं।

एनएएफएलडी से अपने जिगर की रक्षा कैसे करें?

Changes in liver cells

1. प्रति सप्ताह एक से अधिक फास्ट फूड भोजन की अनुमति नहीं है । यह कुछ लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण डाउनशिफ्ट होगा । एक फास्ट फूड रेस्तरां के लिए एक यात्रा, दूसरी ओर, अपनी भलाई के लिए एक दैनिक घटना के बजाय एक विशेष अवसर के रूप में माना जाना चाहिए ।

2. फास्ट फूड खाते समय, जितना संभव हो उतना स्वस्थ खाने की कोशिश करें। फ्राइज़ और मीठा शीतल पेय बंदकरो, मेयो और पनीर के बिना बर्गर आदेश। बेहतर होगा अगर आप कम वसा वाले सलाद और बोतलबंद पानी या डाइट सोडा के साथ ग्रील्ड चिकन सैंडविच ऑर्डर करेंगे।

3. आगे बढ़ जाओ। यदि आप पहले से ही नहीं हैं तो सप्ताह में कम से कम तीन दिन व्यायाम करना शुरू करें। नियमित व्यायाम आपको स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद करता है और शरीर को आपके द्वारा उपभोग किए जाने वाले भोजन को ठीक से मेटाबोलाइज करने और पचाने की अनुमति देता है।

4. अपने डॉक्टर से रक्त परीक्षण का अनुरोध करें ताकि आपके जिगर एंजाइमों का स्तर निर्धारित किया जा सके, जो आपके जिगर के स्वास्थ्य का एक महत्वपूर्ण संकेतक है। वयस्कों के लिए, कई डॉक्टरों अब एक दिनचर्या के रूप में इस परीक्षण के आदेश, लेकिन बच्चों को जो फास्ट फूड का एक बहुत खाने के लिए विशेष रूप से अपने जिगर एंजाइमों परीक्षण प्राप्त करने की जरूरत है ।

गैर-मादक वसायुक्त यकृत रोग के लिए वैकल्पिक चिकित्सा

इस बात का कोई सबूत नहीं है कि वैकल्पिक चिकित्सा उपचारगैर-अल्कोहलफैटी लिवर रोग को ठीक करसकते हैं। हालांकि, वैज्ञानिक इस बात की जांच कर रहे हैं कि विटामिन ई जैसे कुछ प्राकृतिक रसायन फायदेमंद हो सकते हैं या नहीं ।

1. विटामिन ई और अन्य एंटीऑक्सीडेंट विटामिन, सिद्धांत रूप में, सूजन से संबंधित क्षति को कम या बेअसर करके यकृत को संरक्षित करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, और अधिक शोध की आवश्यकता है। कुछ आंकड़ों के अनुसार, विटामिन ई पूरकता गैर-सरकारी फैटी लिवर रोग वाले व्यक्तियों की सहायता कर सकती है जिन्हें यकृत क्षति होती है। विटामिन ई, दूसरी ओर, मौत का खतरा बढ़ गया है और, पुरुषों में, प्रोस्टेट कैंसर की एक उच्च संभावना से जुड़ा हुआ है ।

2. कॉफी मेरे पसंदीदा पेय पदार्थों में से एक है। गैर सरकारी फैटी जिगर की बीमारी है जो प्रति दिन कॉफी के दो या अधिक कप का सेवन के साथ लोगों को जो कम या कोई कॉफी पिया की तुलना में कम जिगर की क्षति थी, अनुसंधान के अनुसार । यह स्पष्ट नहीं है कि कैसे कॉफी जिगर की क्षति को प्रभावित करता है, लेकिन अनुसंधान से पता चलता है यह घटक है कि सूजन से लड़ने में मदद कर सकते है शामिल हैं ।

इन निष्कर्षों से आप कॉफी के अपने सुबह कप के बारे में बेहतर महसूस कर सकते है अगर आप वर्तमान में इसे पीते हैं । यह एक अच्छा बहाना कॉफी पीने शुरू अगर तुम पहले से ही नहीं है नहीं है । कॉफी के संभावित फायदों के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज की परिभाषा क्या है?

भारी शराब के सेवन से अल्कोहल फैटी लिवर की बीमारी होती है। आपके द्वारा उपभोग की जाने वाली अधिकांश शराब आपके जिगर से टूट जाती है और आपके शरीर से उत्सर्जित होती है। हालांकि, इसे खत्म करने की प्रक्रिया के परिणामस्वरूप खतरनाक यौगिकों को रिहा किया जा सकता है। ये रसायन जिगर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं, सूजन पैदा कर सकते हैं, और आपके शरीर की प्राकृतिक सुरक्षा से समझौता कर सकते हैं। आप जितनी ज्यादा शराब का सेवन करते हैं, उतना ही नुकसान आप अपने लिवर को करते हैं। अल्कोहल से संबंधित लिवर डिजीज का शुरुआती चरण अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज है। अगले चरणों में अल्कोहलिक हेपेटाइटिस और सिरोसिस शामिल हैं।

जिगर और शराब

लिवर मस्तिष्क से अलग शरीर का सबसे जटिल अंग होता है। रक्त से प्रदूषकों को छानने, पाचन सहायता, रक्त शर्करा और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को विनियमित करने, और संक्रमण और रोग के खिलाफ लड़ाई में सहायता सिर्फ अपने कर्तव्यों के कुछ कर रहे हैं ।

जिगर बेहद मजबूत है और आत्म उत्थान में सक्षम है। कुछ जिगर की कोशिकाओं को हर बार अपने जिगर शराब फिल्टर मर जाते हैं । जिगर नई कोशिकाओं को पुनर्जीवित कर सकते हैं, लेकिन लंबे समय तक शराब के दुरुपयोग (बहुत ज्यादा पीने) ऐसा करने की क्षमता ख़राब कर सकते हैं । इसके परिणामस्वरूप आपका जिगर स्थायी रूप से क्षतिग्रस्त हो सकता है।

जिगर शराब को कैसे पचाताहै?

जिगर दो अलग-अलग तरीकों से शराब को अवशोषित कर सकता है।
1. अल्कोहल डिहाइड्रोजनेज़: इस विधि में अल्कोहल डिहाइड्रोजनेज (एडीएच)आपके जिगर की कोशिकाओं में पाया जाने वाला एन एंजाइम, अधिकांश अल्कोहल को तोड़ता है या मेटाबोलाइज करता है। एडीएच अल्कोहल को एसीटलडिहाइड में परिवर्तित करता है, जिसे एल्डिहाइड डेहाइड्रोजनेज (एएलडीएच) नामक एक अन्य एंजाइम द्वारा एसीटेट में जल्दी से परिवर्तित कर दिया जाता है। एसीटेट को आगे मेटाबोलाइज्ड किया जाता है और अंततः शरीर को कार्बन डाइऑक्साइड और पानी के रूप में बाहर निकलता है।

2. माइक्रोसोमल इथेनॉल ऑक्सीकरण विधि: 'माइक्रोसोमल इथेनॉल-ऑक्सीकरण विधि, मुख्य रूप से तब उपयोग किया जाता है जब आपके रक्त में अल्कोहल की मात्रा बहुत अधिक होती है। इस दूसरे मार्ग की गतिविधि नियमित रूप से पीनेके बढ़ाया जा सकता है ।

शराब हमारे जिगर को कैसे प्रभावित करती है?

Effect of alcohol on the Liver

अल्कोहल गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट से आसानी से अवशोषित हो जाता है, और यकृत इसका 98 प्रतिशत तक मेटाबोलाइज कर सकता है। प्रत्येक यकृत कोशिका में तीन अल्कोहल मेटाबॉलिज्म रास्ते होते हैं। इन सभी चीजों से एक अत्यधिक जहरीले मेटाबोलाइट का विकास होता है जो यकृत कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है।

शराब की महत्वपूर्ण मात्रा जिगर की कोशिकाओं को अपरिवर्तनीय क्षति पहुंचा सकती है। इस पुनर्योजी क्षमता को दैनिक शराब की खपत से बाधित किया जा सकता है, जिसके परिणामस्वरूप दीर्घकालिक यकृत क्षति होती है। लंबे समय तक भारी शराब के सेवन से लिवर में फैट जमा हो सकता है, जिससे अल्कोहलिक हेपेटाइटिस या लिवर सिरोसिस हो सकता है।

शराब के दुरुपयोग के परिणामस्वरूप यकृत क्षति के तीन रूप हो सकते हैं, जो आमतौर पर इस क्रम में होते हैं:
1. जिगर में वसा संचय (हेपेटिक स्टीटोसिस): यह सबसे कम गंभीर प्रकार है, और इसे कुछ मामलों में उलट दिया जा सकता है। यह 90% से अधिक लोगों को प्रभावित करता है जो बहुत अधिक शराब का सेवन करते हैं।
2. सूजन (मादक हेपेटाइटिस): 10% से 35% लोगों के बीच यकृत सूजन का अनुभव होता है।
3. सिरोसिस: इस बीमारी को निशान ऊतक (फाइब्रोसिस) के साथ सामान्य यकृत ऊतक के अपरिवर्तनीय प्रतिस्थापन की विशेषता है, जिसका कोई कार्य नहीं है। नतीजतन, जिगर की आंतरिक संरचना टूट गई है, और यह अब ठीक से काम नहीं कर सकता है। सिरोसिस 10 से 20% आबादी को प्रभावित करता है।

जबकि भारी पीने पहले हेपेटाइटिस के विकास के बिना मादक सिरोसिस विकसित कर सकते हैं, इन स्थितियों को आम तौर पर फैटी जिगर से मादक हेपेटाइटिस सिरोसिस के लिए प्रगति ।

Liver Damage


ए एफ एल डी के चरण


Stages of AFLD

ए एफ एल डी को तीन चरणों में विभाजित किया गया है, हालांकि कभी-कभी उनके बीच ओवरलैप होता है। इन चरणों को नीचे विस्तार से वर्णित किया गया है।

फैटी लिवर की बीमारी शराब के कारण हुई.
यहां तक कि अगर यह केवल कुछ दिनों के लिए है, शराब का एक बहुत पीने के जिगर में निर्माण करने के लिए वसा पैदा कर सकता है ।
यह एएफएलडी का पहला चरणहै और इसे अल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज के रूप में जाना जाता है।
फैटी लिवर रोग के कुछ लक्षण हैं, फिर भी यह एक महत्वपूर्ण संकेतक है कि आप बहुत अधिक शराब का सेवन कर रहे हैं।
फैटी लिवर की बीमारी को ठीक किया जा सकता है। यदि आप दो सप्ताह तक नहीं पीते हैं, तो आपका जिगर सामान्य हो जाना चाहिए।

शराब के कारण हेपेटाइटिस।
मादक हेपेटाइटिस, जो संक्रामक हेपेटाइटिस के रूप में ही नहीं है, एक संभावित घातक दीर्घकालिक शराब के दुरुपयोग से प्रेरित बीमारी है ।
जब ऐसा होता है, यह संभव है कि यह पहली बार एक व्यक्ति को एहसास होता है कि वे शराब के साथ अपने जिगर को नुकसान पहुंचा रहे हैं ।
अल्कोहलिक हेपेटाइटिस कम समय (द्वि तुंग पीने) में बड़ी मात्रा में शराब लेने की एक कम आम जटिलता है।
हल्के मादक हेपेटाइटिस जिगर की क्षति का कारण बनता है कि आमतौर पर उलटा है अगर आप अच्छे के लिए पीने बंद करो ।
दूसरी ओर, गंभीर मादक हेपेटाइटिस एक जीवन के लिए खतरा स्थिति है ।

सिरोसिस एक ऐसी बीमारी है जो लिवर को प्रभावित करती है।
सिरोसिसएफएलडी की एक अवस्थाहै जिसमें लिवर बुरी तरह जख्मी हो जाता है। इस समय भी कोई स्पष्ट लक्षण नहीं हो सकते हैं।
हालांकि यह आमतौर पर प्रतिवर्ती नहीं है, शराब से बचना आप भविष्य के नुकसान को रोकने और अपने जीवन प्रत्याशा का विस्तार करके लंबे समय तक जीने में मदद कर सकते हैं ।
शराब के कारण सिरोसिस वाले व्यक्ति जो पीने को रोक नहीं पाता है, उसके पास एक और 5 साल तक रहने की 50% से कम संभावना होती है।

शराबी जिगर की बीमारी की देखभाल (ए एफ एल डी)

इस समयएफएलडी के लिए कोई विशिष्ट चिकित्सा उपचार नहींहै। सबसे महत्वपूर्ण उपचार अपने जीवन के आराम के लिए पीने को रोकने के लिए है। यह आगे जिगर की क्षति के जोखिम को कम करती है और अपने जिगर वसूली का सबसे अच्छा मौका प्रदान करता है ।

पीने को रोकना किसी ऐसे व्यक्ति के लिए कठिन हो सकता है जो शराब का आदी है। हालांकि, स्थानीय शराब सहायता एजेंसियां सहायता, जानकारी और चिकित्सा उपचार प्रदान करने में सक्षम हो सकती हैं। गंभीर मामलों में जहां जिगर काम करना बंद कर दिया है और आप शराब का सेवन बंद करने के बाद ठीक नहीं है, एक जिगर प्रत्यारोपण की आवश्यकता हो सकती है ।

केवल अगर आप पीने छोड़ने के बावजूद सिरोसिस मुद्दों का विकास किया है आप एक जिगर प्रत्यारोपण के लिए पात्र हो जाएगा । सभी जिगर प्रत्यारोपण इकाइयों रोगियों को उनके इलाज की अवधि के लिए और उनके जीवन के आराम के लिए शराब पीने से बचना करने के लिए कहते हैं ।

शराबी जिगर की बीमारी से संबंधित जटिलताओं

ए एफ एल डी से संबंधित मृत्यु दर हाल के दशकों में नाटकीय रूप से बढ़ी है । आंतरिक (वैरिसल) रक्तस्राव, साथ ही मस्तिष्क में जहरों का निर्माण,एफएलडी (एन्सेफेलोपैथी) के सभी जीवन-बद्ध परिणाम हैं
जलोदर पेट में एक तरल पदार्थ संग्रह है जो गुर्दे की विफलता से संबंधित है। लिवर कैंसर के परिणामस्वरूप संक्रमण संवेदनशीलता को बढ़ाया गया था।

वैरिसल: पोर्टल नसों और वैरिस का उच्च रक्तचाप
सिरोसिस और, कम आम तौर पर, मादक हेपेटाइटिस दोनों पोर्टल उच्च रक्तचाप के कारण जाना जाता है । ऐसा तब होता है जब आपके लिवर के अंदर ब्लड प्रेशर खतरनाक रूप से हाई लेवल तक पहुंच जाता है।

जब जिगर काफी जख्म हो जाता है, इसके माध्यम से रक्त प्रवाह और अधिक कठिन हो जाता है । इसके परिणामस्वरूप आंतों के आसपास रक्तचाप बढ़ जाता है। रक्त भी दिल को वापस एक नया रास्ता खोजना होगा । यह छोटे रक्त धमनियों का उपयोग करके इसे पूरा करता है।

हालांकि, इन जहाजों को रक्त के वजन को पकड़ने के लिए डिज़ाइन नहीं किया गया था और परिणामस्वरूप खिंचे और कमजोर हो सकते हैं। वेरिस रक्त वाहिकाओं को कमजोर करने के लिए शब्द हैं।

रक्तचाप वैरिस को संभालने के लिए बहुत अधिक बढ़ सकता है, जिससे वैरिस की दीवारों को क्रैक और खून होता है यदि यह किसी विशेष सीमा पर चढ़ता है। लंबे समय तक रक्तस्राव का परिणाम हो सकता है, जिससे खून की कमी हो सकती है।

वैकल्पिक रूप से, रक्तस्राव गंभीर और अचानक हो सकता है, जिससे आप रक्त को उल्टी कर सकते हैं और अंधेरे या टार जैसे मल का उत्पादन करते हैं। एक एंडोस्कोप का उपयोग स्प्लिट वैरिस की खोज करने और उनका इलाज करने के लिए किया जा सकता है। इसके बाद वैराइस के बेस को पतले बैंड के साथ सील किया जा सकता है।

जलोदर : पेट में और आंतों के आसपास तरल पदार्थ का निर्माण पोर्टल उच्च रक्तचाप का एक और लक्षण है। जलोदर इस तरल पदार्थ के लिए चिकित्सा शब्द है।
इसे पहले (मूत्रवर्धक) में पानी की गोलियों से संबोधित किया जा सकता है। यदि समस्या बिगड़ती है, तो कई लीटर तरल पदार्थ जमा हो सकता है और इसे खाली किया जाना चाहिए।
पैरासेंटेसिस एक उपचार है जिसमें स्थानीय एनेस्थीसिया के नीचे त्वचा के माध्यम से तरल पदार्थ में एक लंबी, पतली ट्यूब डालना शामिल है।
तरल पदार्थ में संक्रमण की संभावना एसाइट्स (सहज बैक्टीरियल पेरिटोनाइटिस) के विकास से जुड़े मुद्दों में से एक है। यह एक संभावित घातक जटिलता है कि गुर्दे की विफलता और मौत का एक उच्च जोखिम से संबंधित किया गया है ।

हेपेटिक एंसेफेलोपैथी: यह लीवर रोग के कारण एक प्रकार की इंसेफेलोपैथी है।

रक्त से विष हटाने जिगर की सबसे महत्वपूर्ण गतिविधियों में से एक है। हेपेटाइटिस या सिरोसिस के कारण जिगर ऐसा करने में असमर्थ होने पर रक्त में विष का स्तर बढ़ जाता है। हेपेटिक एंसेफेलोपैथी जिगर की चोट के कारण रक्त में विषाक्त पदार्थों की एक उच्च मात्रा की विशेषता है।

हेपेटिक एंसेफेलोपैथी लक्षणों में शामिल हैं:
1. महापरिवर्तन
2. गूढ़
3. बेफ्यूडलमेंट
4. मांसपेशियों की कठोरता
5. मांसपेशियों में झटके
6. बोलने में कठिनाइयां
7. कोमा बेहोशी की स्थिति है जो सबसे गंभीर परिस्थितियों में होती है।

हेपेटिक एंसेफेलोपैथी को अस्पताल में प्रवेश की आवश्यकता हो सकती है। अस्पताल में शरीर के कार्यों का समर्थन किया जाता है, और रक्त से जहर को खत्म करने के लिए दवा का उपयोग किया जाता है।

इंफ़ेक्शन
प्रतिरक्षा प्रणाली जिगर की क्षति से कमजोर हो सकती है। इससे शरीर संक्रमण, विशेष रूप से मूत्र और श्वसन संक्रमण (जैसे निमोनिया) के लिए अतिसंवेदनशील हो जाता है।

लिवर कैंसर
समय की एक लंबी अवधि में भारी पीने की वजह से जिगर को नुकसान जिगर के कैंसर के विकास की संभावना बढ़ा सकते हैं । ब्रिटेन में शराब के उपयोग के बढ़ते स्तर के कारण, जिगर के कैंसर की दर नाटकीय रूप से पिछले कुछ दशकों में वृद्धि हुई है । हर साल सिरोसिस के 3 से 5% मरीजों में लिवर कैंसर विकसित होने का अनुमान है।

शराबी फैटी लिवर डिजीज का कारण

बहुत ज्यादा शराब पीने से अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज (एएफएलडी) होता है। अनुशंसित राशि से अधिक आप जितना अधिक पीते हैं, उतनी ही अधिक संभावना है कि आपएफएलडी विकसितकरें।

वहां दो तरीके है कि अत्यधिक शराब की खपत (पीने) एकएफएलडी के लिए नेतृत्व कर सकते हैं । ये निम्नलिखित हैं:
1. द्वि तुंग पीने (समय की एक छोटी अवधि में शराब की एक महत्वपूर्ण राशि का उपभोग) फैटी जिगर की बीमारी के लिए नेतृत्व कर सकते है और, कम आमतौर पर, मादक हेपेटाइटिस ।
2. हेपेटाइटिस और सिरोसिस, एकएफएलडी के अधिक गंभीर प्रकार, समय कीएक लंबी अवधि में शराब की सिफारिश की सीमा से अधिक उपभोग के कारण हो सकता है ।

जो लोग नियमित आधार पर सुझाए गए अधिकतम राशि सेअधिक पीते हैं, वे सबूतों केअनुसार एफ एलडी विकसित करने की अधिक संभावना है:
1. पुरुषों और महिलाओं को नियमित आधार पर प्रति सप्ताह 14 से अधिक इकाइयों का उपभोग नहीं करने की सिफारिश की जाती है।
2. यदि आप प्रत्येक सप्ताह 14 इकाइयों तक का उपभोग करते हैं, तो इसे तीन दिनों या उससे अधिक में फैलाएं।

अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज के लक्षण

अल्कोहल फैटी लिवर डिजीज (एएफएलडी) वाले लोगअक्सर तब तक कोई लक्षण नहीं दिखाते जब तक कि उनका लिवर गंभीर रूप से खराब न हो जाए ।

शुरुआती संकेत और लक्षण
मैं च तुम एकएफएलडीके प्रारंभिक संकेत है,वे अक्सर अस्पष्ट हैं, जैसे:
1. एकबीडीओमेन (पेट) असुविधा
2. भूख में कमी
3. गहरी थकान
4. अस्वस्थ महसूस करना
5. अतिसार रोग
6. सामान्य रूप से बीमार महसूस करना

उन्नत संकेत और लक्षण
चूंकि यकृत अधिक गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो जाता है, अधिक स्पष्ट और महत्वपूर्ण लक्षण उभरते हैं, जैसे:
1. त्वचा और आंखों के गोरे पीले हो जाते हैं (पीलिया)
2. तरल पदार्थ का निर्माण पैरों, टखनों और पैरों (ओडेमा) में सूजन का कारण बनता है
3. एसाइट्स तरल पदार्थ के निर्माण के कारण पेट में सूजन है।
4. कंपकंपी हमलों और एक उच्च तापमान (बुखार)
5. त्वचा जो बेहद परेशान है
6. बाल पतले
7. उंगलियों और नाखून जो असामान्य रूप से घुमावदार होते हैं (उंगलियों को मिलाया जाता है)
8. धब्बेदार लाल धब्बे के साथ हथेलियों
9. वजन घटाने जो पर्याप्त है
10. मांसपेशियों को मुरझाने और कमजोरी
11. मस्तिष्क में विषाक्त पदार्थों के निर्माण के कारण, आपको भ्रम और स्मृति के मुद्दे, सोने में कठिनाई (अनिद्रा), और व्यक्तित्व में परिवर्तन हो सकता है।
12. आंतरिक रक्तस्राव के परिणामस्वरूप, आप काले, टैरी पू और उल्टी रक्त गुजर रहे हैं।
13. चोट और रक्तस्राव के लिए एक प्रवृत्ति, जैसे लगातार नाकबंद और रक्तस्राव मसूड़ों
14. क्योंकि लिवर शराब और ड्रग्स को पचा नहीं पाता है, इसलिए लोग उनके प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं।

शराबी फैटी जिगर की बीमारी का निदान

जब अन्य चिकित्सा विकारों के लिए परीक्षण एक क्षतिग्रस्त जिगर का पता चलता है, शराब फैटी जिगर की बीमारी (एकएफएलडी) अक्सर संदिग्ध है । यह इस तथ्य के कारण है कि बीमारी के शुरुआती दौर में कुछ दिखाई देने वाले लक्षण हैं।

यदि आपके डॉक्टर को संदेह है कि आपके पासएफएलडी है, तो वे यह देखने के लिए रक्त परीक्षण का आदेश देंगे कि आपका जिगर कितनी अच्छी तरह काम कर रहा है। वे आपकी पीने की आदतों के बारे में भी पूछताछ कर सकते हैं।

अननीक परीक्षण से बचने के लिए, यह महत्वपूर्ण है कि आप कितना और कितनी बार शराब पीते हैं, इसके बारे में पूरी तरह से ईमानदार रहें। यह आप की आवश्यकता की देखभाल प्राप्त करने में देरी का कारण हो सकता है।

रक्त परीक्षण
लिवर फंक्शन टेस्ट ब्लड टेस्ट होते हैं जिनका इस्तेमाल लिवर का मूल्यांकन करने के लिए किया जाता है। हालांकि, यकृत रोग के विभिन्न चरणों में, यकृत समारोह परीक्षण सामान्य हो सकते हैं। रक्त परीक्षण भी विशिष्ट रसायनों की कम मात्रा का पता चलता है, जैसे जिगर द्वारा उत्पादित एक प्रोटीन सीरम एल्बुमिन कहा जाता है । यदि आपका सीरम एल्बुमिन स्तर कम है, तो इसका मतलब है कि आपका जिगर ठीक से काम नहीं कर रहा है। अनियमित रक्त थक्के के सबूतों की जांच के लिए रक्त परीक्षण का भी उपयोग किया जा सकता है, जो गंभीर यकृत क्षति का संकेत दे सकता है।

एडवांस टेस्टिंग
यदि आपके लक्षण या यकृत समारोह परीक्षण ए एफएलडी (अल्कोहलिक हेपेटाइटिस या सिरोसिस) के उन्नत रूप का संकेत देता है तो आपको अतिरिक्त परीक्षण की आवश्यकता हो सकती है। ये नीचे अधिक विस्तार में हैं।

इमेजिंग
यह संभव है कि आपको अपने जिगर की स्पष्ट तस्वीर प्राप्त करने के लिए स्कैन की आवश्यकता होगी। इसमें निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं:
1. अल्ट्रासाउंड जांच
2. एक्स-रे
3. एक एमआरआई परीक्षा
कुछ स्कैन भी जिगर की जकड़न का पता लगा सकते हैं, जो एक उत्कृष्ट संकेतक है या नहीं, अपने जिगर जख्म है ।

लिवर बायोप्सी
एक छोटी सुई एक जिगर बायोप्सी के दौरान आपके शरीर में पेश किया जाता है (आमतौर पर अपनी पसलियों के बीच) । जिगर की कोशिकाओं का एक छोटा सा नमूना एकत्र किया जाता है और सूक्ष्म जांच के लिए एक प्रयोगशाला में भेजा जाता है। बायोप्सी आमतौर पर स्थानीय एनेस्थीसिया के तहत एक दिन के मामले के रूप में या अस्पताल में रात भर रहने के साथ किया जाता है। आपके जिगर में जख्म की सीमा और चोट की उत्पत्ति आपके जिगर के ऊतकों की जांच करके निर्धारित की जाएगी।
एंडोस्कोपी
एंडोस्कोपी एक प्रक्रिया है जो शरीरके अंदर की जांच करतीहै । एक छोर पर एक प्रकाश और एक वीडियो कैमरा युक्त एक लंबी, पतली, लचीली ट्यूब को एंडोस्कोप के रूप में जाना जाता है। उपकरण आपके घेघा (लंबी ट्यूब जो गले से पेट तक भोजन का परिवहन करता है) और एंडोस्कोपी के दौरान आपके पेट में पारित हो जाता है। आपके घेघा और पेट की छवियां आपके शरीर के बाहर एक मॉनिटर के लिए भेजी जाती हैं। सूजन नसों (वैरिस), जो सिरोसिस का संकेत हैं, डॉक्टर द्वारा जांच की जाएगी।

अल्कोहल फैटी लिवर रोग का उपचार

शराब पीना बंद करो।
शराब पीना रोकनाएफएलडी के इलाज का हिस्साहै। इसे संयम कहा जाता है, और यह बीमारी के चरण के आधार पर महत्वपूर्ण हो सकता है।

यदि आपको फैटी लिवर रोग है, तो कम से कम दो सप्ताह तक शराब से बचना आपको नुकसान की मरम्मत करने में मदद कर सकता है। यदि आपके पासएफएलडी (अल्कोहलिक हेपेटाइटिस या सिरोसिस) का अधिक गंभीर रूप है, तो आपको अपने जीवन के बाकी हिस्सों के लिए शराब से बचना चाहिए।

इसका कारण यह है कि एक ही रास्ता बिगड़ती है और जिगर की बीमारी से शायद मौत से अपने जिगर की क्षति को रोकने के लिए पीने को रोकने के लिए है । पीने को रोकना आसान नहीं है, खासकर जबएफएलडी वाले अनुमानित 70% व्यक्तियोंमें शराब निर्भरता की समस्या होती है।

हालांकि, अगर आप अल्कोहल से संबंधित सिरोसिस या अल्कोहलिक हेपेटाइटिस विकसित करते हैं और पीने से नहीं रोकते हैं तो कोई भी चिकित्सा या शल्य चिकित्सा उपचार जिगर की विफलता को रोक सकता है।

वापसी के लक्षण
यदि आप शराब नहीं पीते हैं तो आपको वापसी के लक्षण मिल सकते हैं। ये पहले ४८ घंटे के लिए अपने सबसे खराब पर होगा, लेकिन जैसा कि आपके शरीर शराब के बिना जीवन के लिए समायोजित कर देता है, वे सुधार करना चाहिए । यह कहीं भी 3 से 7 दिनों के आधार पर ले जा सकते है जब आप पिछले पिया ।

जब लोग पीना बंद कर देते हैं तो अक्सर उन्हें पहले सोने में परेशानी होती है, लेकिन उनकी नींद के पैटर्न आमतौर पर एक महीने के बाद सामान्य हो जाते हैं। कुछ परिस्थितियों में, आपको सलाह दी जा सकती है कि आप धीरे-धीरे अपने अल्कोहल के उपयोग को कम करें ताकि वापसी के लक्षणों से बचा जा सके।

निकासी चरण के माध्यम से आपकी मदद करने के लिए, आपको संज्ञानात्मक व्यवहार चिकित्सा (सीबीटी) जैसे बेंजोडाइज़ेपाइन दवा और मनोवैज्ञानिक परामर्श दिया जा सकता है।

प्रारंभिक निकासी चरणों के दौरान, कुछ रोगियों को अस्पताल या विशेषज्ञ पुनर्वास केंद्र में रहने की आवश्यकता होती है ताकि उनकी प्रगति पर लगातार नजर रखी जा सके।

यदि आप घर पर रहते हैं, तो आप एक नियमित आधार पर एक नर्स या किसी अंय स्वास्थ्य पेशेवर देखेंगे । आप उन्हें घर पर, अपने डॉक्टर के कार्यालय में, या एक विशेषज्ञ एनएचएस सेवा में देख सकते हैं ।

आहार और पोषण
कुपोषण एकएफएलडी के साथ लोगों में आमहै, इसलिए एक अच्छी तरह से संतुलित आहार खाने के पोषक तत्वों आप की आवश्यकता के सभी प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण है ।

नमकीन खाद्य पदार्थों से बचना और अपने आहार में नमक नहीं जोड़ना आपके पैरों, पैरों और पेट में तरल पदार्थ से संबंधित एडोएमा का अनुभव करने की संभावना को कम करेगा। आपका जिगर भी ग्लाइकोजन, एक कार्बोहाइड्रेट है कि अल्पकालिक ऊर्जा प्रदान करता है बनाए रखने में असमर्थ हो सकता है, नुकसान का एक परिणाम के रूप में ।

यह मांसपेशियों की शोष और कमजोर होने का कारण बनता है क्योंकि शरीर भोजन के बीच ऊर्जा प्रदान करने के लिए अपनी मांसपेशियों के ऊतकों का उपयोग करता है। यह इंगित करता है कि आपको अपने आहार में अतिरिक्त ऊर्जा और प्रोटीन की आवश्यकता हो सकती है।

स्वस्थ स्नैकिंग आपको भोजन के बीच में अधिक कैलोरी और प्रोटीन प्राप्त करने में मदद कर सकता है। एक-दो बड़े लोगों के बजाय दिन में तीन या चार मामूली भोजन खाना भी फायदेमंद हो सकता है। आपका डॉक्टर आपको एक स्वस्थ आहार चुनने में मदद कर सकता है या, कुछ स्थितियों में, आपको एक विशेषज्ञ को सलाह देता है।

शराब के कारण जिगर की बीमारी को रोकना

ए एफ एल डी से बचने के लिए सबसे प्रभावी रणनीति के लिए शराब पीने बंद या सुझाव सीमा से चिपके रहते हैं: पुरुषों और महिलाओं को एक नियमित आधार पर प्रति सप्ताह 14 इकाइयों से अधिक नहीं पीना चाहिए, और अगर वे करते हैं, वे तीन दिनों या उससे अधिक भर में अपने पीने का प्रसार करना चाहिए ।
शराब की एक इकाई लगभग आधा नियमित रूप से लूजर या आत्माओं के एक पब उपाय (25ml)का एक पिंट है । यहां तक कि अगर आप एक लंबे समय के लिए एक भारी पीने गया है, वापस काटने या रोकने के अपने जिगर और सामांय स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण कम और दीर्घकालिक स्वास्थ्य लाभ होगा ।

अस्वस्थ जीवन शैली जिगर की बीमारी से कैसे संबंधित है ?

शहरीकरण के परिणामस्वरूप फैटी लिवर रोग अधिक आम होता जा रहाहै । सीगतिहीन जीवन शैली, वसायुक्त खाद्य पदार्थ, अनियंत्रित रक्त शर्करा, मोटापा, धूम्रपान, और अत्यधिक शराब के सेवन से जुड़े हैंंग लोगों को जिगर की बीमारियों का खतरा बना रहे हैं। अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त होने के कारण स्वास्थ्य परिणाम होते हैं जो आपके शारीरिक, सामाजिक और भावनात्मक कल्याण को प्रभावित कर सकते हैं। एन ए एफ एल डी NAFLD से बचने का सबसे आसान तरीका यह है कि एक अच्छी तरह से संतुलित आहार बनाए रखकर और सक्रिय रहने के द्वारा एक स्वस्थ वजन बनाए रखें।

कितनी अच्छी तरह से संतुलित आहार लीवर के स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है?

आहार निर्विवाद रूप से मानव स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा (मैक्रोन्यूट्रिएंट्स), साथ ही विटामिन और खनिजों की सही मात्रा के साथ एक संतुलित आहार, सुरक्षित और पौष्टिक (सूक्ष्म पोषक तत्व) माना जाता है। विशेषज्ञों का मानना हैकि एक अस्वस्थ और असंतुलित आहार एक फैटी जिगर के निर्माण के लिए नेतृत्व करेंगे, अस्वस्थ खाने की आदतों को देने से रोग रिवर्स मदद कर सकते हैं ।

स्वस्थ आहार, स्वस्थ जिगर

हमारे शरीर में कोशिकाओं को ठीक से काम करने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती है और यह ऊर्जा हमारे भोजन में ग्लूकोज से आती है। हमारे आहार में कार्बोहाइड्रेट इस मेटाबॉलिक ईंधन, ग्लूकोज का प्राथमिक स्रोत हैं। एक उच्च कार्बोहाइड्रेट आहार के कारण इसे ग्लाइकोजन में परिवर्तित किया जाता है, जिसे फिर आंत वसा के रूप में संग्रहीत किया जाता है।
प्रोटीन वे घटक हैं जो हमारी हड्डियों और मांसपेशियों को बनाते हैं। प्रोटीन को मांसपेशियों के निर्माण में उपयोग करने के बजाय ग्लूकोज में परिवर्तित किया जाता है जब आप एक गतिहीन जीवन शैली जीते हैं। यह सुनिश्चित करता है कि आहार में कार्बोहाइड्रेट न होने पर भी शरीर में ग्लूकोज का उत्पादन होता है। इसके अलावा, जब किसी व्यक्ति का आहार कार्बोहाइड्रेट में कम होता है, तो शरीर शरीर में निहित ग्लाइकोजन भंडार का उपयोग करना शुरू कर देता है, स्वचालित रूप से मोटापे को पीछे कर देता है, और आंत की चर्बी को पिघलाता है। एक फैटी जिगर की बीमारी रिवर्स करने के लिए, कार्बोहाइड्रेट पर वापस कटौती और सभी शर्करा को खत्म तो आहार प्रोटीन की कमी नहीं हो सकता है (मांसपेशियों के टूटने का परिणाम हो सकता है) ।

आहार विशेषज्ञों और पोषण विशेषज्ञों ने बीफ, अंडे, दालें, सोयाबीन और पनीर जैसे उच्च प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थों को हरी बत्ती प्रदान की है। कच्ची सब्जियों और फलों की डाइट में विटामिन और मिनरल्स होते हैं। नतीजतन, एक संतुलित आहार में सलाद, सब्जियां और रस बहुत शामिल होने चाहिए। दूसरी ओर, भोजन का थोक फाइबर से आना चाहिए। फाइबर की कमी आंतों की परत को नुकसान पहुंचाती है, जो बदले में लिवर को नुकसान पहुंचाती है।

अंत में, एक जिगर-स्वस्थ आहार कार्बोहाइड्रेट में कम होना चाहिए, वसा में मध्यम, और प्रोटीन में उच्च, फल और सब्जियों के बहुत सारे के साथ। इससे न केवल स्वस्थ लिवर बरकरार रहेगा, बल्कि यह व्यक्ति को बेहतरीन स्वास्थ्य में भी रखेगा।

Healthy Diet healthy life

निष्कर्ष

परीक्षण में सभी आयु समूहों में फैटी लीवर पाया जाता है। मादक और गैर-मादक वसायुक्त यकृत रोग वाले वयस्कों में इसके विकसित होने की सबसे अधिक संभावना होती है। मैक्रोवेस्कुलर स्टीटोसिस सबसे प्रचलित पैटर्न है। जैसे-जैसे स्थिति विकसित होती है, फाइब्रोसिस बिगड़ जाता है और सिरोसिस विकसित हो सकता है। इन विकारों की रोग संबंधी विशेषताएं अक्सर ओवरलैप होती हैं, जिससे उनकी पहचान करने के लिए ऊतक विज्ञान अपर्याप्त हो जाता है; फिर भी, इतिहास और अन्य खोजी निष्कर्ष निदान में सहायता कर सकते हैं। अन्य दवाएं, साथ ही कुछ चयापचय रोग, फैटी लीवर रोग का कारण बन सकते हैं। गर्भावस्था के दौरान तीव्र वसायुक्त यकृत और विभिन्न दवा दुष्प्रभावों सहित विभिन्न स्थितियों में माइक्रोवेस्कुलर स्टीटोसिस का पता लगाया जा सकता है।

फैटी लीवर अपने आप में मौत का पर्याप्त कारण नहीं है। जब तक शराब के उपयोग का एक सिद्ध इतिहास न हो, शव परीक्षण में फैटी लीवर की उपस्थिति को शराब से संबंधित नहीं माना जाना चाहिए। फैटी लीवर एक अंतर्निहित समस्या का एक लक्षण है जिससे मृत्यु दर हो सकती है। यदि फैटी लीवर रोग मौजूद है, तो मृत्यु के अंतर्निहित कारण, जैसे अल्कोहलिक या डायबिटिक कीटोएसिडोसिस, की खोज शुरू की जानी चाहिए। जबकि वसायुक्त यकृत रोग को मृत्यु के कारण के रूप में पूछताछ की गई है, अब कुछ सबूत हैं जो मादक और गैर-मादक वसायुक्त यकृत रोग को कार्डियक अतालता से जोड़ते हैं और इसलिए अचानक मृत्यु हो जाती है।

संबंधित विषय:

1. स्व-देखभाल और स्व-देखभाल का महत्व क्या है

सेल्फ-केयर का मतलब है ऐसी गतिविधियाँ करना जो हमें अच्छा महसूस कराती हैं और तनाव मुक्त करती हैं। अन्य दिन-प्रतिदिन के क्रियाकलापों के साथ-साथ आत्म-देखभाल शरीर के साथ-साथ आत्मा के लिए भी महत्वपूर्ण है। अधिक यात्रा जानने के लिए: आत्म-देखभाल का आत्म-देखभाल और महत्व क्या है।

2. स्वयं की देखभाल के लिए योग

योग आत्म-देखभाल के सबसे आवश्यक डेटासेट में से एक है। यह आपको अपने बारे में अच्छा महसूस कराता है और आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। अधिक यात्रा जानने के लिए: स्वयं की देखभाल के लिए योग

3. स्व-देखभाल के लाभ

आत्म देखभाल के कई लाभ हैं जैसे कि बेहतर उत्पादकता, बेहतर प्रतिरक्षा प्रणाली, बढ़ा हुआ आत्म-ज्ञान और आत्म-करुणा। मुख्य लाभ यह है कि यह आपके जीवन में खुशी लाता है। अधिक यात्रा जानने के लिए: स्व-देखभाल के लाभ

4. सेल्फ-केयर रूटीन कैसे शुरू करें

चूंकि कई लोगों को एक स्व-देखभाल दिनचर्या शुरू करने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है, इसलिए बेहतर होगा कि आप अपनी दिनचर्या में ध्यान, योग या एक्सर्साइज़ जैसी छोटी आत्म-देखभाल प्रथाओं को शामिल करें। अधिक यात्रा जानने के लिए: Hसेल्फ-केयर रूटीन कैसे शुरू करें

5. तनाव को कैसे प्रबंधित करें

स्व-देखभाल एक महत्वपूर्ण उपकरण है जो हमें स्वस्थ और खुश महसूस करने में मदद करता है और सबसे तनावपूर्ण परिस्थितियों में भी तनाव को कम करता है। स्व-देखभाल से शरीर और आत्मा को आराम मिलता है क्योंकि यह नकारात्मक भावनाओं और चिंता को कम करता है। अधिक जानकारी के लिए देखें: तनाव को कैसे प्रबंधित करें




उपर ब्लॉग में बताई गई उपलब्धिया AFD-SHIELD के साथ उपलब्ध हैं
एएफडी शील्ड कैप्सूल 12 प्राकृतिक अवयवों का एक संयोजन है जिनमें से अलगल डीएचए, अश्वगंधा, करक्यूमिन और स्पिरुलिना हैं। एएफडी शील्ड टीजी को कम करता है, एचडीएल बढ़ाता है और उम्र से संबंधित संज्ञानात्मक गिरावट में सुधार करता है। यह तनाव और चिंता को भी कम करता है और एंटी-एजिंग गतिविधि करता है। इसके अलावा, यह इम्युनोमॉड्यूलेटरी गतिविधि को बढ़ाता है, प्रतिरक्षा में सुधार करता है और सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है। न्यूट्रोग्लिग्क्स: एएफडी-शील्ड

AFDIL Ltd.
+91 9920121021

order@afdil.com

Read Also:


Disclaimer
Home