Do Liver Supplements Have Any Side Effects

What are liver supplements?

Your liver is one of your largest and most important organs.
In addition to storing and releasing energy from foods, it acts as your body’s natural filter. Your liver catches the “gunk” in your blood, removing toxins and wastes from your system.
Given how important this organ is to your health, it’s no surprise that supplement manufacturers have jumped on the liver detox bandwagon.
Dozens of products with names like “Liver Guard,” “Liver Rescue,” and “Liver Detox” claim they can get your liver in top shape — and help you feel better in the process.
Do liver supplements really work? And does the organ that detoxifies your body really need its own detox?
In reality, many of the claims on liver supplement bottles or liver supplements tablets don’t stand up to the research. Although some studies have found benefits from certain supplement ingredients — like milk thistle and artichoke leaf — they were mainly in people with liver disease.
Whether these liver supplements tablets or product can improve liver function in otherwise healthy people has yet to be proven.

Side effects of liver supplementation

What are the claims?

liver supplements tablets product labels claim their products will “detoxify,” “regenerate,” and “rescue” your liver.But do liver supplement really work ? They purport to undo the damaging effects of alcohol, fat, sugar, and all the other toxins your liver’s been forced to process over the years — or after a weekend binge.
Liver supplement websites claim their products:
• promote liver function and health
• protect liver cells from damage
• stimulate the growth of new liver cells
• detoxify the liver
• improve blood flow from the liver
Manufacturers of these natural remedies promise that their liver supplements tablets or pills will regenerate your liver and restore it to its peak function. They also claim their products will give you more energy, strengthen your immune system, help you lose weight, and even improve your mood.

How the liver works


Weighing in at about 3 pounds, the liver has a lot of important jobs. Your liver eventually processes everything you eat. After your stomach and intestines finish digesting food, it travels through your bloodstream to your liver for filtering. The liver breaks down fat to release energy. It produces a yellow-green substance called bile to help your body break down and absorb fat. This organ is also involved in sugar metabolism. It pulls glucose from your blood and stores it in the form of glycogen. Anytime your blood sugar level dips, the liver releases glycogen to keep your levels steady. When alcohol, medications, and other toxins make their way to your liver, they’re pulled from your blood. Then your liver either cleans up these substances, or removes them into your urine or stool.

Popular supplement ingredients

Many of the liver supplements tablet product on the market contain a combination of three herbal ingredients:

• milk thistle
• artichoke leaf
• dandelion root Let’s break down each ingredient by the research.

Milk thistle
Milk thistle (Silybum marianum) is a perennial herb believed to have medicinal properties. The seeds contain silymarin, a group of compounds said to have antioxidant and anti-inflammatory effects. Milk thistle is commonly used as a home remedy to treat liver problems, often under the presumption that it will "detoxify" the liver.
Milk thistle is most often used for liver conditions, such as hepatitis and cirrhosis, the herb is believed some to prevent or treat high cholesterol, diabetes, heartburn, upset stomach (dyspepsia), hangover, gallbladder problems, menstrual pain, depression, and even certain types of cancer.
Milk thistle has been used to treat liver disorders for more than 2,000 years. It’s the herbal ingredient most often usedTrusted Source for liver complaints in the United States.
The active substance in milk thistle is silymarin, which is made up of several natural plant chemicals.
Lab studiesTrusted Source suggest that silymarin helps regenerate liver tissue, bring down inflammation, and protect liver cells from damage by acting as an antioxidant. Human studies have been mixedTrusted Source on its benefits, though.
One study looked at children who were being treated with chemotherapy for leukemia. After 28 days, kids who received milk thistle supplements had slightly fewer signs of damage to their liver.
Many of the studies on silymarin have involved people with cirrhosis, hepatitis B, or hepatitis C.
A Cochrane reviewTrusted Source evaluated 18 milk thistle studies including people with these conditions. The supplement didn’t have much effect on liver disease complications or deaths compared to placebo (inactive) treatment. Many of the studies included in the review were of poor quality.
Several smaller studies have suggested that milk thistle may benefit people with mild, subacute (symptom-free) liver disease. An early study from Finland found that a four-week course of silymarin supplements lowered key liver enzymes in people with subacute disease, suggesting the liver was functioning more normally.
A 2017 analysis of studiesTrusted Source found that silymarin slightly reduced certain liver enzymes, markers of liver damage, in people with liver disease. More research is still needed to know how well milk thistle might work.
Milk thistle seems to be safeTrusted Source. Yet, some people have reported GI symptoms or allergic reactions after taking it.
Because this supplement can lower blood sugar levels, people with diabetes should check with their doctor before taking it.
Milk thistle may trigger certain side effects, including headache, nausea, diarrhea, abdominal bloating, and gas. Less commonly, muscle aches, joint pain, and sexual dysfunction have been reported.


Artichoke leaf
This plant originated in the Mediterranean and has been used for centuries for its potential medicinal properties.
Its alleged health benefits include lower blood sugar levels and improved digestion, heart health, and liver health.
Artichoke leaf extract may protect your liver from damage and promote the growth of new tissue.
It also increases the production of bile, which helps remove harmful toxins from your liver. In one study, artichoke extract given to rats resulted in less liver damage, higher antioxidant levels, and better liver function after an induced drug overdose, compared to rats not given artichoke extract.
Studies in humans also show positive effects on liver health. For example, one trial in 90 people with non-alcoholic fatty liver disease revealed that consuming 600 mg of artichoke extract daily for two months led to improved liver function
Artichoke leaf has antioxidant properties. Studies suggestTrusted Source that it may protect the liver. Research done in animalsTrusted Source shows it may help liver cells regenerate.
In studies done in 2016Trusted Source and 2018Trusted Source of people with nonalcoholic fatty liver disease, artichoke leaf reduced markers of liver damage compared with placebo. However, the clinical benefits of artichoke leaf supplementation remain to be seen.


Dandelion root
Dandelion root has long been held as a “liver tonic” in folk medicine. Preliminary studies suggest this is due, in part, to its ability to increase the flow of bile.
Naturopaths believe it means that dandelion root tea could help detoxify the liver, help with skin and eye problems, and relieve symptoms of liver disease. A 2017 study suggests that polysaccharides in dandelion may indeed be beneficial to liver function.
The polysaccharides in dandelion are known to reduce stress on the liver and support its ability to produce bile. They also help your liver filter potentially harmful chemicals out of your food. Dandelion is also a good source of Vitamin C, one of the most helpful vitamins for the immune system.

Though dandelion has been used to treat liver ailments, the evidence of its benefits is scarceTrusted Source. Much more research is needed to determine whether it’s safe and effective for this purpose.


Other ingredients
In addition to milk thistle, artichoke, and dandelion, liver supplement product differentiate themselves by adding a blend of other ingredients. This can include things like:

• wild tam Mexican root
• yellow dock root extract
• hawthorn berry
• chanca piedra

How to keep your liver healthy


There isn’t enough evidence to confirm whether taking liver supplements tablets will detoxify or protect your liver. Yet a few lifestyle choices have been shown to improve liver health. Here are a few tips to keep your liver in optimal shape:

Certain foods also help to keep your liver healthy:

• Coffee
• Tea
• Grapefruit
• Blueberries and cranberries
• Grapes
• Beetroot juice

Limit the fat in your diet

Eating a diet heavy in fried foods, sweets, and fast foods leads to weight gain. Being obese or overweight increases the risk of nonalcoholic fatty liver disease. Keeping your diet healthy will result in a leaner, healthier liver.

Stay away from toxins
The chemicals in some insecticides, cleaning products, and aerosols can damage your liver as it processes them. If you have to use these products, make sure the room is well-ventilated. Don’t smoke. Smoking is harmful to the liver.

Use caution when drinking alcohol
Large quantities of beer, wine, or liquor damages liver cells and can lead to cirrhosis. Drink alcohol in moderation — no more than one to two glasses a day.

Avoid chronic use of drugs
Every drug you take has to be broken down and removed by your liver. Chronic use or misuse of drugs like steroids and inhalants can permanently damage this organ. Use of harmful or illicit drugs such as heroin can also damage the liver. They should be avoided..And also stay away from the supplements as there can be side effects of liver supplements .

Don’t mix alcohol and medication
Using alcohol and certain drugs together can worsen liver damage. Read the instructions carefully before you take any prescription medication. Avoid alcohol if the label says the combination is unsafe.And also stay away from the alcohol as there can be side effects of liver supplements .

What to do next

Liver supplement product make a lot of big claims. So far, research doesn’t support most of those claims. If you’re thinking about taking one of these products, check with your doctor first and ensure side effects of liver supplements to make sure it’s safe for you.

Myth #1: Liver cleanses are important for daily health maintenance and are especially helpful after you’ve overindulged.
Though liver cleanses are packaged to claim that they’re a cure-all for daily liver health and overindulgence, Johns Hopkins hepatologists do not recommend them. “Unfortunately, these products are not regulated by the FDA, and thus are not uniform and have not been adequately tested in clinical trials,” explains Woreta. While some common ingredients in liver cleanses have been shown to have positive results — milk thistle has been shown to decrease liver inflammation, and turmeric extract has been shown to protect against liver injury — there have not been adequate clinical trial data in humans to recommend the routine use of these natural compounds for prevention. As for overindulgence of alcohol or food, less is always best when it comes to liver health, and cleanses have not been proven to rid your body of damage from excess consumption.

Myth #2: Liver cleanses are a safe and healthy way to lose weight.
Many liver detoxification products are also sold as weight loss cleanses. However, there are no clinical data to support the efficacy of these cleanses. In fact, some dietary supplements can actually cause harm to the liver by leading to drug-induced injury and should thus be used with caution.

Myth #3: You cannot protect yourself against liver disease.
“Contrary to this myth, there are many preventive steps you can take to protect yourself against liver disease,” says Woreta. The following measures are recommended:
• Do not drink alcohol in excess. On a routine basis, men should not consume more than three drinks per day, and women should not consume more than two drinks per day to prevent the development of alcoholic liver disease.
• Avoid weight gain. Maintain your body mass index in the normal range (18 to 25) by eating healthy and exercising on a regular basis to decrease your risk of developing nonalcoholic fatty liver disease.
• Beware engaging in risky behaviors. To avoid the risk of acquiring viral hepatitis, do not engage in behaviors such as illicit drug use or having unprotected sex with multiple partners.
• Know your risk factors. If you have the following risk factors for liver disease, it’s important to go for screening, as chronic liver disease can be silent for years and go unrecognized:
o Excessive alcohol use
o Family history of liver disease
If you have the following risk factors for hepatitis C, it is important to speak with your physician about screening, as nearly 50 percent of patients do not know they're infected:
o Anyone who received a blood transfusion prior to 1992
o Current or former illicit drug use
o Patients on hemodialysis
o Patients with HIV
o Health care workers who have been stuck by needles with hepatitis C-infected blood
o Anyone with a history of tattoos inked in an unregulated setting

Myth #4: Liver cleanses can correct existing liver damage.
“Liver cleanses have not been proven to treat existing liver damage,” says Woreta, “but there are many other forms of treatment available for those who are affected.” Here are a few types of liver disease and their available treatment options:
• Hepatitis A and B. You should be vaccinated against hepatitis A and B if you are not immune or have any other underlying liver disease. Highly effective oral medications for patients with chronic hepatitis B infection are available as well.
• Alcoholic liver disease. All alcohol consumption should cease in order to allow the liver the best chance for recovery. The liver has an amazing ability to regenerate and heal once active injury has been stopped.
• Hepatitis C. Highly effective, well-tolerated oral medications now exist to treat hepatitis C.
• Nonalcoholic fatty liver disease. The most effective treatment for nonalcoholic fatty liver disease is weight loss, which has been shown to decrease the amount of fat in the liver and the inflammation caused by the fat.

Related topics:

1. Know more about your liver health Sign and-symptoms-of-liver-disease

2. How beneficial or harmful are liver supplements Do liver-supplements-have-any-side-effects

3. Ways in which turmeric can be more beneficial Benefits of-having-turmeric




The above essentials are available with AFD SHIELD

Livocumin is the combination of natural ingredients like Curcumin, Ardraka (Ginger), Katuka, Yavakshara, Chitraka, March (Black pepper), Sarjikakshara, Amlakai (Amla), Chuna, Haritaki in the management of NAFLD (Non Alcoholic Fatty Liver Disease), Infective Hepatitis, Gall Stones, Jaundice & Indigestion. Nutralogicx: Livocumin

क्या लीवर की खुराक का कोई साइड इफेक्ट है

जिगर की खुराक क्या हैं?

आपका जिगर आपके सबसे बड़े और सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है।
खाद्य पदार्थों से ऊर्जा का भंडारण और विमोचन करने के अलावा, यह आपके शरीर के प्राकृतिक फिल्टर के रूप में काम करता है। आपका यकृत आपके सिस्टम से विषाक्त पदार्थों और कचरे को हटाकर, आपके रक्त में "गंक" को पकड़ता है।
यह देखते हुए कि यह अंग आपके स्वास्थ्य के लिए कितना महत्वपूर्ण है, यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि पूरक निर्माता लीवर डिटॉक्स बैंडवागन पर कूद गए हैं।
"लिवर गार्ड," "लिवर बचाव," और "लिवर डिटॉक्स" जैसे नामों के दर्जनों उत्पाद दावा करते हैं कि वे आपके जिगर को शीर्ष आकार में प्राप्त कर सकते हैं - और आपको इस प्रक्रिया में बेहतर महसूस करने में मदद करते हैं।
क्या लीवर की खुराक वाकई काम करती है? और क्या वह अंग जो आपके शरीर को डिटॉक्स करता है वास्तव में उसे अपने डिटॉक्स की आवश्यकता होती है?
वास्तव में, यकृत पूरक बोतलों पर किए गए कई दावे अनुसंधान के लिए खड़े नहीं होते हैं। हालांकि कुछ अध्ययनों से कुछ पूरक सामग्री से लाभ मिला है - जैसे दूध थीस्ल और आटिचोक पत्ती - वे मुख्य रूप से जिगर की बीमारी वाले लोगों में थे।
क्या ये लीवर सप्लीमेंट प्रोडक्ट लिवर फंक्शन को बेहतर बना सकते हैं अन्यथा स्वस्थ लोगों के लिए अभी तक साबित नहीं हुआ है।

जिगर पूरकता के साइड इफेक्ट

दावे क्या हैं ?

लिवर सप्लीमेंट उत्पाद लेबल दावा करते हैं कि उनके उत्पाद "डिटॉक्सिफाई", "पुनर्जीवित," और "बचाव" आपके लिवर को करेंगे। लेकिन क्या लिवर सप्लीमेंट वास्तव में काम करते हैं? वे अल्कोहल, वसा, चीनी और अन्य सभी विषाक्त पदार्थों के हानिकारक प्रभावों को पूर्ववत करने के लिए रखते हैं, जो आपके जिगर को वर्षों से संसाधित करने के लिए मजबूर किया गया है - या एक सप्ताहांत द्वि घातुमान के बाद।
लिवर पूरक वेबसाइटों के लिए अपने उत्पादों का दावा है:
• जिगर समारोह और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने
• क्षति से बचाने के जिगर की कोशिकाओं
• को प्रोत्साहित नया जिगर की कोशिकाओं के विकास
• जिगर detoxify
• जिगर से रक्त प्रवाह में सुधार
इन प्राकृतिक उपचारों के निर्माता वादा करते हैं कि उनका लीवर सप्लीमेंट उत्पाद आपके लीवर को पुनर्जीवित करेगा और इसे अपने चरम कार्य में पुनर्स्थापित करेगा। वे यह भी दावा करते हैं कि उनके उत्पाद आपको अधिक ऊर्जा देंगे, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करेंगे, वजन कम करने में मदद करेंगे और यहां तक ​​कि आपके मूड को भी बेहतर बनाएंगे।

लीवर कैसे काम करता है


लगभग 3 पाउंड वजन के साथ, जिगर में बहुत सारे महत्वपूर्ण काम हैं। आपका जिगर अंततः आपके द्वारा खाए जाने वाले सभी चीजों को संसाधित करता है। आपके पेट और आंतों के भोजन को पचाने के बाद, यह छानने के लिए आपके रक्तप्रवाह से आपके जिगर तक जाता है। ऊर्जा छोड़ने के लिए लीवर वसा को तोड़ता है। यह आपके शरीर को वसा को तोड़ने और अवशोषित करने में मदद करने के लिए पित्त नामक एक पीले-हरे पदार्थ का उत्पादन करता है। यह अंग भी चीनी चयापचय में शामिल है। यह आपके रक्त से ग्लूकोज खींचता है और इसे ग्लाइकोजन के रूप में संग्रहीत करता है। कभी भी आपका ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है, लिवर आपके स्तर को स्थिर रखने के लिए ग्लाइकोजन जारी करता है। जब शराब, दवाएं और अन्य विषाक्त पदार्थ आपके जिगर में अपना रास्ता बनाते हैं, तो वे आपके खून से खींचे जाते हैं। तब आपका जिगर या तो इन पदार्थों को साफ करता है, या उन्हें आपके मूत्र या मल में निकाल देता है।

लोकप्रिय पूरक सामग्री

बाजार में लीवर पूरक उत्पाद के कई में तीन हर्बल अवयवों का एक संयोजन होता है:

• दूध थीस्ल
• आर्टिचोक लीफ
• डंडेलियन रूट आइए अनुसंधान द्वारा प्रत्येक घटक को तोड़ते हैं।

दूध थीस्ल
दूध थीस्ल (सिलिबम मेरियनम) एक बारहमासी जड़ी बूटी है जिसमें औषधीय गुण पाए जाते हैं। बीज में सिलीमारिन होता है, यौगिकों के एक समूह में कहा जाता है कि इसमें एंटीऑक्सिडेंट और विरोधी भड़काऊ प्रभाव हैं। दूध थीस्ल आमतौर पर जिगर की समस्याओं के इलाज के लिए एक घरेलू उपचार के रूप में प्रयोग किया जाता है, अक्सर इस अनुमान के तहत कि यह जिगर को "detoxify" करेगा।
दूध की थैली का उपयोग अक्सर लीवर की स्थिति के लिए किया जाता है, जैसे कि हेपेटाइटिस और सिरोसिस, जड़ी बूटी को उच्च कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह, नाराज़गी, पेट खराब (अपच), हैंगओवर, पित्ताशय की समस्याओं, मासिक धर्म के दर्द, अवसाद, और यहां तक ​​कि रोकने या इलाज के लिए माना जाता है। कुछ प्रकार के कैंसर।
दूध थीस्ल का उपयोग 2,000 से अधिक वर्षों के लिए यकृत विकारों के इलाज के लिए किया गया है। यह संयुक्त राज्य में जिगर की शिकायतों के लिए सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला हर्बल घटक है।
दूध थीस्ल में सक्रिय पदार्थ सिलीमारिन है, जो कई प्राकृतिक पौधों के रसायनों से बना है।
लैब के अध्ययन में दिए गए स्रोत का सुझाव है कि सिलीमारिन जिगर के ऊतकों को पुनर्जीवित करने, सूजन को कम करने और एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करके क्षति से जिगर की कोशिकाओं की रक्षा करने में मदद करता है। मानव अध्ययन को इसके लाभों पर मिश्रित स्रोत प्रदान किया गया है, हालांकि।
एक अध्ययन ने उन बच्चों को देखा जो ल्यूकेमिया के लिए कीमोथेरेपी के साथ इलाज कर रहे थे। 28 दिनों के बाद, जिन बच्चों को दूध की थैली की खुराक मिली, उनके जिगर को नुकसान होने के संकेत बहुत कम थे।
सिलीमारिन पर किए गए कई अध्ययनों में सिरोसिस, हेपेटाइटिस बी या हेपेटाइटिस सी से पीड़ित लोगों को शामिल किया गया है।
कोक्रेन की समीक्षा की गई स्रोत ने इन स्थितियों वाले लोगों सहित 18 दूध थीस्ल अध्ययनों का मूल्यांकन किया। प्लेसबो (निष्क्रिय) उपचार की तुलना में पूरक का यकृत रोग की जटिलताओं या मौतों पर अधिक प्रभाव नहीं था। समीक्षा में शामिल कई अध्ययन खराब गुणवत्ता के थे।
कई छोटे अध्ययनों ने सुझाव दिया है कि दूध थीस्ल हल्के, सबस्यूट (लक्षण-मुक्त) यकृत रोग वाले लोगों को लाभान्वित कर सकता है। फ़िनलैंड के एक शुरुआती अध्ययन में पाया गया कि सिलिमरीन सप्लीमेंट के चार सप्ताह के कोर्स ने सबस्यूट बीमारी वाले लोगों में प्रमुख यकृत एंजाइम को कम कर दिया, यह सुझाव देते हुए कि यकृत सामान्य रूप से काम कर रहा था।
2017 के एक अध्ययन के विश्लेषण से पता चला कि स्रोत से पता चला है कि लिवर की बीमारी के लोगों में सिलीमारिन कुछ यकृत एंजाइमों, यकृत की क्षति के मार्करों को थोड़ा कम करता है। यह जानने के लिए अभी और शोध की आवश्यकता है कि दूध का थिसल कितनी अच्छी तरह काम कर सकता है। दूध थीस्ल को सुरक्षित स्रोत माना जाता है। फिर भी, कुछ लोगों ने इसे लेने के बाद जीआई के लक्षण या एलर्जी की सूचना दी है।
क्योंकि यह पूरक रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है, मधुमेह वाले लोगों को इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से जांच करनी चाहिए।
दूध थीस्ल कुछ साइड इफेक्ट्स को ट्रिगर कर सकता है, जिसमें सिरदर्द, मतली, दस्त, पेट फूलना और गैस शामिल हैं। कम सामान्यतः, मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों में दर्द और यौन रोग की सूचना मिली है।


आटिचोक का पत्ता
यह पौधा भूमध्यसागर में उत्पन्न हुआ और इसका उपयोग इसके संभावित औषधीय गुणों के लिए सदियों से किया जाता रहा है।
इसके कथित स्वास्थ्य लाभों में निम्न रक्त शर्करा का स्तर और बेहतर पाचन, हृदय स्वास्थ्य और यकृत स्वास्थ्य शामिल हैं।
आर्टिचोक लीफ एक्सट्रेक्ट आपके लिवर को नुकसान से बचा सकता है और नए टिशू की ग्रोथ को बढ़ावा दे सकता है।
यह पित्त के उत्पादन को भी बढ़ाता है, जो आपके जिगर से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद करता है। एक अध्ययन में, चूहों को दी गई आटिचोक अर्क के परिणामस्वरूप कम दवा क्षति, उच्च एंटीऑक्सीडेंट स्तर और एक प्रेरित दवा की अधिकता के बाद बेहतर यकृत कार्य के परिणामस्वरूप चूहों की तुलना में आटिचोक अर्क नहीं दिया गया।
मनुष्यों में अध्ययन भी यकृत स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव दिखाते हैं। उदाहरण के लिए, गैर-अल्कोहल फैटी लीवर रोग वाले 90 लोगों में एक परीक्षण से पता चला है कि दो महीने तक रोजाना 600 मिलीग्राम आर्टिचोक अर्क का सेवन करने से लिवर की कार्यक्षमता में सुधार होता है
। अध्ययन ने सुझाव दिया कि यह जिगर की रक्षा कर सकता है। पशुओं में किए गए शोध से पता चलता है कि यह यकृत कोशिकाओं को पुनर्जीवित करने में मदद कर सकता है।
2016Trusted Source और 2018Trusted नॉनवॉल्सिक फैटी लीवर डिजीज वाले लोगों के स्रोत में किए गए अध्ययनों में, आर्टिचोक लीफ ने प्लेसबो की तुलना में लीवर की क्षति के मार्करों को कम किया। हालांकि, आर्टिचोक लीफ सप्लीमेंट के नैदानिक ​​लाभ देखे जा सकते हैं।


सिंहपर्णी की जड़ें
डंडेलियन जड़ को लंबे समय तक "लीवर टॉनिक" के रूप में लोक चिकित्सा में रखा गया है। प्रारंभिक अध्ययन से पता चलता है कि यह आंशिक रूप से, पित्त के प्रवाह को बढ़ाने की क्षमता के कारण है।
प्राकृतिक चिकित्सकों का मानना ​​है कि इसका मतलब है कि सिंहपर्णी जड़ चाय जिगर को detoxify करने में मदद कर सकती है, त्वचा और आंखों की समस्याओं के साथ मदद कर सकती है और जिगर की बीमारी के लक्षणों से राहत दे सकती है। 2017 के एक अध्ययन से पता चलता है कि सिंहपर्णी में पॉलीसैकराइड वास्तव में यकृत के कार्य के लिए फायदेमंद हो सकता है।
सिंहपर्णी में पॉलीसेकेराइड जिगर पर तनाव को कम करने और पित्त के उत्पादन की क्षमता का समर्थन करने के लिए जाने जाते हैं। वे आपके भोजन से संभावित रूप से हानिकारक रसायनों को आपके लीवर फ़िल्टर को भी मदद करते हैं। Dandelion भी विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए सबसे उपयोगी विटामिन में से एक है।
हालांकि सिंहपर्णी का उपयोग लीवर की बीमारियों के इलाज के लिए किया गया है, लेकिन इसके लाभों का प्रमाण दुर्लभ स्रोत है। यह निर्धारित करने के लिए बहुत अधिक शोध की आवश्यकता है कि क्या यह इस उद्देश्य के लिए सुरक्षित और प्रभावी है।


अन्य सामग्री दूध थीस्ल, आटिचोक और सिंहपर्णी के अलावा, जिगर के पूरक उत्पाद अन्य अवयवों के मिश्रण को जोड़कर खुद को अलग करते हैं। : यह शामिल हो सकते हैं
जंगली ताम मैक्सिकन जड़ •
• पीला गोदी जड़ निकालने
• वन-संजली बेर
• Chanca पिएद्र

अपने लिवर को कैसे स्वस्थ रखें


इस बात की पुष्टि करने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं कि क्या सप्लीमेंट लेना आपके लिवर को डिटॉक्सीफाई या सुरक्षित करेगा। यकृत के स्वास्थ्य में सुधार के लिए अभी तक कुछ जीवनशैली विकल्प दिखाए गए हैं। यहाँ अपने जिगर को इष्टतम आकार में रखने के लिए कुछ सुझाव दिए गए हैं:

कुछ खाद्य पदार्थ भी आपके जिगर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं:

• कॉफी
• चाय
• अंगूर
• ब्लूबेरी और क्रैनबेरी
• अंगूर
• चुकंदर का रस

अपने आहार में वसा को सीमित करें

तला हुआ भोजन, मिठाई, और फास्ट फूड में भारी भोजन खाने से वजन बढ़ता है। मोटे या अधिक वजन वाले होने के कारण गैर-फैटी लिवर की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। अपने आहार को स्वस्थ रखने के परिणामस्वरूप एक दुबला, स्वस्थ जिगर होगा।

विषाक्त पदार्थों से दूर रहें
कुछ कीटनाशकों, सफाई उत्पादों और एरोसोल में रसायन आपके जिगर को नुकसान पहुंचा सकते हैं क्योंकि यह उन्हें संसाधित करता है। यदि आपको इन उत्पादों का उपयोग करना है, तो सुनिश्चित करें कि कमरा अच्छी तरह हवादार है। धूम्रपान न करें। धूम्रपान लीवर के लिए हानिकारक है।

शराब पीते समय सावधानी बरतें
बड़ी मात्रा में बीयर, शराब या शराब जिगर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाती है और सिरोसिस का कारण बन सकती है। मॉडरेशन में शराब पीना - एक दिन में एक से दो गिलास से अधिक नहीं।

दवाओं के पुराने उपयोग से बचें
आपके द्वारा ली जाने वाली हर दवा को आपके लीवर द्वारा तोड़ दिया जाता है और हटा दिया जाता है। स्टेरॉयड और इनहेलेंट जैसी दवाओं का लगातार उपयोग या दुरुपयोग इस अंग को स्थायी रूप से नुकसान पहुंचा सकता है। हानिकारक या अवैध दवाओं जैसे हेरोइन का उपयोग भी जिगर को नुकसान पहुंचा सकता है। इनसे बचना चाहिए।

शराब और दवा
का मिश्रण न करें शराब और कुछ दवाओं का एक साथ उपयोग करने से जिगर की क्षति हो सकती है। कोई भी दवा लेने से पहले निर्देशों को ध्यान से पढ़ें। शराब से बचें अगर लेबल कहता है कि संयोजन असुरक्षित है।

आगे क्या करना है

लिवर सप्लीमेंट उत्पाद कई बड़े दावे करते हैं। अब तक, अनुसंधान उन दावों का समर्थन नहीं करता है। यदि आप इनमें से किसी एक उत्पाद को लेने के बारे में सोच रहे हैं, तो अपने डॉक्टर से जांच लें कि यह आपके लिए सुरक्षित है या नहीं।

मिथक # 1: जिगर की सफाई दैनिक स्वास्थ्य रखरखाव के लिए महत्वपूर्ण है और विशेष रूप से मदद करने के बाद आप overindulged है
हालांकि जिगर की सफाई यह दावा करने के लिए की जाती है कि वे एक इलाज हैं-सभी दैनिक यकृत स्वास्थ्य और अतिवृद्धि के लिए, जॉन्स हॉपकिन्स हेपेटोलॉजिस्ट उन्हें सलाह नहीं देते हैं। "दुर्भाग्य से, इन उत्पादों को एफडीए द्वारा विनियमित नहीं किया गया है, और इस तरह एकरूप नहीं है और नैदानिक ​​परीक्षणों में पर्याप्त रूप से परीक्षण नहीं किया गया है," वर्टेता बताते हैं। जबकि लीवर की सफाई में कुछ सामान्य सामग्रियों के सकारात्मक परिणाम दिखाई दिए हैं - दूध की थैली को जिगर की सूजन को कम करने के लिए दिखाया गया है, और हल्दी के अर्क को जिगर की चोट से बचाने के लिए दिखाया गया है - मनुष्यों में पर्याप्त नैदानिक ​​परीक्षण डेटा की सिफारिश नहीं की गई है रोकथाम के लिए इन प्राकृतिक यौगिकों का नियमित उपयोग। अल्कोहल या भोजन की अधिकता के कारण, लीवर के स्वास्थ्य के लिए कम हमेशा सबसे अच्छा होता है, और सफाई आपके शरीर को अतिरिक्त खपत से नुकसान से छुटकारा दिलाने के लिए साबित नहीं हुई है।

मिथक # 2: वजन कम करने के लिए लीवर की सफाई एक सुरक्षित और स्वस्थ तरीका है।
कई लीवर डिटॉक्सीफिकेशन प्रोडक्ट्स को वेट लॉस क्लीयर के रूप में भी बेचा जाता है। हालाँकि, इन क्लीनों की प्रभावकारिता का समर्थन करने के लिए कोई नैदानिक ​​डेटा नहीं हैं। वास्तव में, कुछ आहार पूरक वास्तव में दवा से प्रेरित चोट के कारण जिगर को नुकसान पहुंचा सकते हैं और इस प्रकार सावधानी के साथ उपयोग किया जाना चाहिए।

मिथक # 3 आप जिगर की बीमारी से अपनी रक्षा नहीं कर सकते।
"इस मिथक के विपरीत, लिवर की बीमारी से बचाव के लिए आप कई तरह के निवारक कदम उठा सकते हैं।" निम्नलिखित उपायों की सिफारिश की जाती है:
• अधिक मात्रा में शराब न पिएं। नियमित आधार पर, पुरुषों को प्रति दिन तीन से अधिक पेय का उपभोग नहीं करना चाहिए, और महिलाओं को शराबी जिगर की बीमारी के विकास को रोकने के लिए प्रति दिन दो से अधिक पेय का सेवन नहीं करना चाहिए।
• वजन बढ़ाने से बचें। अपने शरीर के द्रव्यमान सूचकांक को सामान्य श्रेणी (18 से 25) में स्वस्थ और नियमित रूप से व्यायाम करके, नॉनस्लेसिक फैटी लीवर रोग के विकास के जोखिम को कम करने के लिए बनाए रखें।
• जोखिम भरे व्यवहार में उलझने से बचें। वायरल हेपेटाइटिस प्राप्त करने के जोखिम से बचने के लिए, अवैध ड्रग के उपयोग या कई सहयोगियों के साथ असुरक्षित यौन संबंध बनाने जैसे व्यवहार में शामिल न हों।
• अपने जोखिम कारकों को जानें। यदि आपके पास यकृत रोग के लिए निम्नलिखित जोखिम कारक हैं, तो स्क्रीनिंग के लिए जाना महत्वपूर्ण है, क्योंकि पुरानी जिगर की बीमारी वर्षों तक चुप हो सकती है और बिना पहचाने जा सकती है:
ओ अत्यधिक शराब का उपयोग
ओ यकृत रोग के पारिवारिक इतिहास
यदि आपको हेपेटाइटिस सी के लिए निम्नलिखित जोखिम कारक हैं, तो स्क्रीनिंग के बारे में अपने चिकित्सक से बात करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि लगभग 50 प्रतिशत रोगियों को पता नहीं है कि वे संक्रमित हैं:
ओ पहले 1992 तक एक रक्ताधान
ओ वर्तमान या पूर्व अवैध नशीली दवाओं के उपयोग
ओ मरीजों हेमोडायलिसिस पर
ओ मरीजों एचआईवी के साथ
ओ स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता हैं जो हेपेटाइटिस सी संक्रमित रक्त के साथ सुई से अटक गया है
टैटू के इतिहास के साथ ओ किसी को भी एक अनियमित सेटिंग में करार

मिथक # 4: लीवर की सफाई मौजूदा लिवर की क्षति को ठीक कर सकती है।
वरेटा कहते हैं, "लिवर की सफाई मौजूदा लीवर की क्षति का इलाज करने के लिए साबित नहीं हुई है," लेकिन प्रभावित लोगों के लिए उपचार के कई अन्य रूप उपलब्ध हैं। " यहां कुछ प्रकार के यकृत रोग और उनके उपलब्ध उपचार विकल्प हैं:
• हेपेटाइटिस ए और बी आपको हेपेटाइटिस ए और बी के खिलाफ टीका लगाया जाना चाहिए यदि आप प्रतिरक्षा नहीं हैं या किसी अन्य अंतर्निहित जिगर की बीमारी है। क्रोनिक हेपेटाइटिस बी संक्रमण वाले रोगियों के लिए अत्यधिक प्रभावी मौखिक दवाएं भी उपलब्ध हैं।
• शराबी जिगर की बीमारी। सभी शराब की खपत को खत्म करने के लिए जिगर को ठीक करने का सबसे अच्छा मौका देने के लिए संघर्ष करना चाहिए। एक बार सक्रिय चोट लगने के बाद लीवर को पुन: उत्पन्न करने और चंगा करने की अद्भुत क्षमता होती है।
• हेपेटाइटिस सी। अत्यधिक प्रभावी, अच्छी तरह से सहन की जाने वाली मौखिक दवाएं अब हेपेटाइटिस सी का इलाज करने के लिए मौजूद हैं।
• गैर अल्कोहल वसा यकृत रोग। गैर-वसायुक्त वसायुक्त यकृत रोग के लिए सबसे प्रभावी उपचार वजन घटाने है, जो यकृत में वसा की मात्रा और वसा के कारण होने वाली सूजन को कम करने के लिए दिखाया गया है।

संबंधित विषय:

1. अपने जिगर के स्वास्थ्य के बारे में अधिक जानें

संकेत और लक्षण-जिगर की बीमारी

2. लिवर सप्लीमेंट कितने फायदेमंद या हानिकारक हैं

लिवर-सप्लीमेंट का कोई भी साइड-इफ़ेक्ट न करें

3. ऐसे तरीके जिनमें हल्दी अधिक फायदेमंद हो सकती है

हल्दी से होने वाले फायदे




उपर ब्लॉग में बताई गई उपलब्धिया AFD-SHIELD के साथ उपलब्ध हैं

नेवफ्लड (नॉन अल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज) के प्रबंधन में लिवोकेमिन प्राकृतिक तत्व जैसे कॉर्किमिन, अर्द्राका (अदरक), कतुका, यवक्षरा, चित्रका, मार्च (काली मिर्च), सरजीकाक्षरा, अमलाकाई (आंवला), चूना, हरीताकी का संयोजन है। संक्रामक हेपेटाइटिस, पित्त पथरी, पीलिया और अपच। Nutralogicx:लिवोकुमिन


AFDIL Ltd.
+91 9920121021

order@afdil.com

Read Also:


Disclaimer
Home